इन तीन महिलाओं ने दुकान में घुसकर की ऐसी शर्मनाक हरकत, जिसे देखकर हो जायेंगे आप दंग…. वीडियो वायरल!

दुनियाँ में आये दिन ऐसी-ऐसी घटनाएं होती हैं, जिसे देखने के बाद अपनी आँखों पर विश्वास नहीं होता है। अक्सर हम बुजुर्ग महिलाओं को सम्मान देते हैं और उनके बारे में यही राय रखते हैं कि ये कभी कोई गलत हरकत को अंजाम नहीं देंगी। उनके बारे में ऐसा इसलिए कहा जाता है, क्योंकि उनके पास लम्बी उम्र का तजुर्बा होता है। उन्हें अच्छे से पता होता है कि क्या सही है और क्या गलत है। अगर मैं कहूँ की आप गलत हैं तो आपको यकीन नहीं होगा, लेकिन यहाँ आगे आपको खुद पता चल जायेगा।

कानून की नज़र में चोरी केवल चोरी होती है:

चोरी अगर अपनी भूख मिटाने के लिए की जाती है तो उसे समाज की नजर में उतनी बड़ी बुराई नहीं माना जाता है। लेकिन कानून की नजर में चोरी, चोरी होती है, चाहे वह भूख मिटाने के लिए की जाए या अपने ऐशो-आराम के लिए किया जाए। आज हम आपको एक ऐसा वीडियो दिखाने जा रहे हैं, जिसे देखने के बाद आपका यह भ्रम टूट जायेगा कि बुजुर्ग महिलाएँ कोई गलत काम नहीं कर सकती हैं। कम से कम इन तीन महिलाओं को देखने के बाद तो यही कहा जा सकता है। इस समय महिलाओं का यह वीडियो सोशल मीडिया पर तेजी से वायरल हो चुका है।

महिलाओं ने दिया शर्मनाक हरकत को अंजाम:

दरअसल तीन बुजुर्ग महिलाएँ सलवार-सूट पहनकर एक कपड़े के दुकान में जाती हैं। महिलाएँ दुकानदार को पैंट दिखाने के लिए बोलती हैं। दुकानदार उन्हें पैंट दिखाने लगता है। जैसे ही दूकानदार एक पैंट उन्हें दिखाकर, दूसरे पैंट को लेने जाता है, महिलाएँ एक पैंट उठाकर अपने बैग में रख लेती हैं। ऐसे ही करके महिलाओं ने एक-एक करके तीन पैंट चुराकर अपने बैग में रख लिया। महिलाएँ खुद को बहुत शातिर समझती थीं, लेकिन उन्हें शायद यह नहीं पता था कि दुकान में CCTV कैमरा लगा हुआ है। महिलाओं कि यह शर्मनाक हरकत कैमरे में कैद हो गयी।

महिलाएँ खुद को समझ रही थीं शातिर:

आप वीडियो में साफ़ तौर पर देख सकते हैं कि तीन महिलाओं में से एक कुछ ज्यादा ही शातिर है। वह दूकानदार को कपड़े दिखाने के लिए कहती है। जैसे ही दूकानदार कपड़े लाने जाता है, महिलाएँ कपड़े चोरी करके बैग में रख ले रही हैं। महिलाओं के इस नापाक और शर्मनाक हरकत से इस समय पूरा देश परिचित हो चुका है।

वीडियो देखें:

https://www.youtube.com/watch?v=0eAu9mDygSE

Leave a Reply

Your email address will not be published.