अध्यात्म

हिंदू धर्म का वो मंदिर जिसमें जाने से डरते हैं लोग! जानिए क्यों?

भारत को एक धर्म प्रधान देश माना जाता है, देश की संस्कृति में मंदिरों का अपना एक अलग महत्व है। हर भारतवासी धर्म को अपने जीवन में विशेष महत्व देता है। लोगों की भगवान में श्रद्धा और विश्वास होता है इसलिए वो बेझिझक दुनिया या देश के किसी भी मंदिर में जाकर अपनी मन्नते मांगते हैं और भगवान की आराधना करते हैं। लेकिन, अगर हम आपसे कहें कि हमारे देश में एक ऐसा मंदिर भी है जिसमें लोग जानें से डरते हैं, तो आप क्या कहेंगे। Temple of yamraj in himachal.

मृत्‍यु के देवता यानी यमराज का है ये मंदिर :

जी हां ये बात थोड़ी अजीब जरूर है लेकिन पूरी तरह से सच है। हमारे ही देश में एक ऐसा मंदिर भी हैं जहां लोग दर्शन करने नही जाते क्योंकि उन्हें वहां जाने में डर लगता है। ये मंदिर है मुत्‍यु के देवता यानी यमराज का, जहां लोग अंदर जाना तो दूर मंदिर के पास से गुजरने में भी डरते हैं। ये मंदिर चम्‍बा में स्थित है।

आपको बता दें कि दुनिया में यमराज का सिर्फ एक ही मंदिर है। यह मंदिर हिमाचल के चम्‍बा के पास छोटे से कस्‍बे भारमोर में स्थित है। देखने से तो यह मंदिर किसी घर की तरह ही लगता है, लेकिन यमराज का मंदिर होने के कारण लोग यहां आने से कतराते हैं। इस मंदिर में एक ऐसा कमरा भी है जिसमें चित्रगुप्‍त की मूर्ति रखी है।

मृत्‍यु के बाद ही यमराज के मंदिर में आती हैं आत्‍मा :

चित्रगुप्‍त यमराज के सहायक हैं और वे लोगों के अच्‍छे और बुरे कर्मों का हिसाब-किताब रखने का काम करते हैं। इस मंदिर में सोने, चांदी, तांबे और लोहे के बने चार गुप्‍त दरवाजे हैं। पुराण में भी इस बात के जिक्र किया गया है कि यमराज ही तय करते हैं कि कौन-सी आत्‍मा इन दरवाजों में से किसमें से होकर मुत्‍युलोक जाएगी।

ऐसी मान्यता है कि यहां आने वाली आत्‍मा पहले चित्रगुप्‍त के पास जाती है। जो उनके अच्‍छे और बुरे कर्मों के आधार पर यह बताते हैं कि वो कौन-से दरवाजे से मुत्‍युलोक जाएगी। यह मंदिर काफी अलौकिक और अविश्वसनीय होते हुए भी लोगों के डर के कारण छिपा हुआ सा लगता है।

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.

Back to top button