विशेष

राजस्थान से उड़ाने भरने वाला था मिराज 2000, अचानक से भारतीय वायुसेना ने बदल दिया अपना प्लान

पाकिस्तान के आतंकियों को धूल चटाने और उनके टैरर कैंप को धवस्त करने के लिए जो भारतीय हमला किया गया था वो सफल रहा। अभी हमारे देश के एक पॉयलट पाकिस्तान के कब्जे में हैं, लेकिन भारत उन्हें भी जल्द छुड़ाने का प्रयास कर रहा है। पुलवामा हमले से एक बार फिर शुरु हुआ ये हमला एकदम से ही अचानक से नहीं किया गया था। आतंकियों के ठिकानों को खत्म करने के लिए वायुसेना उड़ान भरने के लिए वायुसेना को हरी झंडी दे दी गई थी। यहीं से मिराज 2000 को रवाना करने के लिए उनमें ईंधन भरने के लिए आगरा से रिफ्यूलर IAL-  78 विमान भी भेजा गया था

राजस्थान से मिराज 2000 विमानों को भरनी थी उड़ान

लड़ाकू विमानों को अकेले नहीं भेजा गया था उन्हें कवर करने के लिए वायुसेना के जगुआर विमान भी साथ में थे। तीन दिनों तक इसकी जबरदस्त प्रशिक्षण किया गया था। महराजपुरा में बालाकोट, मुजफ्फराबाद और चकोटी के नक्शे बनाकार चिन्हित ठिकानों को बताया गया था। यहां एक्सपर्ट ने चुने हुए पॉयलटों को बताया था का किस स्थान पर किसे टारगेट करना है।

बता दें कि वायुसेना ने महाराजपुरा के अलावा राजस्थान के भी एक एय़रबेस पर इसी तरह की तैयारी की थी। माना जा रहा था कि पहले राजस्थान से मिराज 2000 विमानों को उड़ान भरनी थी, लेकिन रात मे महाराजपुरा से विमानों ने उड़ान भरी। ऐसा सिर्फ सामने वाले को चकमा देने के लिए औऱ असमंजस मे डालने के लिए किया गया था। महाराजपुरा से तड़के 2.30 बजे से मिराज 2000 रवाना हुए। मिराज में हवा में फ्यूल भरने के लिए आगरा से रिफ्यूलर आईएल-78 विमानों ने भी उड़ान भरी थी। बता दें कि जो बम लेकर विमान उड़ान भरते हैं उनमें ईंधन कम ही लिया जाता है।

इसके बाद मिराज को कवर करने के लिए आदमपुर से जहुआर लड़ाकू विमान भी उड़ान  पर थे। आगरा में भी 4 और रिफ्यूलर आईएएळ-78 को तैयार रखा गया था। जगुआर मिराज विमानों की निगरानी औऱ वीडियोग्राफी कर रहे थे। इसके बाद मिराज 2000 ने करीब 1000 किलो को बम जैश ए मोहम्मद के टैरर लॉन्च पैड पर गिराए और अपने जवानों की शहादत का बदला लिया।

भारतीय पॉयलट लापता

इस एयर स्ट्राइक में करीब 300 आतंकवादियों के मारे जाने की खबर सामने आई है। साथ ही मसूद अजहर के साले यूसूफ अजहर को भी सेना ने मार कर बड़ी कामयाबी हासिल कर ली। इसके बाद गुजरात के कच्छ में पाकिस्तान के ड्रोन को भी भारतीय सेना ने मार गिराया। वहीं पाकिस्तान ने भी हमारी सीमा मे घुसपैठ करने की कोशिश की और उनके विमान धवस्त कर दिए गए।

हालांकि जवाबी हमले के दौरान भारतीय वायुसेना का एक विमान मिग पाकिस्तान के सीमा में गिर गया औऱ हमारे एक प़ॉयलट लापता हैं। पाकिस्तान की तरफ से वीडियो जारी कर बताया गया है कि सेना ने उन्हें अपने पास सुरक्षित रखा है और उनका खास ख्याल रख रही है। जिनेवा संधि के मुताबिक पाकिस्तानी सेना के पास अगर युद्धबंदि है तो उनका बाल भी बांका नहीं किया जा सकता। अब भारत की सबसे बड़ी कोशिश यही है की जल्द से जल्द लापता विमान पॉयलट को सुरक्षित भारत लाया जाए।

यह भी पढ़ें

Show More

Related Articles

Back to top button
Close