भूलकर भी ना खाएं ये 3 चीजें, वरना आ जाएगी नपुंसकता और जिंदगी में कभी नहीं बन पाएंगे बाप

आजकल पूरी दुनिया में नपुंसकता के मरीजों की संख्या लगातार बढ़ती जा रही हैं। हमारे देश में भी लाखों लोग नपुंसकता के शिकार हैं। आयुर्वेद में नपुंसकता दूर करने के लिए कई प्रकार की औषधियों का वर्णन मिलता हैं इन आयुर्वेदिक औषधियों को आप अपने घर में बनाकर नपुंसकता का आसानी से इलाज कर सकते हैं। वहीं आयुर्वेद में कुछ ऐसी चीजें भी बताई गई है जो व्यक्ति को नपुंसक बनाने में मदद करती हैं।

अब आप सोच रहे होंगे कि भला ऐसा बेवकूफ व्यक्ति कौन होगा जो नपुंसक बनना चाहेगा, तो आपको बता दें कि इन चीजों का प्रयोग साधू-संतों और ऐसे लोगों द्वारा किया जाता हैं जो कामवासना को खुद से दूर रखना चाहते हैं। आपको पता होगा कि साधू-संतों के लिए कामवासना को रोकना कितना आवश्यक होता हैं यही कारण है कि ये लोग इन चीजों का प्रयोग करते हैं। आईये आपको बताते हैं वे कौन सी चीजें हैं जो मनुष्य को नपुंसक बनाती हैं।

केले के पेड़ की जड़ :

वैसे तो केला खाना शरीर के लिए लाभदायक माना जाता हैं और केला खाने से हमें तुरंत एनर्जी मिलती है। लेकिन अगर केले के पेड़ की जड़ की बात करें तो यह आपको नपुंसक बना सकती हैं, इसके रस को पीने से आप कभी बाप नहीं बन सकते। केले का पेड़ तो आपको भारत में लगभग सभी जगह आसानी से मिल जाएगा, बता दें कि यदि किसी व्यक्ति को केले के जड़ का रस, पानी में मिलाकर पिलाते हैं तो वह व्यक्ति कुछ ही दिनों में नपुंसक बन जाएगा।

माना जाता है कि केले की जड़ के रस से पुरुषों में संतान पैदा करने की क्षमता कम हो जाती है। यदि केले की जड़ के रस को पानी में मिलाकर दो बार से तीन बार पी लिया जाए तो पुरुष में नपुंसकता आ जाती है। इसलिए अगर आपके गमले में केले का पेड़ लगा है तो उसके रस का सेवन भूलकर भी ना करें।

आम का अचार :

गर्मियों के दिनों में मिलने वाला आम तो सबको अच्छा लगता हैं और आम से बनने वाले अचार का नाम सुनकर ही मुँह में पानी आ जाता है। लेकिन पुरूषों की यौन शक्ति के लिए आम का अचार बहुत खतरनाक माना जाता हैं। दरअसल आम के अचार का ज्यादा सेवन करने से पुरुषों में नपुंसकता आ जाती है। आम के अचार से पुरुष हार्मोन में कमी आ जाती है जिससे नपुंसकता को बढ़ावा मिलता है। इसीलिए पुरुषों को आम का अचार कभी नहीं खाना चाहिए।

आंवला :

विटामिन सी से भरपूर आंवले में वैसे तो ढ़ेर सारे चमत्‍कारिक गुण होते है जो हमारे शरीर के लिए बेहद गुणकारी होते हैं। यह न सिर्फ हमारे शरीर की इम्‍यूनिटी बढ़ाता है बल्‍कि कई बीमारियों को भी जड़ से खत्‍म करता है। लेकिन आपको जानकर आश्चर्य होगा कि इतने गुणों से भरपूर आंवला व्यक्ति की नपुंसकता का भी कारण बन सकता है। दरअसल, बहुत ज्यादा आंवला खाने से व्यक्ति में नपुंसकता आ जाती है। अगर कोई पुरुष अधिक आंवला खाता है तो उसके शरीर में टेस्टोस्टेरॉन हार्मोन कम बनने लगता है जिससे नपुंसकता आती हैं। प्राचीन काल में साधू-संत कामवासना को खत्म करने के लिए भी आंवले का ही प्रयोग करते थे।