विशेष

कोरोना से जंग के खिलाफ टाटा ग्रुप की अब तक सबसे बड़ी मदद, दान किये इतने करोड़ रुपये

पूरी दुनिया कोरोना वायरस के बढ़ते हुए संक्रमण के आगे घुटने टेकती हुई नजर आ रही है. कोरोना वायरस के संक्रमण को रोकने का या फिर इसका इलाज करने का कोई भी तरीका अब तक न तो शोधकर्ताओं को मिल पाया है और न ही वैज्ञानिकों को. इस वजह से लोगों का डर लगातार बढ़ता ही जा रहा है. दुनिया में बहुत से ऐसे देश हैं, जिन्होंने अपने यहां लॉकडाउन कर रखा है. लॉकडाउन का फैसला इसलिए किया गया है, ताकि कोरोना वायरस के बढ़ते हुए संक्रमण पर लगाम कसी जा सके. यही वजह है कि भारत में भी प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की ओर से बीते 24 मार्च को 21 दिनों के संपूर्ण लॉकडाउन की घोषणा की गई थी, जो कि 14 अप्रैल तक जारी रहने वाला है.

टाटा ग्रुप ने दान किये 1500 करोड़ रुपये

मुश्किल की इस घड़ी में कई जाने-माने सितारे बढ़ चढ़कर हिस्सा ले रहे हैं. हाल ही में बॉलीवुड अभिनेता अक्षय कुमार ने कोरोना से जंग के खिलाफ 25 करोड़ रुपये की भारी-भरकम राशि डोनेट की है. बात करें उद्योगपतियों की तो टाटा ग्रुप ने कोरोना से लड़ाई के लिए सरकार को 1500 करोड़ रुपये दान करने का एलान किया है. ये अब तक सबसे बड़ा सहयोग बताया जा रहा है. बता दें, इसमें से 500 करोड़ टाटा ट्रस्ट और 1000 करोड़ टाटा संस की तरफ से दिए गए हैं.

बता दें, यह पहली बार नहीं है जब टाटा ग्रुप ने देशवासियों की मदद की है. इससे पहले भी कई मुश्किल की घड़ी में टाटा ट्रस्ट और टाटा ग्रुप की कंपनियों ने देश की मदद की है. इस राहत राशि की घोषणा टाटा ट्रस्ट के चेयरमैन रतन एन टाटा और टाटा संस के चेयरमैन एन चंद्रशेखर ने की है.

कहा- जो जरूरी हो, वह करना होगा


कोविड-19 महामारी के रोकथाम और इससे संबंधित गतिविधियों के लिए 1,000 करोड़ रुपए की सहायता का एलान करते हुए चंद्रशेखर ने एक बयान में कहा, “हम टाटा ट्रस्ट और हमारे एमेरिटस अध्यक्ष टाटा के साथ मिलकर काम करेंगे और पूरी तरह से उनकी पहल का समर्थन करेंगे”. बात जारी रखते हुए उन्होंने आगे कहा कि, “टाटा ट्रस्ट की पहलों के अलावा हम आवश्यक वेंटिलेटर भी ला रहे हैं और भारत में भी इनका जल्द निर्माण करेंगे. देश एक अभूतपूर्व स्थिति और संकट का सामना कर रहा है. हम सभी को जो जरूरी हो, वह करना होगा”.

आपातकालीन संसाधनों को तैनात करने की आवश्यकता


टाटा ट्रस्ट ने यह भी कहा कि वह 500 करोड़ रुपए देगा, जिसका इस्तेमाल संक्रमित रोगियों के इलाज, ज्ञान प्रबंधन और स्वास्थ्य कार्यकर्ताओं के प्रशिक्षण के लिए होगा. टाटा ट्रस्ट के अध्यक्ष रतन टाटा ने कहा कि भारत और दुनिया भर की मौजूदा स्थिति बेहद चिंताजनक है और इस बारे में तत्काल कार्रवाई की जानी चाहिए. उन्होंने कहा कि इस असाधारण स्थिति से उबरने के लिए तुरंत आपातकालीन संसाधनों को तैनात करने की आवश्यकता है, जो कि मानव जाति के सामने अब तक की सबसे बड़ी चुनौती है. टाटा ने कहा कि इस महामारी से लड़ने के लिए जिस संगठनों के सदस्यों ने अपनी जान जोखिम में डाली है, हम उनके आभारी हैं.

पढ़ें अक्षय कुमार को “जनता कर्फ्यू” उल्लंघन करने वाले लोगों पर आई खुंदक, वीडियो पर कहने लगे या बातें.

दोस्तों, उम्मीद करते हैं कि आपको हमारा यह आर्टिकल पसंद आया होगा. पसंद आने पर लाइक व शेयर करना न भूलें. 

Back to top button