रविशंकर प्रसाद ने अरविन्द केजरीवाल की ढंग से चुटकी ली, जानिए क्या है पूरा मामला!

इस बात में कोई शक नहीं है कि प्रधानमंत्री के 500 और 1000 की नोटबंदी वाले घोषणा के बाद देश में सबसे चिंतित इंसान अरविन्द केजरीवाल ही हैं। उनकी स्थिति इस समय ऐसी है जैसे बिना पानी के मछली। वह झूठे और बिना सर पैर के आरोप लगाने से भी नहीं कतरा रहे हैं आजकल। उनकी बेवकूफी भरी हरकत देखकर कोई भी शर्मा जाए। ऐसा लगता है जैसे केजरीवाल ने अपनी समझ ही खो दी हो। उन्होंने मोदी पर नोटबंदी की वजह 6 लाख करोड़ के घोटाले का भी आरोप लगाया है, जो उनकी बीमार मानसिकता को दर्शाता है।

रविशंकर प्रसाद ने ली ढंग से चुटकी:

अब लोगों ने और राजनीतिज्ञों ने उन्हें गंभीरता से लेना छोड़ दिया है और उनका मज़ाक उड़ना शुरू कर दिया है। कल बीजेपी के सांसद और केंदीय मंत्री रविशंकर प्रसाद ने केजरीवाल की बड़े ही ढंग से चुटकी ली। उन्होंने एक प्रेस रिलीज निकलवायी और उसपर अरविन्द केजरीवाल की उपलब्धियों के बारे में लिखवाया। आइये जानते हैं क्या था उस प्रेस रिलीज में।

अरविन्द केजरीवाल की हर बात ही निराली होती है, वह कोई भी काम करते हैं तो चाहते हैं कि लोग उनकी हाँ में हाँ मिलाये। वह हर किसी के ऊपर भ्रष्ट होने का आरोप लगाते रहते हैं और हर चीज का प्रूफ भी मांगते रहते हैं। पर्चे पर लिखा था, खुलासे के लिए हम और सबूत देते हैं जो उनके भ्रष्ट होने का सबूत दे सके।

पर्चे पर लिखे शब्द:

1- नील आर्मस्ट्रांग को चाँद पर मोदी जी ने ही भेजा था ताकि वह उद्योगपतियों के काले धन को चाँद पर छुपा सके। यह भी सही है कि मंगल ग्रह पर भ्रष्ट लोगों का पैसा छुपाने के लिए ही मंगल यान को भेजा गया था। हम उम्मीद करते हैं कि केजरीवाल व्यक्तिगत रूप से मंगल ग्रह वाले और अन्य मामलों की जाँच करेंगे।

2- हम सभी उनकी महान जासूसी काबिलियत के मुरीद हैं। हम उम्मीद करते हैं कि वह जल्द ही इसका CID वर्जन टीवी पर शुरू कर सकते हैं। हमें इस बात का पूरा भरोषा है कि बड़े से बड़ा केस भी वह एक घंटे से भी कम समय में हल कर देंगे। हमें तो इस बात पर अभी भी आश्चर्य हैं कि कैसे उन्होंने शिला दीक्षित के खिलाफ 360 पेज का सबूत पेश किया था।

3- हमें यह भी याद है कि उन्होंने कितने सटीक हिसाब के साथ बहुत बड़े घोटाले का खुलासा किया था कि, मोदी जी गैस के दाम 16 डॉलर बढ़ाने वाले हैं। इससे वह देश की जनता को लूटने का काम करेंगे।

4- हम तो उनकी गणितीय क्षमता के भी कायल हैं कि कैसे उन्होंने सही- सही अनुमान लगाया कि बुलेट ट्रेन का एक तरफ का किराया 75 हजार रूपये हो सकता है।

ऐसा लगता है कि केजरीवाल ने अपना भरोसा ही नहीं बल्कि अपनी राजनीतिक क्षमता भी खो दी है। वाज जनता के बीच में भ्रम फैलाने के लिए गलत शब्दों का उपयोग करने से भी बाज नहीं आते हैं।

रविशंकर प्रसाद की पूरी प्रेस रिलीज पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करें:

http://www.bjp.org/en/media-resources/press-releases/press-statement-issued-by-bjp-senior-leader-shri-ravi-shankar-prasad-19-11-2016

Leave a Reply

Your email address will not be published.