सपा का नया ड्रामा, चाचा शिवपाल समेत तीन मंत्री कैबिनेट से बाहर; क्या टूट जाएगी सपा?

नई दिल्लीः यूपी के सबसे बड़े राजनीतिक परिवार में कलह अब सारी सीमाएं लाघते हुए दिख रहा है। अखिलेश यादव ने इसकी शुरुआत करते हुए बड़ा फैसला लिया है। जिससे इस बात के संकेत मिले हैं कि अब पार्टी में टूट होगी। Akhilesh yadav terminates shivpal yadav from cabinet.

क्या हो चुकी है सपा में टूट की शुरुआत –

दरअसल, मुख्‍यमंत्री अखिलेश यादव ने अपने मंत्रिमंडल से चाचा शिवपाल यादव समेत चार अन्‍य मंत्रियों को बर्खास्‍त कर दिया है। अमर सिंह को लेकर नाराज अखिलेश ने इस बैठक में कहा है कि जो भी अमर सिंह के साथ होंगे उन सभी को बाहर किया जाएगा। अखिलेश यादव के इस फैसले के तुरंत बाद शिवपाल यादव पार्टी सुप्रीमो मुलायम सिंह यादव से मिलने पहुंचे हैं। ये झगड़ा चार महीने से चल रहा है। शुरुआत जून में उस वक्त हुई जब शिवपाल ने सपा में दागी मुख्तार अंसारी की पार्टी के विलय की कोशिश की।

बर्खास्‍तगी का यह फैसला अखिलेश यादव द्वारा रविवार को बुलाई गई बैठक के बाद लिया गया। बैठक के बाद राज्‍यपाल को मंत्रियों की बर्खास्‍तगी की सूचना दी गई है। जो मंत्री बर्खास्‍त नेताओं में शिवपाल यादव के अलावा शादाब फातिमा, मंत्री नारद राय, मंत्री ओमप्रकाश और गायत्री प्रजापति शामिल हैं।

इनके अलावा सूचना है कि अमर सिंह की समर्थक रहीं जया प्रदा को भी फिल्‍म विकास परिषद से हटाने का फैसला लिया गया है।

 

एक लेटर बना मुसीबत – 

Akhilesh yadav terminates shivpal yadav from cabinet

अभी हाल  ही में पार्टी महासचिव रामगोपाल यादव ने सपा कार्यकर्ताओं के नाम पर एक चिट्ठी लिखी थी जिसमें कहा गया था, “अखिलेश का विरोध करने वाले विधानसभा का मुंह नहीं देख पाएंगे, जहां अखिलेश वहां विजय। रथयात्रा विरोधियों के गले की फांस है। इस फांस को और तेज करने की जरूरत है।

शिवपाल को नहीं बुलाया –

रविवार को होने वाली विधायकों की बैठक में मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने प्रदेश अध्यक्ष व विधायक शिवपाल यादव समेत तकरीबन तीन दर्जन विधायकों व कई मंत्रियों को आमंत्रित नहीं किया है। जिन्हें आमंत्रित नहीं किया गया है, उन्हें शिवपाल यादव का करीबी माना जाता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.