बॉलीवुड

‘चलो बुलावा आया है’ गाने वाले नरेंद्र चंचल नहीं रहे, 80 वर्ष की उम्र में ली अंतिम सांस

साल 2020 में हम सभी ने मनोरंजन की दुनिया से कई दिग्गज लोगों को खोया है। ऐसे में उम्मीद की जा रही थी कि साल 2021 अच्छा होगा। लेकिन ऐसा लग नहीं रहा है। एंटरटैनमेंट की दुनिया से एक और बुरी खबर आ रही है। भजन सम्राट कहे जाने वाले मशहूर गायक नरेंद्र चंचल (Narendra Chanchal) अब हमारे बीच नहीं रहे।

नरेंद्र चंचल ने आज (22 जनवरी) दिल्ली के अपोलो अस्पताल में करीब दोपहर सवा 12 बजे अंतिम सांस ली। उनकी उम्र 80 साल थी। वे जगराता में माता के भजन गाने के लिए फेमस थे। उनके गए भजन ‘चलो बुलावा आया है’ और ‘ओ जंगल के राजा मेरी मैया को लेके आजा’ जनता के बीच बहुत लोकप्रिय हुए थे।

बताया जा रहा है कि नरेंद्र चंचल पिछले दो महीनों से अपोलो अस्पताल‌ में एडमिट थे। अपनी अधिक उम्र के चलते उनकी तबीयत गड़बड़ चल रही थी। दो महीनों के जीवन मरण के संघर्ष के बीच उन्होंने आज अपने प्राण त्याग दिए। उनके जाते ही भजन और गायिकी की दुनिया में सन्नाटा छा गया।

16 अक्टुबर 1940 को अमृतसर के नमक हांडी में पैदा हुए नरेंद्र चंचल एक बेहतरीन भजन गायक थे। उनकी परवरिश बचपन से ही धार्मिक वातावरण के बीच हुई थी। ऐसे में उन्होंने भी भजन गाना शुरू कर दिया। उन्होंने बॉलीवुड की कई फिल्मों जैसे बॉबी, बेनाम और रोटी कपड़ा और मकान इत्यादि में भी गाने गए। बॉलीवुड में अपनी जगह बनाने के लिए भी उन्होंने लाइफ में बहुत संघर्ष किया था।

नरेंद्र चंचल के बारे में एक बात बड़ी फेमस थी। वे हर साल 29 दिसंबर को वैष्णों देवी जाते थे। यहां वे साल के अंतिम दिन भजन गाकर परफॉर्म करते थे। इस बात का जिक्र उन्होंने अपनी बायोग्राफी Midnight Singer में भी किया था। उनके दुनिया छोड़ चले जाने से पूरी इंडस्ट्री में एक शौक की लहर सी दौड़ गई है। लोग सोशल मीडिया पर उनके जाने पर दुख प्रकट कर रहे हैं।

भगवान नरेंद्र चंचल जी की आत्मा को शांति दे।

Back to top button
?>