भारत को भी शोएब अख्तर मिल गया है? 150 kmph की स्पीड देखकर गांगुली और सहवाग भी रह गये दंग

नई दिल्ली – न्यूजीलैंड में खेले जा रहे आईसीसी अंडर-19 विश्व कप में ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ खेले गए मुकाबले के दौरान देश को कई ऐसे खिलाड़ी मिलने की संभावना नज़र आई जो भविष्य में भारतीय क्रिकेट को नई ऊचांइयों पर ले जाएंगे। एक तरफ जहां पृथ्वी शॉ ने अपनी खूबसूरत बैटिंग से सचिन की याद दिला दी तो वहीं एक भारतीय तेज गेंदबाज ने अपनी स्पीड से करोड़ों भारतीयों और खिलाड़ियों को चौंका दिया। किसी भारतीय को इतनी तेज स्पीड से गेंदबाजी करते देखना वाकई में आश्चर्य की बात थी। आपको बता दें कि जिस स्पीड से इस गेंदबाज ने गेंदबाजी की वो अभी तक कोई भी भारतीय खिलाड़ी शायद ही कर पाया हो।

न्यूजीलैंड में चल रहे अंडर-19 विश्व कप में भारतीय तेज गेंदबाज की स्पीड देखकर भारतीय दिग्गज सौरव गांगुली और वीरेंद्र सहवाग भी चौंक गए।  हम बात कर रहे हैं अंडर -19 विश्व कप में खेल रहे 18 साल के भारतीय तेज गेंदबाज कमलेश नागरकोटी की, जिन्होंने अपनी गति से सबको चौका दिया है। नागरकोटी ने आस्ट्रेलिया के खिलाफ पहले मैच में लगभग 149-150 किमी प्रति घंटे की रफ्तार से गेंद फेंकी, जिसे देखकर किसी के लिए भी विश्वास करना मुश्किल हो रहा है। नागरकोटी के अलावा, शिवम मावी ने भी अपनी तेजी से सबको हैरान किया।

कमलेश नागरकोटी और शिवम मावी की स्पीड देखकर हर कोई यही कह रहा है कि यह विश्व क्रिकेट में भारतीय तेज गेंदबाजों के दबदबे की आहट है, जिससे अब हर किसी को डरना चाहिए। गौरतलब है कि भारतीय क्रिकेट में हमेशा से सिर्फ और सिर्फ केवल बल्लेबाजों का ही दबदबा रहा है। भारतीय क्रिकेट को हमेशा से ऐसे गेंदबाजों की तलाश रही है जो 150 या इसके आसपास की स्पीड से गेंदबाजी कर सकें। ऐसे में रविवार को न्यूजीलैंड माउंट मोंगानुई में खेले गए अंडर-19 विश्व कप के मैच में आस्ट्रेलिया के खिलाफ इन भारतीय तेज गेंदबाजों ने जो स्पीड दिखाई वो वाकई में हैरान करने वाली है।

राजस्थान के कमलेश नागरकोटी ने जहां मैच के दौरान 145 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से ऊपर की गेंदे फेंकी। तो वहीं इसी मैच में उत्तर प्रदेश के नोएडा के रहन वाले तेज गेंदबाज शिवम मावी ने भी लगभग 145 किलोमीटर की रफ्तार से गेंद फेंककर सबको हैरान किया। मैच के दौरान नागरकोटी की सबसे तेज गेंद 149 किमी प्रति घंटे और मावी ने 146 किमी प्रति घंटे की रफ्तार से फेंकी। अच्छी बात ये है कि शिवम और नागरकोटी के पास स्पीड के साथ साथ लाइन और लेंथ भी सटीक है। आपको बता दें कि नागरकोटी इससे पहले भी प्रथम श्रेणी मैच में हैट्रिक लेकर सबको चौंका चुके हैं।