रिलेशनशिप्स

इन बातों से पता चलता है कि मां है आपकी बेस्ट फ्रैंड

जब भी कभी आपको एहसास हो कि आप बहुत बड़े हो गए हैं और जिंदगी बहुत गंभीर हो चली है तो बस कुछ पल के लिए अपनी मां के पास बैठ जाएं। आप भूल जाएंगे कि जिंदगी में कोई टेशन भी है। एक मां के लिए 70 साल की उम्र का बुजुर्ग भी बच्चा ही रहता है। आप चाहे कितनी भी उम्र के क्यों ना हो जाए, मां आपको ऐसे ही प्यार करेंगी जैसे आप गोदी के बच्चे हों। मां के प्यार का तो कोई मोल ही नही है। वैसे तो यह बताने की जरुरत नही है कि मां कैसे आपका ख्याल रखती है, लेकिन फिर भी कई बार उन बातों पर आपको गौर करने की जरुरत है। जरुरी नही है कि मदर्स डे के दिन ही मां को याद करें।

तो आज क्या किया

चाहे आप स्कूल से आ रहे हों, कॉलेज से या फिर ऑफिस से ….मां का यही सवाल रहता है कि दिन भर क्या किया। स्कूल के वक्त आपकी बहुत सी बातें रहती हैं , लेकिन कॉलेज और ऑफिस वाली बातें कम होने लगती हैं। आपकी बातें भले कम होने लगे, लेकिन आपकी मां का यह सवाल कभी नहीं बदलता। उनके पास बैठें, उनसे अपनी बात शेयर करें। यह सिर्फ उनको ही नहीं बल्कि आप को भी अच्छा लगेगा।

ये क्या पहन रखा है

मांओं के ऐसे सवाल लड़कियों के लिए खासतौर पर होते हैं। वह हमेशा इस चिंता में रहती हैं कि उनकी बेटी कहीं ऐसे वैसे कपड़े ना पहन लें। दरअसल हमारे देश में अगर कुछ भी ल़ड़की के साथ बुरा होता है तो उसका सबसे पहला निशाना मां की परवरिश पर जाता है। एक मां हमेशा अपने बच्चों का ध्यान रखती है। हालांकि वह अपने बेटों को भी कपड़े के मामले में नहीं बख्शती। अगर बाल खड़े हैं और शर्ट हुई है तो आपको अच्छा खासा लेक्चर सुनने को मिल सकता है।

मां है बेस्टफ्रेंड

यह प्राकृतिक रुप से बड़ी आम बात है कि बच्चे अपने पिता से कहीं ज्यादा मां से जुड़े होते हैं। लड़कियां तो जहां बड़े होते होते अपनी मां की बेस्ट फ्रेंड बन जाती हैं तो वहीं लड़के भी अपने दिल का हाल मां को ही बताते है। कोई लड़की पसंद आई हो तो सबसे पहले मम्मी को बताना है।आखिर पापा से रिश्ते की बात मम्मी ही करेंगी।

खाना मत भूलना

एक मां के लिए सबसे जरुरी बात होती है कि उसके बच्चे ने खाना खाया या नहीं। उन्हें हमेशा इस बात की चिंता लगी रहती है कि कहीं मेरा बच्चा अपना खाना दूसरों को ना खिला दें। वह हमेशा टिफिन देते समय यह बात जरुर बोलती हैं कि अपना खाना खुद खाना ,दूसरे को मत खिला देना। उन्हेम हमेशा अपने बच्चों की फिकर रहती हैं। वह भले ही खुद कम खाएं, लेकिन अपने बच्चों को हमेशा अच्छे से खाना खिलाती हैं।

प्रॉबल्म सॉल्वर

एक मां के खास होने की कोई गिनती ही नही हो सकती। मां में ढेर सारा प्यार छुपा होता है औऱ सारी समस्या का हल भी। जब आप उनके पास बैठते हैं औऱ अपनी सारी बात कहते हैं तो आपकी बहुत सी समस्या वह चुटकी में हल कर देती हैं। जब आपकी मां आपके लिए इतना कुछ कर देती हैं तो जरुरी है कि आप उन्हें समय दें और उनका ख्याल रखें।

यह भी पढ़ें :

Related Articles

Close