मुख्य समाचार

6 करोड़ नहीं दे पाया तो मायावती ने निकाल दिया बाहर’ ये कैसा दलित हित…?

यूपी चुनाव से पहले बीएसपी ने अपने बड़े नेता राम भुआल निषाद को पार्टी से बाहर का रास्ता दिखा दिया है। बता दें कि राम भुआल पूर्व कैबिनेट मंत्री भी रह चुके हैं। राम भुआल पर पार्टी के खिलाफ काम करने का आरोप है।

पार्टी से बाहर चल रहे राम भुआल ने कहा कि इसी महीने की तीन तारीख को बीएसपी अध्यक्ष मायावती और लालजी वर्मा ने टिकट के लिए 6 करोड़ रूपये की मांग की। उन्होंने कहा कि इसके लिए वो तैयार नहीं थे और इसी वजह से उन्हें पार्टी से निकाला गया है। राम भुआल ने कहा कि उन्होंने 18 साल तक पार्टी की तहे दिल से सेवा की। उन्होंने पार्टी पर आरोप लगाया कि पार्टी होरखपुर से किसी और को टिकट देना चाहती है। उन्होंने कहा कि वो जनता की अदालत में जाकर अपने लिए न्याय मांगेंगे और पार्टी को सबक सिखाएंगे।

वहीं बीएसपी का कहना है कि राम भुआल की पार्टी विरोधी गतिविधी में शामिल होने की वजह से ऩिष्कासित किया गया है।

Related Articles

Close