राजनीति की खोई हुई जमीन पाने के लिए राज ठाकरे ने खेला फिल्म ‘टाइगर जिन्दा है’ पर मराठी कार्ड

मुंबई: महाराष्ट्र की राजनीति में धुंधली होती अपनी चमक को चमकाने के लिए मनसे प्रमुख राज ठाकरे ने इस बार फ़िल्मी दुनिया का सहारा लेने में भी संकोच नहीं किया है। मराठी लोगों के मुद्दों को लेकर राजनीति करने वाले मनसे के अध्यक्ष राज ठाकरे ने मंगलवार को महाराष्ट्र के सिनेमाघरों में मराठी फिल्मों को वरीयता देने की वकालत की। ओने ही करीबी दोस्त सलमान खान के खिलाफ उन्होंने अभियान छेड़ दिया और उनकी इसी शुक्रवार को रिलीज होने वाली फिल्म टाइगर जिन्दा है का विरोध किया।

थिएटर मालिकों को चेतावनी देते हुए कहा कि इस शुक्रवार को रिलीज होने वाली मराठी फिल्म देवा को प्रमुखता दी जाये। अगर ऐसा नहीं हुआ तो उनके थियेटरों में टाइगर जिन्दा है की स्क्रीनिंग नहीं होने दी जाएगी। आपको बता दें सलमान खान और कैटरिना की यशराज बैनर के तले बनी इस फिल्म को शुक्रवार को देशभर के 4000 सिनेमाघरों में रिलीज किया जा रहा है। मराठी फिल्म इंडस्ट्री भी काफी समय से इलाके के थियेटरों से यह शिकायत करती रही है कि उनकी फिल्मों के साथ सौतेला व्यवहार किया जाता है।

मराठी फिल्मों को प्राइम टाइम के शो नहीं दिए जाते हैं। इस वजह से मराठी फिल्मों के कारोबार पर बुरा असर पड़ता है। इसी मुद्दे को लेकर मराठी फिल्मों का प्रतिनिधिमंडल राज्य सरकार से भी मिल चुका है। मल्टीप्लेक्स थियेटरों के मालिकों ने सरकार और मराठी फिल्म निर्माताओं को यह भरोसा दिलाया था कि उनकी फिल्मों के शो कम नहीं होंगे। मनसे ने आरोप लगाया है कि शुक्रवार को रिलीज होने वाली मराठी फिल्म देवा को मल्टीप्लेक्स थियेटरों में प्राइम टाइम शो नहीं दिया जा रहा है।

राज्य सरकार ने भी इस मुद्दे को गंभीरता से लेते हुए मल्टीप्लेक्स थियेटरों के मालिकों को अपने रवैये में बदलाव करने की सलाह दी है। वहीँ कुछ लोग टाइगर जिन्दा है की रिलीज से दो दिन पहले उठाये जा रहे इस कदम को फिल्म के लिए पब्लिसिटी स्टंट मान रहे हैं। राज ठाकरे को सलमान खान का करीबी दोस्त माना जाता है। सलमान के घर हर साल गणपति के समय राज ठाकरे दर्शन के लिए पहुँचते हैं। इस मुद्दे पर यशराज फिल्म ने कोई टिप्पणी करने से इनकार कर दिया है।

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.