बदलते मौसम में खाएं इन 5 चीजों का हरा साग, मजे के साथ सेहत भी रहेगी दुरुस्त

ठंड के मौसम ने दस्तक दे दी है इस मौसम में लोगों को अपने खान-पान का भी खास ख्याल रखना चाहिए. इस बदलते मौसम में अगर किसी ने सावधानी नहीं बरती तो ज़ुखाम, बुखार और कई अन्य बीमारियों से जूझना पड़ता है. ठंड के मौसम में जितनी गर्म चीजें खाई जाती हैं वो उतनी शरीर के लिए लाभकारी होती हैं लेकिन अक्सर लोग अपनी मनमानी कर जाते हैं और इसका खामियाज़ा उन्हें भुगतना पड़ता है. इस मौसम में धूप ना निकलने के कारण रक्त का संचार ठीक से नहीं हो पाता और इस कारण सब्जियों में हरा साग खाने की सलाह दी जाती है. सब्जियों में हरे साग की भी कई तरह की वैराइटी आती है. बदलते मौसम में खाएं इन 5 चीजों का हरा साग, इसे खाने से आपको मजा भी मलेगा और आपकी सेहत भी अच्छी रहेगी.

बदलते मौसम में खाएं इन 5 चीजों का हरा साग

सर्दी आते ही हरी सब्जियों की बहार आ जाती है और बदलते मौसम में ही अगर आप हरी सब्जियां खाना शुरु कर देंगे तो आपके शरीर के लिए बहुत फायदेमंद साबित होता है.

सरसों का साग

सरसों का साग खाने में बहुत स्वादिष्ट होता है और इसके साथ ही यह सर्दियों में खाने से सेहत भी अच्छी रखता है. सरसों के साग में कैलोरी, फैट, कार्बोहाइड्रेट, फाइबर, शुगर, पोटेशियम, विटामिन ए, सी, डी, बी 12, मैग्नीशियम, आयरन और कैल्शियम की मात्रा भरपूर होती है. इसमें एंटीऑक्सीडेंट्स की मौजूदगी के कारण यह ना सिर्फ शरीर से विषैले पदार्थो को दूर रखता है बल्कि रोग प्रतिरोधक क्षमता को भी बढ़ाने में आपकी मदद करता है.

चने का साग

चने का साग खाने में पौष्टिक और स्वादिष्ट दोनो होता है. चने के साग में कार्बोहाइड्रेट, प्रोटीन, फाइबर, कैल्शियम, आयरन व विटामिन पाये जाते हैं और यह कब्ज, डायबिटिज, पीलिया जैसे कई तरह के रोगों में फायदेमंद होता है. चने का साग हमारे शरीर में प्रोटीन की कमी को भी पूरा करता है.

बथुए का साग

बथुआ में कई तरह की औषधीयों के गुण पाए जाते हैं. इसमें बहुत से विटामिन, कैल्शियम, फॉस्फोरस और पोटैशियम मौजूद होते हैं और इसे नियमित रूप से खाने से गुर्दे में पथरी होने का खतरा भी बहुत कम हो जाता है. इसके अलावा बथुआ खाने से गैस, पेट में दर्द और कब्ज की समस्या भी दूर हो जाती है.

चौराई का साग

चौलाई में कार्बोहाइड्रेट, प्रोटीन, कैल्शियम और विटामिन-ए, मिनिरल और आयरन पाया जाता है. चौलाई हर दिन खाने से शरीर में होने वाले विटामिन की कमी को काफी हद तक पूरा हो जाता है. यह कफ और पित्त का नाश करती है जिससे रक्त विकार भी दूर होते हैं.

मेथी का साग

सर्दी के मौसम में हरी सब्जियों की बहार आ जाती है और मेथी तो सब्जी मार्केट की रानी बन जाती है. मेथी में प्रोटीन, फाइबर, विटामिन सी, नियासिन, पोटेशियम, आयरन भरपूर मात्रा में मौजूद होता हैं. इसमें फोलिक एसिड, मैग्नीशियम, सोडियम, जिंक, कॉपर जैसे गुण भी मिलते हैं जो शरीर के लिए लाभकारी होते हैं. साथ ही यह हाई बीपी, डायबिटीज, अपच जैसी बीमारियों के लिए भी लाभकारी होती है.