VIDEO: 2002 का दानव कहाँ है?

 

भारतीय प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के आलोचको का व्यवहार किस प्रकार घटना और समय के अनुरूप बदलता रहता है केवल यह बात इस वीडियो के माध्यम से दिखाने का प्रयास किया गया है. नरेंद्र मोदी पर लगा हर नया इल्ज़ाम उन्हे पिछले इल्ज़ाम से मुक्त भी कर देता है लेकिन अंध प्रवाह में आलोचक यह भूल जाते हैं कि नया इल्ज़ाम देने की जल्दबाज़ी में वो खुद अपने शब्दो को ही कई बार झूठा साबित करने लग जाते हैं.
क्या 2002 में आलोचको द्वारा नरेंद्र मोदी का जो रूप प्रचलित किया गया था, और जिसे बड़े ज़ोर शोर और प्रबल आवाज़ के साथ प्रचारित भी किया गया था. आज 14 साल बाद नरेंद्र मोदी के वही आलोचक, जाने अंजाने उन्हे 2002 की घटना से दोषमुक्त भी कर रहे हैं. कैसे ? वीडियो में देखिए…
इस वीडियो में दर्शाए गये विचार पूरी तरह निजी हैं,  वीडियो का मकसद किसी की भावनाओं को ठेस पहुँचाना नहीं हैं.