चीनी मीडिया ने भी माना पीएम मोदी का लोहा, कहा- नारेबाज नहीं, मैन ऑफ एक्शन हैं पीएम मोदी!

पीएम मोदी के नेतृत्व में यूपी समेत 5 राज्यों के विधानसभा चुनाव के नतीजों से देश के अन्दर विरोधियों की नींद तो उड़ी ही है दूसरी तरफ विदेशों में भी भारत की लोकतान्त्रिक मजबूती कुछ लोगों को रास नहीं आ रही है. देश में तो पीएम मोदी के विरोधियों की सांसें अटकी ही हैं विदेशों में भी विरोधियों को ये जीत हजम नहीं हो रही है.

यूपी में बीजेपी की शानदार जीत पर चीनी मीडिया के रिएक्शन बताते हैं कि जीत का एक्शन दूर-दूर तक हुआ है. इस जीत से विरोधियों की हवा खिसक गयी है. चीन की सरकारी मीडिया ने बीजेपी की जीत पर जैसे रिएक्शन दिए हैं उससे यह साफ है कि पीएम मोदी की सफलताओं से चीन की धरती भी हिलने लगी है.

Election bjp win modi

नरेंद्र मोदी का 2019 में पीएम बनना तय :

चीनी मीडिया में ये बात कही जा रही है कि पीएम मोदी की जीत बेशक भारत के विकास के लिए बेहद अच्छी खबर है लेकिन बाकी देशों के लिहाज से ठीक नहीं है. चीनी मीडिया का मानना है कि इससे अन्य देशों के लिए भारत से समझौता करना मुश्किल हो जायेगा. चीनी मीडिया ने यह भी कहा कि जिस तरह से यूपी चुनाव में बीजेपी की जीत हुयी है उससे 2019 में नरेन्द्र मोदी का एक बार फिर पीएम बनना तय है.

चीन के ग्लोबल टाइम्स के संपादकीय में लिखा गया है कि पीएम मोदी को सबसे ज्यादा आबादी वाले राज्य के साथ ही कई राज्यों में जबरदस्त समर्थन मिला है इससे 2019 में उनका फिर से पीएम बनना लगभग तय हो चुका है. साथ ही उसने लिखा कि उम्मीद है कि पीएम मोदी के रहते भारत चीन सीमा विवाद भी सुलझाया जा सकेगा.

China is afraid of bjps victory

समझौता करना हो जाएगा मुश्किल :

चीनी मीडिया ने पीएम मोदी की प्रशंसा तो की साथ ही यह भी कहा कि मोदी का जीतना भारत के लिए अच्छी खबर है लेकिन चीन के लिए नहीं, ग्लोबल टाइम्स ने लिखा है कि, अगर मोदी अगला लोकसभा चुनाव जीत जाते हैं तो भारत का मौजूदा कड़ा रुख और सख्त बर्ताव जारी रहेगा. मोदी की जीत भारत के अपने डेवलपमेंट के लिए बेशक अच्छी खबर होगी. लेकिन बाकियों के लिए अच्छी नहीं है. ग्लोबल टाइम्स का मानना है कि पीएम मोदी की जीत के ये मायने भी हैं कि दूसरे देशों के लिए उनके साथ किसी भी तरह का समझौता करना मुश्किल हो जाएगा.

नारेबाज नहीं मैन ऑफ एक्शन हैं पीएम मोदी :

ग्लोबल टाइम्स लिखता है कि मोदी एक हार्डलाइनर नेता है वो अपने निर्धारित समय में अपने फैसलों और लक्ष्यों को पाने पर अमल करते हैं. साथ ही चीन के लिए यह मौका है कि वह इस बारे में और सोचे कि एक हार्डलाइन सरकार के साथ अहम मसलों पर कैसे कामयाबी मिल सकती है. मोदी के कुछ कामों ने भले ही अच्छे नतीजे नहीं दिए हों लेकिन उन्होंने साबित कर दिया है कि वे मैन ऑफ एक्शन हैं. वे सिर्फ नारेबाजी करने वाले नेता नहीं हैं.

पीएम मोदी ने विश्व में भारत की छवि सुधारी :

इसके अलावा ग्लोबल टाइम्स ने अपने एडिटोरियल में कई अहम् मुद्दे उठाये हैं. चीन ने पीएम मोदी की रणनीतियों और कूटनीतियों की तारीफ तो की लेकिन साउथ चाइना सी में भारत के कदमों से अपने नुकसान का रोना भी रोया. ग्लोबल टाइम्स ने सीमा विवाद के मुद्दों को भी उठाया और विस्तार से दोनों राष्ट्रों के बीच विवाद पर भी चर्चा की है. ग्लोबल टाइम्स ने अपने एडिटोरियल में यह भी माना है कि पीएम मोदी ने विश्वभर में भारत की छवि में सकारात्मक बदलाव किया है.

Leave a Reply

Your email address will not be published.