जानिए विदेश दौरे के दौरान पीएम मोदी को मिलते हैं कौन-कौन से गिफ़्ट, और कहाँ रखते हैं उन्हें

नई दिल्ली: पीएम मोदी के बारे में यह कहा जाता है कि ये देश के पहले ऐसे पीएम हैं, जिन्होंने अपने अब तक के कार्यकाल के दौरान किसी अन्य प्रधानमंत्री से ज़्यादा विदेश दौरे किए हैं। पीएम मोदी के विदेश दौरों से कई फ़ायदे हुए हैं। पीएम मोदी ने देश की सत्ता सम्भालने के बाद से ही अपनी विदेश नीति को मज़बूत करने के लिए कई ठोस क़दम उठाए हैं। इसका फ़ायदा देश को मिला। कई ऐसे नए देशों दे सम्बंध बने हैं, जिनके बारे में पहले कोई जानता भी नहीं था। आज वो देश भारत की मदद के लिए तैयार हैं।

दशकों ने नहीं गया था कोई भारतीय पीएम:

पीएम मोदी ने कुछ ऐसे देशों की भी यात्राएँ कि जहाँ जानें वाले वो पहले भारतीय पीएम बने वहीं कुछ ऐसे देशों में भी गए, जहाँ दशकों से कोई भारतीय पीएम नहीं गया था। विपक्ष इसकी भले ही आलोचना करे, लेकिन पीएम मोदी के विदेश दौरों से कई फ़ायदे हुए हैं। पीएम मोदी जब भी विदेश दौरे पर जाते हैं, उन्हें दूसरे देश के राजनेता कुछ ना कुछ उपहार में देते हैं। अब आप सोच रहे होंगे कि पीएम मोदी को आख़िरकार कौन-कौन से उपहार मिले होंगे।

एक साल के दौरान पीएम मोदी को मिले हैं कुल 168 उपहार:

आपकी जानकारी के लिए बता दें पीएम मोदी को पिछले एक साल में विदेश यात्राओं के दौरान 12.57 करोड़ रुपए के 168 उपहार मिले हैं। आप जानकर हैरान हो गए ना। बता दें पीएम मोदी को मिले इन महँगे उपहारों में फ़ाउंटन पेन, मो ब्लां की कलाई घड़ी, टी सेट, चीनी मिट्टी के बर्तन, मंदिर-मस्जिद की आकृतियाँ, विष्णु-लक्ष्मी, भगवान गणेश की मूर्ति, पेंटिंग, क़ालीन, बुलेट ट्रेन का मॉडल, फ़ोटोग्राफ़, क्रिस्टल और चाँदी के बाउल, पशुपतिनाथ और मुक्तिनाथ मंदिर की आकृति और पुस्तकें आदि मिले।

विदेश मंत्रालय के तोषखाना विभाग के ब्योरे के अनुसार जुलाई 2017 से जून 2018 के बीच में पीएम मोदी ने इज़राइल, जर्मनी, जॉर्डन, फ़िलिस्तीन, चीन, यूएई, ओमान, स्वीडन, ब्रिटेन, रूस, इंडोनेशिया, सिंगापुर, मलेशिया सहित 20 देशों की यात्राएँ की थी। इसी यात्राओं के दौरान प्रधानमंत्री मोदी को ये सभी चीज़ें उन देशों के राजनेताओं ने उपहार स्वरूप में दिया था। प्राप्त जानकारी के अनुसार प्रधानमंत्री मोदी को मिले तोहफ़ों में से सबसे क़ीमती तोहफ़ा रॉयल सेलेंगर मिलिटेड एडिशन चाँदी की पट्टिका है, जिसकी क़ीमत लगभग 215000 रुपए बताई जाती है।

प्रधानमंत्री को किसी देश से एक मस्जिद की आकृति भी भेंट की गयी है, जिसकी क़ीमत 50 हज़ार रुपए बताई जाती है। अगर आपको जानकारी ना हो तो बता दें कि विदेश यताओं के दौरान भारत का प्रतिनिधित्व करते समय मंत्रियों और सरकारी अधिकारियों को 5 हज़ार की क़ीमत से ज़्यादा के जो तोहफ़े मिलते हैं, उन्हें मंत्रालय की ट्रेज़री में जमा करवा दिया जाता है। अगर 5 हज़ार की क़ीमत से कम के तोहफ़े मिलते हैं तो उसे सम्बंधित व्यक्ति अपने पास रख सकता है। तो अब आप समझ गए होंगे कि पीएम मोदी जब भी विदेश दौरे पर जाते हैं लोग उनके स्वागत के लिए उन्हें कुछ ना कुछ उपहार स्वरूप देते हैं।