किसी जादुई पेड़ से कम नहीं है ‘अमलतास’, सेहत और त्‍वचा को मिलते हैं इससे कई फायदे औषधीय गुणों से भरा हुआ है 'अमलतास' का पेड़, जाने इससे जुड़े लाभ

अमलतास का पेड़ आम पेड़ों की तरह नहीं होता है और इस पेड़ पर लगने वाले पीले फूल काफी गुणकारी होते हैं। इन फूलों की मदद से कई तरह की बीमारियों को सही किया जा सकता है। इस पेड़ के फूल के अलावा इस पेड़ की छाल, फल और पत्ते भी औषधि से भरे हुए होते हैं और इनका इस्तेमाल कई तरह की दवा बनाने में किया जाता है। औषधीय गुणों से भरपूर इस पेड़ के सेहत से जुड़े क्या क्या फायदे होते हैं वो इस प्रकार हैं.

अमलतास के पेड़ से जुड़े लाभ

बुखार करे कम

अमलतास के पेड़ की जड़ काफी गुणकारी होती है और इसी वजह से इसकी जड़ का प्रयोग बुखार कम करने वाली दवा को बनाने में किया जाता है। अगर आपको बुखार हो तो आप अमलतास की मदद से उसे कम कर सकते हैं। आप बस अमलतास की जड़ गूदे लें और फिर इसका सेवन दिन में तीन बार करें। आपका बुखार कम हो जाएगा। इतना ही नहीं, इसको खाने से बुखार के चलते हो रही शरीर की दर्द भी दूर हो जाएगी।

त्वचा के संक्रमण को खत्म करे

इस पेड़ पर लगने वाली फल्लियों का प्रयोग कर आप त्वचा पर हुए किसी भी संक्रमण को खत्म कर सकते हैं। आप इस पेड़ की फल्लियों को तोड़कर उन्हें नीम की पत्तियों के के साथ पीस लें और इस पेस्ट को अपने संक्रिमत त्वचा के हिस्से पर लगा लें। आपकी त्वचा पर हुआ संक्रमण सही हो जाएगा।

जलन सूजन को करे दूर

त्वचा में जलन या फिर किसी हिस्से में सूजन आने पर आप अमलतास के पेड़ की पत्तियां का लेप बनाकर उसे लगा लें। इसकी पत्तियों की मदद से आपको हो रही जलन दूर हो जाएगी और आपकी  सूजन भी ठीक हो जाएगी।

दाद खाज खुजली करे गायब

दाद, खाज या खुजली होने पर आप इस पेड़ की पत्तियों को पीस लें और उनको प्रभावित हिस्से पर लगा लें। आप इस पेस्ट को दिन में दो बार लगाएं। आपको दाद खुजली से जल्द ही आराम मिल जाएगा।

प्रतिरक्षा प्रणाली मजबूत हो

शरीर की प्रतिरक्षा प्रणाली को बढ़ाने के लिए और मजबूत करने के लिए आप अमलतास के पेड़ के फल का सेवन करें। इस पेड़ की छाल के अंदर एंटीऑक्‍सीडेंट गुण मौजूद होते हैं, जिसके चलते इन्हें खाने से शरीर की प्रतिरक्षा प्रणाली सही रहती है।

कब्ज करे दूर

कब्ज होने पर आप इस पेड़ के फूलों के गूदे को पानी में भिगो दें और पूरी रात इसे पानी में रहने दें। फिर सुबह आप इस गूदे में 25 ग्राम चीनी मिलाकर एक मिश्रण तैयार कर लें और इसका सेवन कर लें। इस गूदे को आप चाहे तो जीरे के साथ भी मिलाकर खा सकते हैं।

चेहरे के दाग खत्म करे

चेहरे में किसी भी तरह का दाग होने पर आप बस इस पेड़ के फूलों को पीसकर इसका लेप तैयार करे लें और फिर इस लेप को अपने चेहरे पर लगा लें। आप इस लेप को हफ्ते में कम से कम चार बार लाएं। आपके चेहरे में मौजूद सभी दाग खत्म हो जाएंगे।

सर्दी जुकाम में भगाए

सर्दी जुकाम होने पर अमलतास  की जड़ को लेकर उसमें आग लगा दें और फिर उससे निकलने वाले धुंए को सूंघे। इस धुंए को सूंघने से आपकी बहती नाक पर असर पड़गा और आपका जुकाम एकदम गायब हो जाएगा।

पेट के रोगों को करे सही

गैस की समस्या, पेट फूलना, पेट में दर्द होना, पेट खराब होना और इत्यादि तरह की पेट की बीमारियों में अमलतास काफी लाभकारी होता है। आप महज अमलतास का सेवन कर एक साथ पेट के इन सभी रोगों से राहत पा सकते हैं। आप बस रोज अमलतास के फूले के गूदे को बादाम के साथ मिलाकर खा लें, आपको आराम मिल जाएगा। वहीं आप चाहें तो बादाम की जगह इसमें अलसी का तेल भी मिला सकते हैं।

घावों को भरें

किसी भी तरह की चोट लगने पर आप उस चोट पर अमलतास की पत्तियों को पीसकर लगा लें। अमलतास की पत्तियों का लेप तैयार करने के लिए आप इन्हें पीस लें और इसमें से निकले पानी को अपने घाव पर लगा लें। आपको आराम मिल जाएगा। इसी तरह से इसकी छाल को पानी में उबालकर एक काढ़ा तैयार कर ले और फिर उस काढ़े को ठंडा कर उससे अपने घाव को धो लें। ऐसा करने से आपके घाव में किसी भी तरह का संक्रमण नहीं लगेगा।