विशेष

फेंगशुई के अनुसार, ये है कछुआ रखने की सही दिशा, गलत दिशा में रखा तो हो सकता है नुकसान

कई जगह पर इस बात का उल्लेख किया जाता है की घर में कछुवा रखना काफी शुभ माना जाता है और आपको बता दें की हमारे हिन्दू धरण की मान्यताओं के अनुसार भगवान विष्णु का एक रूप कछुआ का भी था। बता दें की भगवान विष्णु ने कछुए का रूप धारण कर समुद्र मंथन के समय मंद्रांचल पर्वत को अपने कवच पर थामा था। यह भी कहा जाता है कि जहां कुछआ होता है, वहां पर धन की देवी माँ लक्ष्मी का आगमन होता है। हालांकि ना सिर्फ हिन्दू धर्म में बल्कि फेंगशुई के अनुसार भी कछुआ रखना बेहद शुभ माना गया है। मगर यहाँ पर ध्यान देने वाली बात ये हैं की कछुवा रखने की सही दिशा का ज्ञान होना भी बेहद ही आवश्यक है अन्यथा इसका प्रभाव उल्टा भी पड़ सकता है।

आपको बता दें की फेंगशुई में मूर्तियों का काफी ज्यादा महत्व होता है जिसमे ड्रैगन, विंड च्वाइम, लाॅफिंग बुध्दा और कछुआ सबसे ज्यादा लोकप्रिय है। अक्सर कर के लोग इन्हे अपने घरों तथा व्यापार वाली जगहों पर रखते है ताकि ढेर सारी खुशियां और संपन्नता उनके यहाँ बरसती रहे। मगर ध्यान देने वाली बात ये है की इन सभी की दिशा सही होना चाहिए तब ही आपको इनका फायदा होगा। आज हम आपको बताएँगे की फेंगशुई के अनुसार कछुवे को घर में किस दिशा में रखना चाहिए ताकि आपके घर में खुशहाली बनी रहे और किसी तरह की कोई समस्या नहीं आने पाये।

फेंगशुई के अनुसार कछुआ रखने की सही दिशा

बता दें की अगर आप अपने घर में कछुए को सही दिशा में रखते हैं तो इससे आपके परिवार में शांति बनी रहती है साथ ही साथ नकारात्मक ऊर्जा का विनाश भी होता है। निश्चित ही आपके मन में यह सवाल आ रहा होगा की आखिर कछुए की सही दिशा क्या होनी चाहिए, तो चलिए आगे जानते हैं कछुए की सही दिशा के बारे में।

  • सबसे पहले तो आपको बताते चलें की कछुए कई तरह के आते हैं और हर तरह के कछुओं की अपनी अलग दिशा होती है। बता दें की अगर आपने काले रंग वाले कछुए को घर में लाया है तो इसे उत्तर दिशा की ओर रखना चाहिए। ऐसा करने से आपके व्यापार में तरक्की होती है। आपको यह भी बता दें की यदि आपने इसे पश्चिम की दिशा में रखते हैं तो इससे घर से नेगेटिव ऊर्जा का विनाश होता है और सकारात्मक ऊर्जा प्रवेश होता है।
  • बताते चलें की यदि आपके पास क्रिस्टल का कछुआ है तो इसे आप हमेशा अपने घर के दक्षिण-पश्चिम या फिर उत्तर-पश्चिम की दिशा में ही रखें। इसके अलावा अगर आपके पास लकड़ी का कछुआ है तो उस कछुए को आप पूर्व या फिर दक्षिण दिशा में रख सकते हैं।
  • इस बात का भी विशेष ध्यान रखें की फेंगशुई के नियम के अनुसार कछुआ कभी भी शयन कक्ष में नहीं रखना चाहिए। इसके लिए सबसे बेहतर स्थान बैठक घर यानी ड्राईंग रूम होता है। दांपत्य जीवन पर कछुआ का कोई प्रभाव नहीं पड़ता है इसलिए घर की शोभा बढ़ाने के उद्देश्य से भूल से भी दो कछुआ एक साथ घर में नहीं रखना चाहिए।

  • इसके अलावा आपको यह भी बता दें की नौकरी और परीक्षा में सफलता प्राप्त करने के लिए भी आप अपने घर में कछुए की मूर्ति ला सकते हैं। हालांकि ऐसा करते वक़्त आपको इस बता का ध्यान रखना है की कछुअा वहां पर रखें जहां आपके पढ़ने का स्थान हो। कछुए की तरह उसका मन धीरे-धीरे पढ़ाई में लगने लगेगा और उसको सफलता भी निश्चित रूप से मिलेगी।

यह भी पढ़ें :

Related Articles

Close