सिंगल मदर हैं तो भी जीवन में आ सकता है सही पार्टनर, बस इन बातों का रखना होगा ध्यान

जीवन के मोड़ पर एक पार्टनर की जरुरत होती है। कई बार नियति के चलते वह पार्टनर दूर हो जाता है या फिर अलग रहने लगता है। ऐसे में महिलाओं को फिर किसी सही पार्टनर की जरुरत पड़ती है। ऐसा नहीं है कि सिंगम मदर अपने बच्चों का ख्याल अकेले नहीं रख सकती, लेकिन बिना पार्टनर के ये काम जरा मुश्किल होता है। सिर्फ इतना ही नहीं अगर कम उम्र पर ही आपका पार्टनर आपसे दूर हो गया हो तो फिर बाकी की जिंदगी बिताना भी काफी मुश्किल भरा हो जाता है। आप भी अपने लिए दोबारा पार्टनर ढूंढ सकती हैं जिससे आपकी जिंदगी आसान हो सकती है, लेकिन इन बातों का ख्याल रखना होगा।

अपने साथ बच्चों का भी रखे ध्यान

एक सिंगल लड़की के तौर पर पार्टनर ढूंढना औऱ एक सिंगल मदर के तौर पर पार्टनर ढूंढने में फर्क होता है। आपको एक ऐसे साथी की जरुरत होती है जो आपके साथ साथ आपके बच्चे का भी ख्याल रख सकें। इसके लिए सबसे पहले अपने पूराने साथी की यादों को दिल से निकालकर नई शुरुआत करें। एक ऐसी पार्टनर की तलाश करें जिसके साथ आप और आपका बच्चा दोनों खुश रह सकता हो।

बच्चा भी हो खुश

अकेले होने पर आपकी सोच दूसरी हो सकती है, लेकिन जब आपके साथ आपका बच्चा होता है तो आपको जीवन के कई फैसले बहुत सोच समझ कर लेने होते हैं। ऐसा पार्टनर चूज करें जिसे देखकर आपका बच्चा भी खुश हो। जैसे आपके लिए आपका बच्चा सबकुछ है वैसे उसके लिए उसकी मां ही सबकुछ है। ऐसे में भूले भटके किसी भी लड़को को आप डेट नहीं कर सकती हैं। अब आपके पास जिम्मेदारी हैं इसलिए पार्टनर ऐसा होना चाहिए जिसको आपके बच्चे भी पसंद करते हों।

ना बढ़ाएं नजदीकियां

कई बार अकेल रहते रहते लोग काफी डेसप्रेट हो जाते हैं और किसी के थोड़ा भी करीब आने पर उसके कुछ ज्यादा ही करीब चले जाते हैं। ये गलती करने से बचें। अगर कोई आपको पसंद आ रहा है तो जब तक उसके साथ आपका रिश्ता एकदम पक्का ना हो जाए बहुत ज्यादा नजदीकियां ना बढ़ाएं। कई बार ज्यादा करीब आ जाने से धोखा भी मिल सकता है या फिर दिल भी टूट सकता है। ऐसे में एक दूसरे के साथ वक्त बिताएं ताकी एक दूसरे को समझ सकें, लेकिन इतने करीब ना जाएं की फिर अगर अलग होना पड़े तो आपके लिए दूरी सहना मुश्किल हो जाए।

कम्फर्ट पर दें ध्यान

चाहे आप ऑनलाइन डेटिंग कर रही हों या किसी से मिलजुल कर रिश्ते बढ़ा रही हों अपने कम्फर्ट पर ध्यान दें। सिर्फ इसलिए की आपको किसी की जरुरत है सामने वाले की हर बात ना मानें। अगर कोई चीज करने में आप असहज महसूस कर रही हैं तो फिर उस काम को ना करें। अगर आपका पार्टनर अभी आपकी बातें नहीं समझ रहा हैतो फिर आगे चलकर दिक्कतें और बढ़ने ही वाली हैं। ऐसे में अपने लिए ऐसा पार्टनर चुनें जिसके साथ आप भी सहज रह सकें साथ ही आपके परिवार को भी किसी तरह की दिक्कत ना हो और आपके बच्चों के लिए भी वह सही फैसला हो।

यह भी पढ़ें