55 साल की इस महिला के सामने हथियारबंद लुटेरों की एक ना चली, हुए भागने पर मजबूर…. वीडियो वायरल!

हमारा समाज महिलाओं को हमेशा से ही कमजोर और अबला समझता रहा है। पुरुष प्रधान समाज का यह मानना होता ही कि महिलायें अपनी रक्षा स्वयं नहीं कर सकती हैं। यह बस एक पूर्वाग्रह ही है, जिसकी वजह से पुरुष ऐसा कहते हैं। इस बात में कोई सच्चाई नहीं है। आज महिलायें कदम से कदम मिलाकर हर वो काम कर रही हैं जो पुरुष करते हैं और उनसे बेहतर ही करती हैं। आज महिलायें सेना, खेल, तकनीकि के क्षेत्रों में अपना नाम कर रही हैं। अगर अभी भी लोगों को लगता है कि महिलायें पुरुषों से पीछे और कमजोर होती हैं तो उनका भ्रम यह 55 साल की बुजुर्ग महिला तोड़ देगी। 55 साल की इस महिला के सामने हथियारबंद लुटेरों की एक ना चली, हुए भागने पर मजबूर

इंग्लैंड में रहने वाली भारतीय मूल की हेमलता पटेल हैं

यह महिला कोई और नहीं इंग्लैंड में रहने वाली भारतीय मूल की हेमलता पटेल हैं। इनकी उम्र 55 साल है और यह उत्तरी- पक्षिमी इंग्लैंड के विन्सफोर्ड में अपना स्टोर चलाती हैं। हेमलता ने अपने साहस के दम पर स्टोर में घुसे हथियारबंद लुटेरों को बस एक स्टील की कुर्सी से खदेड़ कर बाहर कर दिया।

हेमलता ने बताया कि उस समय स्टोर में कोई ग्राहक नहीं था। वह काउंटर पर अकेली बैठी हुई थी। तभी अचानक दो नकाबपोश स्टोर में घुस आये और जोर- जोर से चिल्लाने लगे। मैंने उनसे विनती की कि जो चाहिए ले जाओ मैं कुछ नहीं करुँगी, लेकिन उनमे से एक नकाबपोश काउंटर पर आया और अपने हथियार से काउंटर पर हमला किया। इसके बाद मुझे गुस्सा आ गया।

मैंने उनसे पहले ही कहा था जो चाहिए ले जाओ लेकिन उन्होंने सुना नहीं और हमला कर दिया। मेरे बगल में एक स्टील की कुर्सी रखी हुई थी, मैंने उसे उठाकर उनकी तरफ दौड़ना शुरू किया और वे स्टोर से बाहर भाग गए।

हेमलता अपने पति धीरुभाई के साथ इंग्लैंड में 1984 से स्टोर चला रही हैं। उस समय उनके पति स्टोर के पीछे ही थे। आवाज सुनकर वे दौड़ते हुए ये देखने के लिए आये कि कुछ हुआ तो नहीं लेकिन सब ठीक था। उल्टे लुटेरों की हालत ख़राब हो गयी थी। हालांकि बाद में पुलिस ने लुटेरों को पकड़ लिया और उन्हें जमानत पर रिहा भी कर दिया। आप भी इस 55 साल की महिला की बहादुरी देख सकते हैं कि किस तरह से इन्होने लुटेरों की हालत ख़राब कर दी।

वीडियो देखें: