विशेष

चाणक्य नीति: सुबह उठकर गलती से भी नहीं करें ये 4 काम, वरना ताउम्र पछताते रह जाएंगे

आचार्य चाणक्य पाटलिपुत्र के महान विद्वान थे. चाणक्य को उनके न्यायप्रिय आचरण के लिए जाना जाता था. इतने बड़े साम्राज्य के मंत्री होने के बावजूद वह एक साधारण सी कुटिया में रहते थे. उनका जीवन बहुत सादा था. चाणक्य ने अपने जीवन से मिले अनुभवों को चाणक्य नीति में जगह दिया है. चाणक्य नीति में कुछ ऐसी बातें बताई गई हैं जिस पर यदि व्यक्ति अमल करे तो उसे सफल होने से कोई नहीं रोक सकता.

शास्त्रों में कहा गया है कि यदि आपके दिन की शुरुवात अच्छी हुई है तो पूरा दिन अच्छा बीतता है. लेकिन यदि सुबह उठकर किसी ग़लत चीज़ का दीदार हो जाए तो पूरा दिन खराब बीतता है. फिर यही लगने लगता है कि जितनी जल्दी ये दिन बीत जाए उतना ही अच्छा है. लोगों के जीवन में अनेकों ऐसी चीज़ें होती हैं जिन्हें वह अनदेखा कर देते हैं. वह इस बात से अनजान रहते हैं कि इन चीज़ों का असर किसी न किसी तरीके से उनके जीवन पर पड़ता है.

चाणक्य की किताब चाणक्य नीति में कुछ ऐसी चीजों का जिक्र किया गया है जिसे व्यक्ति को सुबह के समय बिलकुल नहीं करना चाहिए. अगर वह ये चीजें कर या देख लेता है तो उसका पूरा दिन बर्बाद जाता है. कौन सी हैं वो चीजें आईये जानते हैं.

आईना देखना

कुछ लोगों को सुबह उठते ही आईना देखने की आदत होती है. लेकिन शास्त्रों की मानें तो सुबह उठकर आईना बिलकुल नहीं देखना चाहिए. सुबह उठकर आईना देखना अशुभ माना जाता है. जो व्यक्ति ऐसा करता है उसके साथ पूरे दिन नकरात्मक चीज़ें घटती हैं. उसका पूरा दिन ख़राब जाता है. इसलिए कोशिश करें कि सुबह उठने के फ़ौरन बाद आईना न देखें. हो सके तो बिस्तर पर ही पूरे दिन की प्लानिंग कर लें.

जानवरों की लड़ाई देखना

सुबह उठकर यदि आपने बंदर या फिर किसी कुत्ते की लड़ाई देख ली तो समझ जाईये आपका पूरा दिन बर्बाद है. बंदर और कुत्ते की लड़ाई को सुबह-सुबह देखना अशुभ माना जाता है. यदि आप ऐसा करते हैं तो आप स्वयं किसी बड़े संकट को निमंत्रण देते हैं. आगे से आप जब भी ऐसा कोई नजारा देखें तो वहां से फ़ौरन हट जाएं.

किसी दूसरे का चेहरा देखना

आईना के अलावा सुबह उठने पर किसी का चेहरा भी नहीं देखना चाहिए क्योंकि आपको पता नहीं होता कि कब किसका चेहरा आपके लिए अशुभ साबित हो जाए. इसलिए हमेशा अपने दिन की शुरुवात ईष्टदेव का ध्यान करके करना चाहिए. सुबह-सुबह उठकर भगवान का दर्शन करें. ऐसे करने पर आप में सकारात्मक उर्जा का संचार होगा और आपका दिन भी अच्छा बीतेगा.

पशु या गांव का नाम लेना

कहते हैं कि यदि आपने सुबह के वक़्त नाश्ता करने से पहले किसी पशु या गांव का नाम ले लिया तो आपका पूरा दिन अच्छा नहीं जाएगा. इसलिए सुबह-सुबह किसी पशु या गांव का नाम लेने से बचें. शास्त्रों के अनुसार सुबह उठकर अपनी हथेलियों को जोड़कर देखना शुभ होता है.

पढ़ें- चाणक्य नीति: इन नियमों का करें पालन, सुख से कट जाएगा जीवन

दोस्तों, उम्मीद करते हैं कि आपको हमारा यह आर्टिकल पसंद आया होगा. पसंद आने पर लाइक और शेयर करना न भूलें.

Show More

Related Articles

Back to top button