महिलाओं रखें इन 8 बातों का ध्यान, नहीं तो घर में बढ़ जाएँगी बीमारियाँ और झगड़े

धार्मिक मान्यता के अनुसार पति-पत्नी का रिश्ता बहुत ही पवित्र होता है। ऐसा कहा जाता है कि दोनो का भाग्य एक-दूसरे से जुड़ा होता है। यही वजह है कि किसी एक के अच्छे या बुरे काम का असर दूसरे के जीवन पर भी पड़ता है और उसका जीवन बदल सकता है। भारत में प्राचीनकाल से ही वास्तु के नियमों का पालन किया जाता रहा है। जो लोग वास्तु के नियमों को अनदेखा करते हैं, उनके जीवन में कई तरह की परेशनियाँ शुरू हो जाती हैं।

वास्तुशास्त्र के माध्यम से लोगों को पता चलता है कि उन्हें किस तरह से रहना चाहिए। वास्तुशास्त्र में घर के माहौल से लेकर बाहर के माहौल के बारे में भी बताया जाता है। अपने घर में किस तरह से छोटे-मोटे वास्तु बदलाव करके आप अपना जीवन सुखी बना सकते हैं। वास्तु का प्रभाव घर के हर हिस्से जैसे लिविंग रूम, किचन, बेडरूम, बाथरूम में पड़ता है। इसलिए इन्हें भूलकर भी अनदेखा नहीं करना चाहिए। वास्तुशास्त्र में पत्नी के लिए कुछ ख़ास नियम बताए गए हैं। इन बातों का ध्यान रखने पर पति को भाग्य का साथ मिलता है। अगर पत्नी किचन और कुकिंग से जुड़ी कुछ ग़लतियाँ करती है तो पति का भाग्य बिगड़ सकता है। इसलिए किचन की इन बातों का ध्यान सभी महिलाओं को रखना चाहिए।

*- वास्तुशास्त्र के अनुसार महिलाओं को बिना नहाए किचन में क़दम नहीं रखना चाहिए। ना ही खाना बनाना चाहिए और ना ही खाना खाना चाहिए। ऐसा करने से बीमारियाँ बढ़ जाती हैं। केवल यही नहीं इन बातों का ध्यान ना रखने से दोष बढ़ जाता है और पति-पत्नी को दुर्भाग्य का सामना करना पड़ता है।

*- अगर किचन में महिलाएँ दक्षिण-पक्षिम दिशा के कोने की तरफ़ मुँह करके खाना पकाती हैं तो यह घर की सुख-शांति के लिए अच्छा नहीं माना जाता है। इसकी वजह से घर में अशांति छा जाती है और लड़ाई-झगड़े ज़्यादा होने लगते हैं।

*- पक्षिम दिशा की तरफ़ मुँह करके खाना बनाना सामान्यतया अच्छा होता है, हालाँकि पूरी तरह से यह भी शुभ नहीं होता है।

*- उत्तर दिशा की तरफ़ मुँह करके खाना बनाने से हानि होने की सम्भावना बढ़ जाती है।

*- अगर आप घर की सुख-शांति बनाए रखना चाहती हैं तो किचन में पूर्व दिशा की तरफ़ मुँह करके खाना बनाना चाहिए। पूर्व दिशा खाना बनाने के लिए सबसे अच्छी मानी जाती है। इस बात से फ़र्क़ नहीं पड़ता है कि घर में किचन किस दिशा में है, बस खाना बनाने की दिशा पूर्व होनी चाहिए।

*- अगर किचन में पूर्व दिशा की तरफ़ एक खिड़की हो तो यह बहुत ही शुभ होता है।

*- प्रतिदिन सुबह-शाम खाना बनाकर खाने से पहले पहली रोटी गाय को खिलानी चाहिए। ऐसा करने से आप जीवन की कई परेशानियों से बच सकती हैं।

*- वास्तुशास्त्र के नियमों के अनुसार किचन के ठीक सामने बाथरूम नहीं होना चाहिए। अगर ऐसा है तो बाथरूम का दरवाज़ा हर समय बाँध रखें और बाथरूम के दरवाज़े पर एक पर्दा भी लगाकर रखें। इससे बाथरूम की नकारात्मक ऊर्जा का असर किचन पर नहीं पड़ता है।

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.