चंद्रग्रहण 2018: आज रात पूरी दुनिया पर लगेगा भयानक ग्रहण, भूलकर भी न करें ये काम

21वीं सदी का सबसे लंबा और भयानक चंद्रग्रहण 27 जुलाई (शुक्रवार) यानि आज आधी रात को लगने वाला है. ग्रहण के कई घंटे पहले सूतक लगता है जिसके बाद मंदिर के कपाट बंद कर दिए जाते हैं, इतना ही नहीं बहुत से ऐसे काम हैं जो धरती के मानवों को नहीं करना चाहिए. शुक्रवार को सूतक 2 बजकर, 55 मिनट पर लग रहा है और इसके दौरान सभी को अपने-अपने घरों के मंदिर के द्वार भी बंद कर देने होंगे. ये ग्रहण मध्य रात्रि में 11 बजकर 54 मिनट पर शुरु होगा और चंद्रग्रहण को मोक्ष की प्राप्ति 28 जुलाई 3 बजकर, 49 मिनट पर मिलेगा. आज रात पूरी दुनिया पर लगेगा भयानक ग्रहण, इसे सदी का सबसे बड़ा ग्रहण कहा जा रहा है और ये इस साल का दूसरा लेकिन सबसे बड़ा चंद्रग्रहण है. इससे पहले का चंद्रग्रहण 31 जनवरी को लगा था.

आज रात पूरी दुनिया पर लगेगा भयानक ग्रहण

27 जुलाई को अषाढ़ पूर्णिमा है और 28 जुलाई से सावन शुरु होने जा रहा है. इस पूर्णिमा का धार्मिक महत्व भी बहुत है क्योंकि इसी दिन महर्षि व्यास का जन्म हुआ था इसलिए इस दिन को गुरुपूर्णिमा के रूप में मनाया जाता है. चंद्रग्रहण को मोक्ष की प्राप्ति सावन के शुभ दिन में मिलेगी, इससे हर इंसान को इसका अच्छा फल मिलेगा. सावन के शुभ महीने की शुरुआत में गंगा स्नान करना ज्यादा बेहतर होता है. गुरु पूर्णिमा के दिन ग्रहण होने की वजह से पंडितों का मानना है कि दोपहर तक गुरु पूर्णिमा की पूजा कर लेनी चाहिए. मगर इस चंद्रग्रहण के लगने पर कुछ चीजों का ध्यान रखना बेहद जरूरी है जिसे सबको ध्यान रखना चाहिए. चंद्रग्रहण बहुत ही लंबा है और ऐसे में कई ऐसे योग बने हैं कि जिसमें सभी को कुछ बातों का ध्यान रखना होगा. वरना इसका अच्छा प्रभाव पड़ने से पहले इसका बुरा प्रभाव जरूर पड़ सकता है. इस ग्रहण में आपको इन बातों का ध्यान रखना होगा.

1. चंद्रग्रहण की खास ये है कि इसे बिना किसी यंत्र के यानि नग्न आंखों से देखा जा सकता है. इसके साथ ही ये चंद्रग्रहण को भारत के अलावा एशिया के दूसरे देशों रूस, अमेरिका, यूरोप, ऑस्ट्रेलिया और अफ्रीका जैसे बड़े देशों में देखा जा सकता है.

2. ज्योतिष के अनुसार, 27 जुलाई का ये चंद्रग्रहण मकर राशि पर हो रहा है. इसलिए इस चंद्रग्रहण की वजह से मकर राशि के लोगों को अच्छा समय शुरु होगा. मकर के अलावा मेष, वृक्ष और कुंभ राशि के लिए अच्छा प्रभाव लाने वाला है.

3. ग्रहण के दौरान महिलाओं को खास ध्यान रखना होगा कि वे अपने पार्टनर के साथ संबंध बनाना वर्जित होगा. इसके पीछे की मान्यता ये है कि अगर ग्रहण के दौरान कोई भी महिलाएं गर्भवती हो गई तो उसका होने वाला बच्चा अशुभ माना जाता है.

4. इस चंद्रग्रहण की कुछ अवधि 6 घंटा 14 मिनट रहेगी लेकिन पूर्ण चंद्रग्रहण की स्थिति 103 मिनट तक रहेगी. भारत में ये रात 11 बजकर 54 मिनट से स्पर्श होगा और 3 बजकर 54 मिनट पर पूर्ण होगा.

5. इस दौरान ना कुछ खाना है और ना कुछ करना होता है. हो सके तो आप भगवान का जप करें वो भी इस ग्रहण के अच्छे से टल जाएगा.

Leave a Reply

Your email address will not be published.