फिट रहने के लिए विराट फॉलो करते हैं ये फेमस डाइट, आप भी कर सकते हैं

बॉलीवुड में हिरोइनों की पतली कमर और हीरो की सॉलिड बॉडी देखकर आपके मन में भी ख्याल आता है कि इनके जैसी बॉडी अपनी भी बन जाए। हालांक आप गौर करेंगे तो पाएंगे की बॉलीवुड इंडस्ट्री में हर कोई फिट नजर नहीं आता, लेकिन एक ऐसी इंड्सट्री भी हैं जहां सभी चुस्त दुरुस्त और फिट नजर आते है। ये है खेल जगत जहां के सभी खिलाड़ी आपको हमेशा फिट दिखेंगे। इन्हीं में से एक खेल है क्रिकेट जिसमें भारतीय फैंस की कोई कमी नही है।

भारतीय टीम के क्रिकेट कप्तान विराट कोहली सिर्फ अपने खेल के लिए ही नहीं बल्कि अपने गुड लुक्स और फिटनेस के लिए भी लोगों के बीच फेमस हैं। आपको बताते हैं कि विराट खुद को फिट बनाने के लिए कैसी डाइट का इस्तेमाल करते हैं और यकीन है की आप यह जानकर चौकेंगे भी।

विराट को फॉलो करते हैं वेगन डाइट

आपको बता दें कि विराट कोहली वेगन डाइट से खुद को फिट रखते हैं। वेगन डाइट का मतलब है पूरी तरह से शुद्ध शकाहारी भोजन और किसी भी तरह की मीट या मांस का इस्तेमाल ना करना। अक्सर लोगों के मन में यह धरणा बनी रहती है कि अगर शरीर में ताकत चाहिए तो मीट मांस का सेवन करना जरुरी है, लेकिन ऐसा नहीं है। बहुत सारे सेलिब्रिटीज हैं जों शुद्ध रुप से शकाहारी भोजन खाते हैं और उनें गजब की ताकत है। विराट कोहली के फिटनेस का राज भी वेगन डाइट है औऱ उनकी फिटनेस के तो आप भी कायल होंगे।

क्या है वेगन डाइट

आपने वेगन डाइट का नाम कई बार मीम के जरिए भी सुना होगा। मांसाहार का इस्तेमाल करने वाले लोग वेगन डाइट वालों को कम समझते हैं। हालांकि वेगन डाइट का इस्तेमाल धीरे धीरे काफी बढ़ गया है और लोग इसकी तरफ आकर्षित हो रहे हैं। वेगन डाइट पूरी तरह से वह खान पान होता है जिसमें मांसाहार का नामो निशान ना हो। इसमें हरी सब्जियां, दाल, दूध औप प्रोटीन और विटामिन की कई चीजें शामिल हैं।वेगन डाइट के लोकप्रिय होने की एक वजह लोगों के पर्यावरण की तरफ बढ़ता ध्यान भी है। मांस के सप्लाई के लिए बड़ी तादाद में जानवरों का इस्तेमाल किया जाता है और इसमें कमी लाने के लिए लोग वेगन डाइट की ओर बढ़ रहे हैं।

कितने तरह की होती है वेगन डाइट

होल फूड

इसमें कई तरह के अनाज का इस्तेमाल किया जाता हबै। जैसे फल सब्जियां, साबुत अनाज, नट्स। इससे शरीर को ताकत मिलती है साथ ही पेट भी लंबे समय तक भरा रहता है।

रॉ फूड

इसमें कच्चे फल, सब्जियां, नट्स या बीज को भोजन में शामिल करते हैं। इसे पूरी तरह से कच्चा नहीं खाते बल्कि 118 F पर पकाया जाता है। इससे वेट नहीं बढ़ता औऱ .यह वेट को कंट्रोल रखता है।

80/10/10

ये एक रॉ फूड वेगन डाइट है जो वसा युक्त पौधों जैसे नट और एवोकैडो को सीमित करता है। इसमें कच्चे फल और नरम साग का इस्तेमाल किया जाता है।

स्टार्च घोल

इसमें कम वसा वाला और उच्च कार्ब वाले शाकाहारी भोजन का इस्तेमाल किया जाता है। इसमे फल की जगह पके हुए स्टार्च जैसे आलू, चावल और मकई जैसे भोजन का इस्तेमाल करते हैं।

थ्राइव डाइट

इसमें प्लांट बेस्ड फूड का ज्यादा इस्तेमाल होता है। यह कच्चे होते हैं या बेहद ही कम तापमान पर पकाए जाने वाले होते हैं।

वेगन डाइट के लाभ

वेगन डाइट आपको कई तरीके से फायदा पहुंचाती है। इससे शरीर का वेट बैलेंड्स रहता है। शरीर के लिए जरुरी सभी पोषक तत्व इस डाइट क फॉलो करने से मिलता है। इससे हाई बीपी की समस्या और कैंसर तक की बीमारियों के जोखिम को कम करने का काम करता है।

यह भी पढ़ें :