गर्मियों में फूड प्वॉइजिंग से होता है लोगों का हाल बेहाल, इससे बचने से असरदार टिप्स अगर आपको बार-बार उल्टी, दस्त और पेट दर्द की समस्या होने लगे तो ये फूड प्वॉइजिंग के संकेत होते हैं और ये होने पर आपकी मदद कुछ घरेलू नुस्खे से हो सकती है.

होली के जाते ही गर्मी दस्तक दे देती है और अब धूप की अपने चरम पर है जब किसी को ये नहीं चाहिए होती है तभी इसकी गर्मी इंसान को जलाने के काम में आती है. गर्मी में पसीना, थकान और एनर्जी लेवल डाउन जैसी स्थिति लगभग सभी की हो जाती है. ऐसा इसलिए भी होता क्योंकि गर्मी में अक्सर लोग खाना पीना कम कर देते हैं इसलिए थकान भी जल्दी ही हो जाती है जबकि ऐसा नहीं करना चाहिए. अक्सर गर्मी में होने वाले फूड प्वॉइजिंग से लोग परेशान हो जाने के डर से कम खाते हैं और थकान से भरे रहते है. गर्मियों में फूड प्वॉइजिंग से होता है लोगों का हाल बेहाल, अब अगर आपको भी इस बार की गर्मी में होने वाले फूड प्वॉयइजिंग से बचना है तो कुछ टिप्स तो लेनी ही होगी जिससे आपकी गर्मी रहे हर बार से ज्यादा कूल.

गर्मियों में फूड प्वॉइजिंग से होता है लोगों का हाल बेहाल

गर्मी के मौसम में फूड प्वॉइजिंग की समस्या बहुत आम बात है ऐसा इसलिए क्योंकि इस मौसम में शरीर की पाचन क्षमता कमजोर हो जाता है. इसके अलावा गर्मी के मौसम में खाने-पीने की चीजें जल्दी खराब हो जाती है और इससे संक्रमण का खतरा भी बढ़ जाता है. फूड प्वॉइजिंग होने पर आमतौर पर पेट में दर्द, उल्टी और मल जैसी समस्याएं शुरु हो जाती है. अगर आपको बार-बार उल्टी, दस्त और पेट दर्द की समस्या होने लगे तो ये फूड प्वॉइजिंग के संकेत होते हैं और ये होने पर आपकी मदद कुछ घरेलू नुस्खे से हो सकती है.

1. फूड प्वॉइजिंग में केला बहुत फायदेमंद होता है क्योंकि इसमें पोटैशियम होता है जो पेट के संक्रमण को कम करने में मदद करता है. केले को दही में मैश करके खाने से दस्त जल्दी ठीक होती है.

2. एक चम्मच अदरक का रस पीकर आधा गिलास पानी पी लें. अदरक एंटीबैक्टीरियल और दर्द निवारक होती है जो संक्रमण को खत्म कर देती है.

3. फूड प्वॉइजिंग के उपचार में ज्यादा से ज्यादा ध्यान दिया जाता है कि मरीज को पानी की कमी ना हो जाए. इसमें चीनी-नमक का घोल या इलेक्ट्रॉल का घोल देते चाहिए.रहना

4. जीरे का प्रयोग करने से फूड प्वॉइजिंग जल्दी ठीक होता है. इसके लिए एक चम्मच भूने जीरे को पीसकर अपने सूप में मिलाकर पिएं, फायदा मिलेगा.

5. नींबू का रस एसिडिटी फूड प्वॉइजिंग के बैक्टीरिया को खत्म करता है. इसलिए इसे फूड प्वॉइजिंग में सबसे ज्यादा लाभकारी माना जाता है.

फूड प्वॉइजिंग ठीक होने पर कुछ ना करें ये काम

1. एक साथ ज्यादा खाना ना खाएं, बल्कि थोड़ा-थोड़ा खाएं.

2. खाने में घी और तेल का इस्तेमाल बिल्कुल नहीं करें कम से कम ठीक होने के दो से तीन महीने तक.

3. मैदे से बनी चीजों का इस्तेमाल बिल्कुल नहीं करें.

4. मसाले से बनी कोई भी चीज का सेवन नहीं करें इससे बचने की कोशिश करें.

5. कुछ दिनों तक मीठी चीजों से दूर रहे कम से कम 2 महीने तक.