ब्रह्मा नगरी के नाम से प्रसिद्ध है पुष्कर, जानें पुष्कर दर्शनीय स्थल

पुष्कर दर्शनीय स्थल : राजस्थान में स्थित पुष्कर एक प्राचीन शहर है और इस जगह पर कई सारे तीर्थ स्थल मौजूद हैं। ब्रह्मा जी का इकलौता मंदिर पुष्कर में ही स्थित है और इस शहर को ब्रह्मा नगरी के नाम से भी जाना जाता है। ऐसी मान्यता है कि इस मंदिर में आकर ब्रह्मा जी के दर्शन करने से सारे पापों से मुक्ति मिल जाती है।

पुष्कर दर्शनीय स्थल

पुष्कर को एक पवित्र नगरी भी कहा जाता है और इसे अंतर्राष्ट्रीय पर्यटक स्थल में गिना जाता है। पुष्कर में कौन-कौन से दर्शनीय स्थल मौजूद हैं उनकी जानकारी इस तरह से है।
पुष्कर दर्शनीय स्थल

पुष्कर झील

पुष्कर दर्शनीय स्थल में से पुष्कर झील एक है। इस झील में 52 स्नान घाट हैं और इस झील में आकर लोगों द्वारा डुबकी लगाई जाती है। इस झील के पास ही लगभग 500 मंदिर बने हुए हैं और इन सभी मंदिरों को नीले रंग से रंगा हुआ है। इस झील से जुड़ी पौराणिक मान्यता के अनुसार भगवान ब्रह्मा द्वारा इस झील को बनाया गया था। इस झील में कार्तिक मास के दौरान स्नान करना शुभ माना जाता है। महात्मा गांधी की अस्थियों का विसर्जन पुष्कर झील में ही किया गया था।

ब्रह्मा मन्दिर

पुष्कर दर्शनीय स्थल

पुष्कर में स्थित ब्रह्मा मन्दिर इस दुनिया का इकलौता ऐसा मंदिर है जहां पर ब्रह्मा जी की पूजा की जाती है। इस मंदिर में ब्रह्मा की मूर्ति विराजमान है और हर साल लाखों की संख्या में लोग इस मंदिर में आया करते हैं। ऐसा कहा जाता है कि इस मंदिर का निर्माण लगभग 14वीं शताब्दी में हुआ था और यह मंदिर 700 वर्ष पुराना है। इस मंदिर के मुख्य द्वार को बनाने के लिए संगमरमर के पत्थरों से का प्रयोग किया गया है। यह मंदिर काफी भव्य हैं और कार्तिक मास के दौरान इस मंदिर में काफी भीड़ होती है।

पुष्कर मेला

पुष्कर दर्शनीय स्थल

पुष्कर दर्शनीय स्थल में प्रसिद्ध मेला भी लगता हैं। पुष्कर मेला हर साल कार्तिक पूर्णिमा को आयोजन किया जाता है और इस मेले को देखने के लिए विदेशी पर्यटक भी आते हैं। यह एक पशु मेले होता है और इस मेले में लोग अपने पशुओं को खासकर ऊंटों को लेकर आते हैं। इस मेले का आयोजन काफी भव्य तरीके से किया जाता है।

पुष्कर शहर से जुड़ी अन्य जानकारी

  • पुष्कर शहर को वेद माता गायत्री की जन्मभूमि भी कहा जाता है।
  • यह जगह भगवान शिव जी के शक्ति पीठ में से एक है और ऐसा कहा जाता है कि चारों धामों की यात्रा करने के बाद पुष्कर झील में डुबकी जरूर लगानी चाहिए।
  • पुष्कर ‘राजस्थान का गुलाब उद्यान’ के नाम से भी प्रसिद्ध हैं। क्योंकि यहां पर गुलाब की खेती खूब की जाती है और यह फूल अन्य देशों में भेजे जाते हैं।
  • पुष्कर में कई सारी दुकाने स्थित हैं जहां से आप शॉपिंग भी कर सकते हैं।

कैसे पहुंचे

अजमेर जिले में स्थित पुष्कर शहर आसानी से पहुंचा जा सकता है। यह शहर वायु, सड़क और रेलवे मार्ग से जुड़ा हुआ है। इस जगह पर कई सारी धर्मशाला और होटल मौजूद हैं। हालांकि कार्तिक मास के समय आप पहले से ही कमरे बुक करवाकर इस जगह पर पर जाएं। क्योंकि इस महीने के दौरान यहां पर खूब भीड़ होती है।

पुष्कर दर्शनीय स्थल जानने के बाद आप इस जगह एक बार जरूर जाएं।

यह भी पढ़ें – हरिद्वार के दर्शनीय स्थल