ब्रेकिंग न्यूज़

कोरोना वायरस की वजह से रद्द ट्रेनों के टिकट खुद ना करें कैंसिल, जानिए कैसे होगा रिफंड

जैसा कि हम सभी लोग जानते हैं कोरोना वायरस के संक्रमण को रोकने के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी ने पूरे देश में 21 दिनों के लिए लॉक डाउन का ऐलान कर दिया है, लॉक डाउन की वजह से हवाई सेवा, स्थल यातायात साधन पूरी तरह से प्रभावित हुए हैं, बस सेवा, पब्लिक ट्रांसपोर्ट, हवाई जहाज की सेवा बंद कर दी गई है, ऐसे में इंडियन रेलवे की ज्यादातर सेवाएं भी 14 अप्रैल तक प्रभावित हुई है, आप लोगों में से बहुत से लोग होंगे जिन्होंने कहीं जाने का प्रोग्राम बनाया होगा, ऐसे में आपने रेल टिकट बुक कराई होगी, परंतु कोरोना वायरस के संकट की वजह से ट्रेनें रद्द होने के कारण आपका कहीं भी जाना संभव नहीं है, ऐसे में सवाल यह आता है कि जो टिकट आपने बुक कराई है आखिर उस टिकट का रिफंड आपको कैसे मिलेगा?

आपको बता दें कि इंडियन रेलवे दुनिया का सबसे बड़ा रेलवे है, इसमें रोजाना ही करोड़ों की संख्या में यात्री सफर करते हैं, परंतु कोरोना वायरस के खतरे को देखते हुए इंडियन रेलवे ने अपनी सेवाओं पर रोक लगाई है और 14 अप्रैल तक ट्रेनों पर पूरी तरह से लगाम लगाने की कोशिश की गई है, इस समय के दौरान ट्रेनें बंद रहेंगी, अगर आपने ट्रेन में सफर करने के लिए एडवांस बुकिंग करवा चुके हैं तो आपको अपने टिकट के पैसों के रिफंड पाने के लिए परेशान होने की आवश्यकता नहीं है, लेकिन आपको इस बात का ध्यान रखना होगा कि आप अपने आप टिकट कैंसिल ना करें अन्यथा आपको नुकसान हो सकता है।

खुद से टिकट कैंसिल करने की ना करें भूल

भारतीय रेल (IRCTC) ने कहा है कि जिन लोगों ने ई-टिकट बुक कराई है उनके मन में इसको कैंसिल करने को लेकर बहुत सी शंकाएं उत्पन्न हो रही हैं, IRCTC ने कहा है कि यूजर्स की तरफ से टिकट कैंसिल कराने की आवश्यकता नहीं है इससे उन्हें कम रिफंड मिलेगा, अगर रेलवे द्वारा टिकट कैंसिल की जाती है तो इससे आपका अमाउंट आपके अकाउंट में भेज दिया जाएगा।

अगर आपने रेल टिकट काउंटर से बुक करवाया है तो इसके लिए भारतीय रेल ने रिफंड की सुविधा 3 दिन से बढ़ाकर 3 महीने तक कर दी है, रेलवे द्वारा ट्रेनों की सेवा बंद करने के बाद ही ई टिकट खरीदने वाले यात्रियों को टिकट का रिफंड अपने आप मिल जाएगा, इसलिए वह अपने ई टिकट खुद ना रद्द करें।

रेलवे के द्वारा ऐसा बताया गया है कि देश भर में भले ही ट्रेनों को रद्द कर दिया गया है परंतु माल गाड़ियां चलती रहेंगीं और जरूरी चीजों की सप्लाई जारी रहेगी, आपको बता दें कि कुछ रेल यात्रियों में कोरोना वायरस के संक्रमण पाए गए थे, जिसकी वजह से ऐसी अवस्था में ट्रेन में सफर करना किसी खतरे से खाली नहीं है, इसी बात को मद्देनजर रखते हुए रेलवे प्रशासन सतर्क हुए और उन्होंने लोगों को ट्रेन में यात्रा करने से बचने की सलाह दी है, क्योंकि अगर आपके साथ सफर कर रहा व्यक्ति कोरोना वायरस से संक्रमित है तो इसकी वजह से आप भी इस संक्रमण के शिकंजे में आ सकते हैं, इसी वजह से अपनी सुरक्षा अपने हाथ में है, अगर आप हमारा योगदान देंगे तो इस महामारी से लड़ने में सहायता मिलेगी, वैसे देश के सभी लोगों को इस खतरनाक बीमारी की जंग से लड़ने में योगदान देना बहुत ही जरूरी है, अगर सब ही अपना सहयोग देंगे तो इस पर जीत हासिल की जा सकती है।

Back to top button