लाड़ली लक्ष्मी योजना का लाभ, प्रमाण पत्र डाउनलोड, हेल्पलाइन नंबर की जानकारी

Ladli Laxmi Yojana in Hindi हमारे समाज में वैसे भी लड़कियों के लिए आज भी कई सारी मान्यताएं है यही कारण है कि लोग नहीं चाहते हैं कि उनके घर में बेटी का जन्म हो लेकिन दूसरी तरफ देखा जाए तो हमारे शास्त्रों में लड़कियों को जिन्हे लाड़ली और लक्ष्मी का रूप माना जाता है। इसलिए मान्यता यह भी है कि जिस घर में बेटी का जन्म होता है वहां लक्ष्मी विराजमान हो या फिर आपने कई बार सुना है कि जहां लड़की जन्म लेती है तो कहा जाता है कि आपके यहां लक्ष्मी हुई है। लेकिन इस आधुनिक जमाने में भी कुछ जगहों पर लड़का और लड़की में भेद समझा जाता है जिसकी वजह से लड़कियों का जन्म लेना मैं गवारा नहीं होता, वह नहीं चाहते हैं कि उनके यहां बेटियां जन्म ले बल्कि उन्हें बेटों की ज्यादा चाहत होती है। इन सभी बातों को ध्यान में रखते हुए सरकार बेटियों के हर कदम में उनका साथ देने के लिए और उनके परिवार का सहयोग करने के लिए एक नई पहल लाडली लक्ष्मी योजना की शुरुआत की है।

लाडली लक्ष्मी योजना

हालांकि कई राज्यों में तो इस पहल की शुरुआत हो चुकी है वहीं कई राज्यों में इस पर विचार किया जा रहा है। आपको बता दें कि जब से केंद्र सरकार में पीएम मोदी ने सत्ता संभाली है तब से लेकर अभी तक महिलाओं व लड़कियों को लेकर कई सारी नई योजनाओं का निर्माण हो चुका है। आज हम आपको इसी सरकारी योजना के बारे में बताने जा रहे हैं जो कि हाल ही में मध्य प्रदेश सरकार ने लड़कियों के हितों को ध्यान में रखकर शुरू किया गया है।

क्या है लाडली लक्ष्मी योजना

what is Ladli Laxmi Yojana in hindi?

आपको बता दें की हाल ही में मध्यप्रदेश सरकार ने बालिका जन्म के प्रति जनता में सकारात्मक सोच, लिंगानुपात में सुधार, बालिकाओं के शैक्षणिक स्तर तथा स्वास्थ्य स्थिति में सुधार और उनके उज्जवल भविष्य की आधारशिला रखने के उद्देश्य से साल 2007 से लाडली लक्ष्मी योजना लागू की। वही ये भी बताते चले कि इस योजना के सफलता को देखते हुए अन्य राज्यों ने भी ऐसी योजनाएं लागू कीं।

लाडली लक्ष्मी योजना

संभव है की शायद आपको इस बात की जानकारी ना हो मगर आपको बताते चलें कि साल 2001 में भारत सरकार ने मध्यप्रदेश में लिंगानुपात की जनगणना कराई थी जिसमे मध्यप्रदेश में महिलाओं के सशक्तिकरण और लड़कियों की शिक्षा के लिए मध्यप्रदेश सरकार की ओर से लाडली लक्ष्मी योजना की शुरुआत हुई। असल में इस सरकारी योजना का मुख्य उद्देश प्रदेश में लड़कियों के जन्म के प्रति नकारात्मक सोच को ख़त्म करना था। जो कि लाडली लक्ष्मी योजना की मदद से काफी हद तक सफल भी होता दिखा। इस योजना से पहले तक गरीब वर्ग में लड़कियों की पढाई और शादी को बोझ समझा जाता था लेकिन इस योजना के बधार कोई बेटी को बोझ समझन बमद कर दिया।

लाडली लक्ष्मी योजना

किन लोगों को मिलेगा लाडली लक्ष्मी योजना का लाभ

  • इसके लिए अनिवार्य होना चाहिए कि बच्ची के माता- पिता मध्य प्रदेश के मूल निवासी हों और आयकर दाता न हों।
  • वही इसके अलावा ये भी ध्यान रखना होगा कि द्वितीय बालिका के प्रकरण में आवेदन करने से पूर्व माता या पिता ने परिवार नियोजन अपना लिया हो।
  • इसके साथ ही ये बात का भी ध्यान रखना होगा कि प्रथम प्रसव की प्रथम बालिका जिनका जन्म 1- 4-2008 के उपरांत हुआ हो, परन्तु द्वितीय प्रसव के उपरांत परिवार नियोजन अपनाना अनिवार्य होगा।
  • अब इसके अलावा हितग्राही की आंगनवाड़ी केन्द्र में उपस्थिति नियमित हो।
  • जिस परिवार में प्रथम बालक अथवा बालिका है, तथा दूसरे प्रसव पर दो जुड़वां बच्चियां जन्म लेती हैं, तब दोनों जुड़वां बच्चियों को इस योजना का लाभ दिया जाएगा।
  • वही ये भी कहा गया है कि अगर किसी भी परिवार ने अनाथ बालिका को गोद लिया हो, तो भी उसे प्रथम बालिका मानते हुए योजना का लाभ दिया जाएगा।
  • माता- पिता की मृत्यु की दशा में बच्ची की उम्र पांच साल होने तक भी आवेदन पत्र प्रस्तुत किया जा सकता है।
  • इन सबके अलावा ये भी बताया गया है कि अगर प्रथम प्रसूति के समय एक ही साथ अगर तीन लड़कियां हो जाये तो तीनों बच्चियों को लाडली लक्ष्मी योजना का लाभ मिलेगा।

लाडली लक्ष्मी योजना प्रमाण पत्र

बताते चलें की इस योजना के लाभ के लिए आपको सभी आवश्यक दस्तावेजों के साथ सीधे अथवा आंगनवाडी कार्यकर्ता के माध्यम से परियोजना कार्यालय या फिर लोक सेवा केन्द्र से आवेदन/रजिस्ट्रेशन करना होगा और उसके बाद जब आपका प्रकरण स्वीकृत हो जाता है उसके पश्चात सभी दस्तावेजों के परीक्षण के लिए परियोजना कार्यालय से कराया जाना होगा। इतना कुछ करा लेने के बाद आपका प्रकरण स्वीकृत या फिर कोई कमी पाये जाने की अवस्था में अस्वीकृत किया जाएगा। बता दे की आपका प्रकरण स्वीकृत हो जाने के उपरांत बालिका के नाम से शासन की ओर से रूपये 1,18,000/- का प्रमाण पत्र जारी किया जायेगा जो उसके भविष्य के लिए इस्तेमाल कर सकते हैं।

लाडली लक्ष्मी योजना प्रमाण पत्र डाउनलोड

  • बताते चलें कि इस योजना का लाभ उठाने के लिए अभी तक बहुत सारे लाभार्थियों ने आवेदन कर चुका है और कई लोग इसके लिए आवेदन कर भी रहे हैं।
  • लाडली लक्ष्मी योजना का लाभ उठाने के लिए सारी प्रक्रिया करने के बाद सबसे महत्वपूर्ण है ऑनलाइन आवेदन को डाउनलोड करना।
  • बता दें कि जिन भी लोगों ने इस योजना के लिए आवेदन किया है वे इस योजना के प्रमाणपत्र को आधिकारिक वेबसाइट पर नीचे दिए हुए बटन पर क्लिक कर डाउनलोड कर सकते हैं।
  • एक बार प्रमाण पत्र डाउनलोड हो जाने के बाद उसे पूरी तरह भरकर और अपने सभी महत्वपूर्ण और जरूरी दस्तावेज उसके साथ संलग्न करके अपने नजदीकी शहरी या ग्रामीण आंगनवाड़ी में जमा कर देने के बाद इस योजना का पूरा पूरा लाभ उठा सकते हैं।

लाडली लक्ष्मी योजना नाम लिस्ट

आपकी जानकारी के लिए बता दें कि जो लोग लाडली लक्ष्मी योजना के लिए पहले से ही आवेदन कर चुके हैं उनके लिए सरकार ने एक लाभार्थी सूची जारी की है जिसे ऑनलाइन भी देख सकते हैं। बता दें इस लाभार्थी सूची को आवेदक के नाम जिलावार देखा जा सकता है। अगर आपने इस योजना के लिए पहले से ही आवेदन किया हुआ है तो आपको अपना नाम और आवेदन स्थिति देखने के लिए इन चरणों का पालन करना होगा।

  • सबसे पहले आपको इस योजना की आधिकारिक वेबसाइट पर जाना होगा।
  • इसके बाद आप इस ‘लाडली लक्ष्मी योजना नाम सर्च’ लिंक पर क्लिक करके इस योजना के पेज पर पहुंच सकते हैं।
  • पेज पर आने के बाद आपको अपने जिला, ग्राम पंचायत तथा वार्ड का नाम भरना होगा।
  • यह सभी जानकारी भर लेने के बाद आपको एक कोड टाइप करना होगा जो वहां पर कैप्चा कोड बॉक्स में दिया होगा।
  • इसके बाद आप को सबमिट कर देना है और तब आपको लाभार्थी लिस्ट दिख जाएगी।

लाडली लक्ष्मी योजना कांटेक्ट नंबर (लाडली लक्ष्मी योजना हेल्पलाइन नंबर)

हेल्प लाइन नंबर लाडली लक्ष्मी योजना: 07879804079
लाडली लक्ष्मी योजना ईमेल: [email protected]

यह भी पढ़ें