रोहित शर्मा ने नहीं देखा कार्तिक ने कैसे लगाया लॉस्ट बॉल पर ‘जीत का छक्का’, कहां ग़ायब थे?

कोलंबो – निडास ट्रॉफी के फाइनल में रविवार को मजबूत भारत का सामना उलटफेर करने की आदि हो चुकी बांग्लादेश से आर. प्रेमदासा स्टेडियम में हुआ। इस दौरान उम्मीद के मुताबिक, बंग्लादेश ने जबरदस्त खेल दिखाया। इससे पहले दो बार भारत से हाथों हार चुकी बांग्लादेश की नजरें बड़ा उलटफेर कर खिताब अपने नाम करने पर थी। शायद ऐसा हो भी गया होता अगर दिनेश कार्तिक ने अपनी जबरदस्त बल्लेबाजी से सबको हैरान न किया होता। जैसा दिनेश कार्तिक ने एक ऐसी पारी खेली जो जब तक क्रिकेट रहेगा याद की जायेगी। वो देश की ओर से पहले बल्लेबाज बन गए हैं जिसने मैच की आखिरी गेंद पर छक्का लगाकर मैच जिताया हो। लेकिन, रोहित शर्मा जीत का छक्का नहीं देख सके।

सांसें रोक देने वाले मैच में मिली ऐतिहासिक जीत

कल श्रीलंका के प्रेमदासा स्टेडियम में बैठे दर्शकों ने ऐसा मैच देखा जिसे वो सालों तक याद रखेंगे। सांसें रोक देने वाले इस मुक़ाबले में जीत का फ़ैसला आख़िरी गेंद पर हुआ और इस जीत के हीरो रहे विकेटकीपर बल्लेबाज दिनेश कार्तिक। भारत को जीत के लिए अंतिम गेंद पर पाँच रनों की ज़रूरत थी और कार्तिक ने छक्का जड़कर टीम को एक शर्मनाक हार से बचा लिया। फाइनल मुकाबले में टॉस जीतकर भारत ने पहले गेंदबाजी का निर्णय लिया। लेकिन, बंग्लादेश ने अंतिम ओवरों में जबरदस्त बल्लेबाजी करते हुए भारत के सामने जीत के लिए 167 रनों का चुनौती भरा लक्ष्य रखा।

167 रनों के लक्ष्य का पीछा करने उतरी भारतीय टीम की शुरुआत ज्यादा अच्छी नहीं रही और 32 रनों के स्कोर पर रैना और फार्म में चल रहे शिखर धवन का विकेट गिर गया। इसके बाद कप्‍तान रोहित शर्मा ने 42 गेंदो पर 56 रनों की पारी खेली। लेकिन रोहित का विकेट ऐसे समय पर गिरा जब टीम को तेज रनों की जरुरत थी। मैंच आखिरी बॉल पर खत्म हुआ जब दिनेश कार्तिक ने अंतिम गेंद पर छक्का लगाकर टीम को जीत दिलाई।

रोहित शर्मा जीत का छक्का नहीं देख सके, लेकिन क्यों

रोहित के आउट होने के बाद टीम मैंनेजमेंट ने एक बेहद चौंकाने वाला फैसला करते हुए शंकर को बल्लेबाजी के लिए भेजा जो काफी गलत फैसला साबित हुआ। हालांकि, भारत को अंतिम दो ओवरों में 34 रनों की जरुरत थी। ऐसे में दिनेश कार्तिक ने बड़ी जबरदस्त बल्लेबाजी करते हुए टीम को अंतिम गेंद पर जीत दिला दी। लेकिन, रोहित शर्मा जीत का छक्का नहीं देख सके। इस बात की जानकारी देते हुए प्रेस कॉन्फ्रेंस में रोहित ने कहा कि वो अंतिम गेंद नहीं देख पाए। रोहित शर्मा ने कहा कि, वो सुपर ओवर की तैयारी करने चले गए थे। मैं पैड बांधने ड्रेसिंग रुम में चला गया था। मुझे सुपर ओवर होने का चांस लग रहा था।

इसलिए मैंने लास्ट बॉल नहीं देखी। लेकिन ड्रेसिंग रूम में जश्न की अवाज सुनकर मैं समझ गया कि दिनेश कार्तिक ने छक्का मार दिया है और हम जीत गए हैं। विजय शंकर का बचाव करते हुए शर्मा ने कहा कि उनके पास लंबे शॉट मानने की क्षमता है, लेकिन आज वो उस तरह नहीं खेल पाए। दिनेश कार्तिक को सातवें नंबर पर बल्लेबाज़ी के लिए भेजे जाने के फैसले पर रोहित ने कहा कि, उनकी काबिलियत और अनुभव को देखते हुए हमने उन्हें इस नंबर पर बल्लेबाजी के लिए भेजा।

Leave a Reply

Your email address will not be published.