बिहार चुनाव: इन 5 बाहुबलियों का राजनीतिक वजूद बचाने के लिए पत्नियां उतरीं चुनावी मैदान में

बिहार चुनाव का बिगुल बज चुका है। बिहार की सियासत में ऐसे बहुत से बाहुबली नेता हैं जिनका राजनीतिक वजूद अभी भी कायम है। बिहार में चुनाव का प्रचार जोरों-शोरों पर चल रहा है। हर पार्टी अपनी-अपनी जीत का दावा करने में लगी हुई है। राजनीति के क्षेत्र से जुड़े हुए ऐसे कुछ बाहुबली हैं, जो किसी ना किसी मामले में जेल गए हुए हैं। ऐसी स्थिति में इन बाहुबलियों ने अपना राजनीतिक वजूद बचाए रखने के लिए अपनी पत्नियों से उम्मीद लगाए बैठे हुए हैं। भले ही यह खुद चुनावी मैदान में नहीं उतर सकते, परंतु इनकी पत्नियों ने मोर्चा संभाला है। आज हम आपको बिहार के कुछ ऐसे बाहुबलियों के बारे में जानकारी देने वाले हैं, जो अपनी पत्नी को चुनाव लड़ा रहे हैं।

नीलम देवी

बाहुबली विधायक अनंत सिंह की पत्नी नीलम देवी हैं। आपको बता दें कि बाहुबली अनंत सिंह की पत्नी नीलम देवी वर्ष 2019 में कांग्रेस के टिकट पर चुनाव लड़ चुकी हैं। जेडीयू के वरिष्ठ नेता ललन सिंह के खिलाफ नीलम देवी ने लोकसभा का चुनाव लड़ा, लेकिन इस चुनाव में इनको सफलता नहीं मिल पाई थी। इस बार के विधानसभा चुनाव में यह अपनी पूरी कोशिश करने में लगी हुई हैं। खुद को छोटे सरकार कहने वाले बाहुबली विधायक अनंत सिंह ने अपनी राजनीतिक विरासत को आगे बढ़ाने के लिए अपनी पत्नी को मैदान में उतारा। नीलम देवी बाढ़ सीट से निर्दलीय चुनाव में हैं।

लवली आनंद

बाहुबली पूर्व सांसद आनंद मोहन की पत्नी लवली आनंद ने आरजेडी का दामन थाम लिया है। आपको बता दें कि आनंद मोहन सहरसा जेल में पूर्व जिलाधिकारी जी कृष्णैया हत्याकांड के मामले में सजा काट रहे हैं। ऐसी स्थिति में उनकी विरासत की कमान उनकी पत्नी लवली आनंद संभाल रहीं हैं। ऐसा माना जा रहा है कि सहरसा जिले से किसी सीट से उन्हें प्रत्याशी बनाया जा सकता है।

किरण देवी

आरा जिले के संदेश विधानसभा क्षेत्र से बाहुबली नेता अरुण यादव की पत्नी किरण देवी मैदान में उतरी हैं। आपको बता दें कि अरुण यादव रेप केस में फरार चल रहे हैं और पुलिस इनकी तलाश में जुटी हुई है।

मनोरमा देवी

मनोरमा देवी रॉकी यादव की पत्नी हैं। जेडीयू ने गया जिले के अतरी सीट से मनोरमा देवी को टिकट दिया है। आपको बता दें कि रॉकी यादव के पिता बिंदी यादव भी एक बाहुबली नेता हुआ करते थे। इस समय के दौरान मनोरमा देवी स्थानीय प्राधिकरण क्षेत्र से विधान पार्षद सदस्य हैं। रॉकी यादव की गया जिले में सियासी की तूती बोलती है।

विभा देवी

विभा देवी राजबल्लभ यादव की पत्नी हैं। राजबल्लव पर ड्राइवर को जान से मारने का मामला चल रहा है, इसके अलावा इनके ऊपर रेप का भी मामला दर्ज है। वर्ष 2016 में 15 वर्ष की एक लड़की ने राजबल्लभ यादव के ऊपर रेप का आरोप लगाया था, जिस मामले में राजबल्लभ फरार हो गए थे। बाद में उन्होंने कोर्ट के आगे आत्मसमर्पण कर दिया था। राजबल्लभ की पत्नी विभा देवी वर्ष 2019 में आरजेडी से लोकसभा का चुनाव लड़ चुकी हैं। इस बार आरजेडी ने उनकी सीट नवादा से उनकी पत्नी विभा देवी को मैदान में उतारा है।