विशेष

कोरोना काल में इस शख्स ने पेश की मानवता की मिसाल, पत्नी के गहने बेचकर मुफ्त बांट रहा है ऑक्सीजन

कोरोना महामारी की वजह से देश भर के लोग बहुत ज्यादा परेशान हैं। कोरोना वायरस ने पूरे देश को प्रभावित किया है। कोरोना की दूसरी लहर में कोरोना वायरस मरीजों की संख्या लगातार बढ़ती ही जा रही है। सरकार द्वारा महामारी की रोकथाम के लिए कई अहम कदम उठाए जा रहे हैं परंतु कोई भी नतीजा निकल कर सामने नहीं आ रहा है।

देश के बहुत से हिस्से ऐसे हैं, जहां मरीजों को मेडिकल ऑक्सीजन की कमी हो रही है, जिसके कारण बहुत से लोग अपनी जिंदगी से हाथ भी धो बैठे हैं। दिन पर दिन कोरोना वायरस का संकट गंभीर होता जा रहा है। इसी बीच ऐसे बहुत से लोग हैं जो जरूरतमंदों की मदद के लिए सामने आ रहे हैं। बहुत से लोग संकट की इस घड़ी में मानवता की मिसाल पेश कर रहे हैं। आज हम आपको एक ऐसे शख्स के बारे में बताने जा रहे हैं जो अपनी पत्नी के गहने बेचकर लोगों में फ्री ऑक्सीजन बांट रहा है।

कोरोना काल में ऐसे बहुत से लोग निकल कर सामने आए हैं जो जरूरतमंदों के लिए देवदूत साबित हो रहे हैं। इसी बीच एक मंडप डेकोरेटर पास्कल सल्धाना आगे आए। यह अपनी पत्नी के अनुरोध पर लोगों को फ्री में ऑक्सीजन बांट रहे हैं। जैसा कि हम लोग जानते हैं ऑक्सीजन के लिए लोगों की लंबी-लंबी लाइनें लग रही हैं और बहुत से स्थानों पर तो ऑक्सीजन की कमी के कारण लोगों की जान भी जा रही है। ऐसी स्थिति में पास्कल लोगों की सहायता के लिए सामने आए हैं।

मुंबई के मंडप डेकोरेटर पास्कल सल्धाना ने यह बताया कि वह अपनी पत्नी के अनुरोध पर लोगों को मुफ्त में ऑक्सीजन की आपूर्ति करते हैं। उन्होंने बताया कि उनकी पत्नी डायलिसिस और ऑक्सीजन सपोर्ट पर है। इसी वजह से उनके पास हमेशा एक सिलेंडर होता है। एक दिन एक स्कूल की प्रिंसिपल ने उन्हें अपने पति के लिए ऑक्सीजन के लिए बुलाया। उन्होंने बताया कि “मैंने अपनी पत्नी के जोर देने के बाद उसे एक सिलेंडर दिया। उसके अनुरोध पर मैंने उसके गहने बेचे 80 हजार रूपए मिले और तभी से लोगों को फ्री ऑक्सीजन देने की शुरुआत कर दी।


पास्कल सल्धाना का यह बताना है कि वह बीते 18 अप्रैल से लोगों की सहायता कर रहे हैं। वह लगातार लोगों को फ्री में ऑक्सीजन की सप्लाई कर रहे हैं। कभी-कभी लोग उन्हें दूसरों की मदद करने के लिए पैसे भी देते हैं। आपको बता दें कि पास्कल की पत्नी की दोनों किडनी फेल हो गई है और वह पिछले 5 साल से डायलिसिस पर हैं।


कोरोना महामारी के इस दौर में सभी लोग अपनी जान बचाने के लिए घरों में बंद हैं। उसी में पास्कल लोगों की मदद कर रहे हैं। सोशल मीडिया पर सभी लोग इनकी जमकर तारीफ कर रहे हैं। लोगों ने ट्विटर पर उनके इस नेक काम की खूब तारीफ की है। भले ही पास्कल के जीवन में बहुत दुख हैं परंतु कभी कभार दुख से ऊपर उठकर लोगों का दुख भी समझना होता है, जो पास्कल कर रहे हैं। कोरोना काल में पास्कल जो नेक काम कर रहे हैं उसकी जितनी तारीफ की जाए उतनी ही कम है।

Show More
Back to top button