दिलचस्प

सचिन तेंदुलकर और अंजलि के प्रेम कहानी की ऐसे हुई थी शुरुआत, जाने इनकी मुलाकात का दिलचस्प किस्सा

“प्यार” एक ऐसा शब्द है जिसका नाम सुनकर हर उदास चेहरे पर खुशी की लहर दौड़ने लगती है, जिंदगी में हर किसी व्यक्ति को कभी ना कभी प्यार अवश्य होता है, जब व्यक्ति को प्यार होता है तो उसके जीवन में एक नया बदलाव देखने को मिलता है, प्यार क्रिकेट और सिनेमा से जुड़े हुए लोगों के बीच ही नहीं बल्कि आम लोगों के बीच भी होता है, आज हम आपको क्रिकेट के भगवान कहे जाने वाले मास्टर ब्लास्टर सचिन तेंदुलकर की प्रेम कहानी के बारे में जानकारी देने वाले हैं.

सचिन तेंदुलकर का नाम जैसे ही सामने आता है सबसे पहले मन में क्रिकेट की छवि उभर आती है, सचिन तेंदुलकर एक बहुत ही दिग्गज क्रिकेटर रहे हैं, शायद ही कोई ऐसा रिकॉर्ड होगा जो सचिन तेंदुलकर ने नहीं तोड़ा होगा, सचिन तेंदुलकर एक ऐसे भारतीय क्रिकेटर है जो भारत में ही नहीं बल्कि पूरे विश्व भर में प्रसिद्ध है, इनको क्रिकेट का भगवान माना जाता है, इन्होंने अपने जीवन में काफी सफलता हासिल की है जिससे हर कोई भली-भांति परिचित है, हम आपको सचिन तेंदुलकरकी और अंजली तेंदुलकर की दिलचस्प प्रेम कहानी के बारे में बताने वाले हैं।

सचिन तेंदुलकर और अंजली की प्रेम कहानी किसी फिल्मी कहानी से कम नहीं है, और इन दोनों की मुलाकात का किस्सा बहुत ही दिलचस्प है, जब अंजली डॉक्टर बन चुकी थी तब वह एक अस्पताल में प्रैक्टिस कर रही थी, तब सचिन तेंदुलकर 90 के दशक में क्रिकेट जगत में तेजी से अपनी पहचान बना रहे थे, यह अपने जमाने के भारतीय क्रिकेट टीम के सबसे शानदार खिलाड़ी हैं, सचिन तेंदुलकर ने हर किसी के दिल में अपनी एक खास जगह बनाई है

सचिन तेंदुलकर वर्ष 1990 में इंग्लैंड का दौरा करके भारत आए थे तब इनकी मुलाकात अंजलि से मुंबई एयरपोर्ट पर हुई थी, तब सचिन तेंदुलकर को अंजलि ने यही पर देखा था, एयरपोर्ट पर अंजलि अपनी एक सहेली के साथ अपनी मां को लेने आई हुई थी, जब सचिन तेंदुलकर को अंजलि ने देखा तो उन्होंने अपनी सहेली से कहा सो क्यूट, लेकिन उस समय के दौरान अंजलि को यह बिल्कुल भी नहीं पता था कि सचिन एक क्रिकेटर है।

पहली नजर का प्यार सिर्फ फिल्मों में ही देखने को मिलता है, लेकिन असलियत में जिंदगी में भी इस तरह का प्यार हो जाता है, बस कुछ ऐसा ही अंजली और सचिन तेंदुलकर के बीच में हुआ, जब अंजली ने सचिन को एयरपोर्ट पर देखा तो वहीं से उनको फॉलो करने लगी थी और सचिन से बात करने की पूरी कोशिश में लगी हुई थी, तब सचिन तेंदुलकर ने भी अंजलि को एयरपोर्ट पर देखा था, लेकिन सिक्योरिटी ज्यादा होने के कारण वह अंजलि से मिल नहीं पाए थे, अब इसमें सबसे दिलचस्प कर देने वाली बात यह है कि अंजलि अपनी मां को लेने आई थी लेकिन सचिन तेंदुलकर की वजह से वह अपनी मां को रिसीव करना ही भूल गई थी।

अंजलि मेहता को क्रिकेट में ज्यादा दिलचस्पी नहीं थी, अंजलि की सहेली ने उनको बताया था कि सचिन एक भारतीय क्रिकेट टीम के खिलाड़ी हैं और उन्होंने हाल ही में इंग्लैंड में अपनी पहली सेंचुरी बनाई है, लेकिन अंजलि को इन सब बातों से कोई भी फर्क नहीं पड़ा था, अंजलि ने अपनी पूरी कोशिश करके सचिन का नंबर ढूंढ लिया और 1 दिन उन दोनों की पहली बार बात हुई थी, तब अंजलि ने अपना परिचय दिया और सचिन से कहा कि हम दोनों की पहली बार मुलाकात एयरपोर्ट पर हुई थी, तब हम दोनों ने एक दूसरे को देखा था, तब सचिन ने उनको “हां” में जवाब दिया, इसके बाद इन दोनों के बीच बहुत सारी बातें हुई थी, इसके बाद यह एक अच्छे दोस्त बने।

एक बार सचिन तेंदुलकर अंजलि को अपने घर लेकर आए थे, तब उन्होंने अपने परिवार के लोगों से कहा था कि यह एक जर्नलिस्ट है और यह मेरा इंटरव्यू लेने के लिए आई हुई है, सचिन के परिवार वालों को यह पता था कि सचिन स्वभाव से बहुत ही शर्मीले हैं, तब इन्होंने पहली बार अंजलि को अपने घरवालों से मिलवाया था, जब सचिन ने अपने घरवालों से अंजलि को मिलवाया तो इनके घरवालों को सब कुछ समझ आ गया, इन दोनों ने एक दूसरे को करीब 5 वर्ष तक डेट किया, आखिर में इनका प्यार का रिश्ता शादी के बंधन में बंध गया, इन्होंने 1995 में शादी की थी।

Show More

Related Articles

Back to top button
Close