राजस्थान में प्रचार कर रहे सीएम योगी ने बताई राम भक्त हनुमान की जाति

अभी तक तो सिर्फ राजनेताओं की जाति को लेकर बयानबाजी होती रहती थी, लेकिन अब भगवान की जाति को लेकर भी बयान दिए जा रहे हैं। प्रभु श्री राम के परम भक्तनुमान जी की जाति को लेकर सीएम योगी ने बयान दिया है।  सीएम योगी इन दिनों राजस्थान में विधानसभा चुनाव प्रचार कर रहे हैं। अलवर के माला खेड़ा गांव में मंगलवार को एक जनसभा को संबोधित करते हुए सीएम योगी ने हनुमान जी की जाति पवर बड़ा बयान दिया है। बता दें कि  राजस्थान में सीएम योगी बीजेपी के स्टार प्रचारक हैं और वहां चुनावी रणनीति अपना रहे हैं।

बजरंग बली हैं दलित

सीएम योगी ने जनसभा को संबोधित करते हुए कहा कि बजरंग बली दलित हैं। उन्होंने चौपाइयों के जरिए मतदाताओं से अपील की की वह बीजेपी को वोट दें। यूपी की सत्ता पर काबिज सीएम योगी ने कहा कि एक ऐसे लोकर दवेता है जो अब स्वयं वनवासी है, गिरवासी हैं, दलित हैं, वंचित है। पूरे भारतीय समाज को लेकर उत्तर से लेकर दक्षिण तक औऱ पूरब से लेकर पश्चिम तक सबको जोड़ने का काम बजरंग बली करते हैं इसलिए बजरंग बली की संकल्प होना चाहिए। उन्होंने चौपाइयां दोहराईं औऱ लोगो को बीजेपी के जीत के लिए अपील की।

गौरतलब है की सीएम योगी को उनकी कट्टर हिंदू छवि के लिए जाना जाता है। बीजेपी के वह सबसे लोकप्रिय स्टार प्रचारक भी हैं। राजस्थान में बीजेपी के जीत  लिए वह एक के बाद एक सभाएं भी करते जा रहे हैं। गौरतलब है कि राजस्थान विधानसभा चुनाव में बस कुछ ही दिन औऱ बचे हैं। ऐसे में जनता को हर तरह से प्रेरित करने के लिए सीएम योगी हर संभव प्रयास कर रहे हैं।

राम भक्त दें वोट

जनता को कांग्रेस के खिलाफ निशाना साधते हुए उन्होंने हिंदूत्व का सहारा लिया। सीएम योगी ने कहा कि चुनाव भक्त राम को वोट दें और रावण भक्त कांग्रेस को वोट दें। योगी आदित्यनाथ ने कहा कि बीजेपी औरंगजेब जैसे लोगों की रक्षा कर सकती है, राम राज्य के लिए बीजेपी के उम्मीदवार को जिताएं।

नाराज हैं दलित

गौरतलब है कि हनुमान जी को दलित बताने के पीछे राजस्थान के दलितों की नाराजगी दूर करना है। राजस्थान के दलित नाराज है और इसके पीछे कई वजह है। पहली वजह यह है डांगावास कांड में पांत दलित के साथ छह लोगों की हत्या कर दी गई थी जिसकी वजह से दलितों में नाराजगी थी। दूसरी वजह यह थी कि नोखा बीकानेर के डेल्टा मेघवाल आत्महत्या मामले में सीबीआई जांच नहीं हुई थी। तीसरी सबसे खास वजह यह है कि एससी-एसटी एक्ट में बदलाव को लेकर भारत बंद दलितों द्वारा किया गया था। उस वक्त भारी संख्या में दलितों की गिरफ्तारी भी हुई थी।

इन तमाम बातों के चलते वहां का दलित समुह नाराज चल रहा है और इसका असर वोट पर भी पड़ सकता है। राजस्थान में बीजेपी को कई उप चुनाव में हार भी इसी कारण मिली है। वंसधरा राजे के खिलाफ वहां के दलित गुस्से में हैं। ऐसे में बीजेपी ने राजस्थान फतेह करने के लिए सीएम योगी को वहां भेजा है। सीएम योगी हनुमान जी की दलित बता कर वहां के लोगों की नराजगी दूर करने में लगे हैं। अब देखना होगा की सीएम योगी का जादू राजस्थान में क्या करामात दिखाता है।

यह भी पढ़ें :