राजनीति

राम मंदिर के मुद्दे पर अपनी ही पार्टी के खिलाफ उतर आए ये नेता, कहा- जल्द हो निर्माण

राम मंदिर का मुद्दा बीजेपी के लिए इतना बड़ी मुद्दा बन चुका है कि इस पार्टी के अपने ही लोग खिलाफत पर उतर आए हैं। अयोध्या में राम मंदिर बनाने के मामले में बीजेपी नेता और विधायक सुरेंद्र सिंह ने पीएम मोदी और सीएम योगी को शक्तिशाली होने के बाद भी राम मंदिर ना बनवा पाने पर तंज कसा है। सुरेंद्र सिंह ने कहा कि हमारे पास नरेंद्र मोदी जी जैसा पीएम है और य़ोगी आदित्यनाथ जैसे सीएम हैं। दोनों हिंदुत्व को मानते हैं, लेकिन दुर्भाग्यवश उनके शासनकाल में भगवान राम टेंट में हैं।

खिलाफ हो रहे विधायक

सुरेंद्र सिंह ने कहा कि यह भारत के लिए दुर्भाग्य की बात है। अब ऐसी स्थिति बननी चाहिए जिससे अयोध्या में भगवान राम का मंदिर जरुर बनें और निर्माण में और देरी नहीं होनी चाहिए।भगवान संविधान से ऊपर हैं। ऐसे में अयोध्या में तय स्थान पर भगवान का मंदिर जल्द से जल्द बनना चाहिए। गौरतलब है कि चुनावी दौर में राम मंदिर के मुद्दे ने बीजेपी की नींद उड़ाई हुई है। अब तक जनता और विपक्ष ही राम मंदिर के निर्माण की मांग कर रहे थे, लेकिन अब उनके पार्टी के नेता भी उने खिलाफ होते नजर आ रहे हैं।

दिनेश शर्मा ने की मांग

पिछले दिनों यूपी के उपमुख्यमंत्री दिनेश शर्मा ने कहा था कि जब भगवान राम चाहेंगे तब अयोध्या में मंदिर बन जाएगा। हर कार्य भगवान ही करते हैं।बीजेपी ने संकल्प पत्र मे भी राम मंदिर पर अपना पक्ष रखा है। इसी गहमागहमी के बीच यूपी के धर्मार्थ कार्य मंत्री लक्ष्मी नारायण चौधरी ने कहा था कि अगे साल होने वाले लोकसभा चुनाव से पहले अयोध्या में राम मंदिर का शिलान्यास निश्चित तौर पर होगा औऱ सीएम योगी आदित्यनाथ ही शिलान्यास करेंगे।

सीएम योगी करेंगे शिलान्यास

योगी सरकार के कैबिनेट मंत्री लक्ष्मी नारायण चौधरी मे कहा कि आज भारत का जनमानस अयोध्या में भगवान श्रीराम का मंदिर चाहता है। इसलिए चाहे राजनेता हो, न्यायपालिका या फिर कार्य पालिका हो, सभी को जनभावना का आदर करना चाहिए। उन्होंने कहा कि 2019 के लोकसभा चुनाव से पहले राम जन्मभूमि अयोध्या में राम मंदिर जरुर बनेगा और सीएम योगी आदित्यनाथ ही शिलान्यास करेंगे, इसमें कोई संदेह नही है।

बाबरी मस्जिद के पक्षधर का बयान

बता दें कि इससे पहले बाबरी मस्जिद के पक्षधर इकबाल राम मंदिर के विषय में अपना बयान दे चुके हैं। इकबाल अंसारी का कहना था कि इस मसले पर अगर कोर्ट के बार कोई कानून बनता है तो उसे मुसलमान नहीं मानेगा। उनका कहना था कि जब भी चुनाव आता है तो तमाम लीडरों को राम और राम मंदिर याद आने लगता है। उन्होंने कहा था कि मामला सुप्रीम कोर्ट में है औऱ हम चाहते है कि फैसला कोर्ट के माध्यम से हो। कोर्ट जो भी फैसल करेगा उसे मुसलमान मानेगा। जब हिंदुस्तान का संविधान मुसलमान मान रहा है तो फिर हिंदुस्तान कोर्ट की बात भी मुसलमान मानेगा।

सीएम योगी का वादा

वहीं दूसरी तरफ सीएम योगी भी पूरी तरह से राम मंदिर बनाने के वांदे पर जुटे हुए हैं। उन्होंने कहा था कि राम मंदिर क निर्माण जरुर होगा  बहुत ही भव्य मंदिर बनेगा। साथ ही उन्होंने कहा था कि भगवान राम की मूर्ति को लेकर आर्किटेक्चर से बातचीत हो रही थी।

यह भी पढ़ें

Show More

Related Articles

Back to top button