इन दो कॉमेडी किंग्स की जोड़ी ने दी थी सुपरहिट फिल्में, तीसरे नंबर की तो है सबकी फेवरेट

न्यूजट्रेंड बॉलीवुड डेस्कः कादर खान ने 22 अक्टूबर को अपना 81 वां जन्मदिन मनाया। कादर खान आज भले ही फिल्मी पर्दे से दूर हों, लेकिन एक वक्त ऐसा था जब पर्दे पर उनकी कॉमेडी ने लोगों को पेट में दर्द कर दिया था। उनकी कॉमेडी की सबसे खास बात यह होती थी कि उसमे बिल्कुल भी अश्लीलता नहीं होती थी। अपनी फिल्मों से कादर खान ने लोगों को हंसाया भी और अपनी दमदार एक्टिंग से लोगों को चौंकाया भी। उनकी कॉमेडी की जुगलबंदी सबसे ज्यादा गोविंदा के साथ बैठी। कभी फिल्म में बने पिता तो कभी ससुर, लेकिन कादर खान और गोविंदा की जोड़ी ने दी हैं एक से बढ़कर एक सुपरहिट फिल्म।

राजा बाबू

1994 में आई गोविंदा और करिश्मा की राजा बाबू में कादर खान ने गोविंदा के पिता का रोल निभाया था। इस फिल्म में गोविंदा ने एक अडॉप्टेड बेटे का रोल निभाया था जो पिता के पैसे की कोई कदर नहीं करता है। इस फिल्म की कॉमेडी और दोनों का देसी अंदाज लोगों को बहुत पसंद आया था।

कुली नंबर 1

1995 में रिलीज हुई कुली नंबर वन में गोविंदा ने कुली का किरदार निभाया था। इस फिल्म में कादर करिश्मा के पिता थे और गोविंदा के ससुर के रोल में थें। इस फिल्म में भी कादर और गोविंदा की जुगलबंदी लोगों को बहुत अच्छी लगी थी।

साजन चले सुसराल

1996 में आई साजन चले ससुराल में गोविंदा की दो हिरोइन थीं एक करिश्मा और एक तब्बू। इस फिल्म में कादर ने तब्बू के पिता और गोविंदा के ससुर का रोल निभाया था। दो पत्नियों को बीच फंसे एक पति की कहानी ने दर्शकों का दिल लूट लिया था।

हीरो नंबर 1

1997 में फिल्म हीरो नंबर 1 में गोविंदा ने कादर के बेटे का रोल निभाया था। इस फिल्म के शुरुआत में कादर ने एक कड़क पिता का रोल निभाया था जो अपने बेटे को वक्त के जंजीरो में बांध कर रखता था।जब गोविंदा घर से भाग जाते हैं तो कादर को अपनी गलती का एहसास होता है। यह फिल्म भी अपने समय की सुपरहिट फिल्म थी।

हसीना मान जाएगी

1999 में हसीना मान जाएगी फिल्म में कादर खान संजय दत्त और गोविंदा के पिता बने थे। इस फिल्म में पिता और बेटों की खट्टी मिठी नोंक झोंक दिखाई गई थी। इस फिल्म में गोविंदा ने चाचा का किरदार भी निभाया था।

खुल्लम खुल्ला प्यार करें

2005 में आई फिल्म खुल्लम खुल्ला प्यार करें में गोविंदा और कादर खान ना तो बाप बेटे के रोल में थे और ना ही ससुर दामाद के रोल में । इस फिल्म में गोविंदा कादर के नकली बेटे बने थे। फिल्म में गोविंदा की हिरोइन थीं प्रीति जिंटा।

अंखियों से गोली मारे

2002 की सुपरहिट फिल्म में गोविंदा के साथ थीं रवीना टंडन। इस फिल्म में गोविंदा और कादर खान ससुर दामाद के रोल में थे और लगभग पूरी फिल्म दोनों की नोक-झोंक पर थी जिसे दर्शकों ने बहुत पसंद किया था। फिल्म में कादर ने गुंडे का रोल किया था जो अपनी बेटी के लिए गुंडा दामाद ढूंढता है।

 आंटी नंबर वन

1998 की फिल्म आंटी नंबर वन में गोविंदा को कादर खान की अलग ही जोड़ी देखने को मिली थी। इस फिल्म में गोविंदा ने एक महिला का गेटअप लिया और कादर खान उस पर फिदा हो गए थे। इनकी साथ की गई आज भी कई फिल्में जब टीवी पर आती है तो लोग हंसने पर मजबूर हो जाते हैं।

यह भी पढ़ें

मिलिए बॉलीवुड के दिग्गज कॉमेडियंस के बेटों से, कॉमेडी से हटकर करते हैं कुछ ऐसा काम

सिर्फ पर्दे पर ही नहीं असल जिंदगी में भी इन विलेन से डरने लगे थे लोग