पाकिस्तान को धूल चटाने के बाद वॉर्नर ने लूट ली पूरी महफ़िल, भीड़ में बैठे बच्चे को दी ये खास चीज़

ऑस्ट्रेलिया बनाम पाकिस्तान मैच में डेविड वॉर्नर ने शतकीय पारी खेली। डेविड वॉर्नर की शतकीय पारी की बदौलत ऑस्ट्रेलिया की टीम ने पाकिस्तान को धूल चटाने में अहम भूमिका निभाई। डेविड वॉर्नर ने न सिर्फ शतकीय पारी खेली बल्कि अपने काम से भी फैंस का दिल जीत लिया। डेविड वॉर्नर के फैंस न सिर्फ ऑस्ट्रेलिया में हैं, बल्कि पूरी दुनिया मे हैं। इसका जीता जागता उदाहरण आईपीएल है। आईपीएल में डेविड वॉर्नर ने सबसे ज्यादा रन बनाये, जिससे उनकी लोकप्रियता में चार चांद लग गए। इसी सिलसिले में डेविड वॉर्नर बुधवार को खेले गए मैच में एक अनोखा काम किया, जिसकी तारीफ पूरी दुनिया कर रही है। तो चलिए जानते हैं कि हमारे इस लेख आपके लिए क्या खास है?

पाकिस्तान के खिलाफ खेले गए मैच में वॉर्नर को मैन ऑफ द मैच चुना गया, लेकिन उन्होंने ट्रॉफी के साथ जो किया, उसकी पूरी दुनिया तारीफ कर रही है। जी हां, डेविड वॉर्नर ट्रॉफी को अपने साथ नहीं ले गए, बल्कि उन्होंने उसे अपने फैंस को दे दिया। प्रतिबंध के बाद वॉर्नर का यह सबसे अच्छा प्रदर्शन रहा, जिसके बदौलत वह टीम में एक बार फिर से पुराना विश्वास जगाने में सफल रहें। बता दें कि डेविड वॉर्नर को बॉल टेम्परिंग के दोष में टीम से बाहर कर दिया था, जिसके बाद उन्होंने अब शानदार वापसी की है।

नन्हें फैन को मैन ऑफ द मैच की ट्रॉफी दी

मैच के बाद जब डेविड वॉर्नर को ट्रॉफी मिली तो उन्होंने फैंस के बीच जाकर सेलिब्रेट किया। इसी बीच मे उन्हें एक नन्हा फैन दिखा, जिसे उन्होंने अपनी ट्रॉफी दे दी। ट्रॉफी लेने के बाद बच्चा काफी खुश दिखा, उसने खुश होकर कहा कि मैं सिर्फ ऑस्ट्रेलिया के ही झंडा लहरा रहा था। वहीं, बच्चे के पापा ने कहा कि यहाँ पाकिस्तान के फैंस ज्यादा थे, लेकिन हम सभी ने साथ मिलकर मैच का आनंद उठाया।

फैन्स के साथ ली सेल्फी

पाकिस्तान को धूल चटाने के बाद डेविड वॉर्नर का जोश हाई था। डेविड वॉर्नर अपने अपने फैंस से मिलने से खुद को रोक नहीं पाए। इसी सिलसिले में उन्होंने अपने फैंस के साथ सेल्फी ली और फिर उनसे बातचीत भी की। बता दें कि वॉर्नर के लिए बुधवार के दिन काफी खास रहा, क्योंकि जहाँ एक तरफ उन्होंने ताबड़तोड़ पारी खेली तो वहीं दूसरी तरफ ऑस्ट्रेलिया ने पाकिस्तान को करारी मात दी, जिससे उनकी खुशी साफ साफ चेहरे पर दिख रही थी।

बैन के बाद लगाया पहला शतक

पिछले साल मार्च में डेविड वॉर्नर को टीम से बाहर का रास्ता दिखाया गया था। इतना ही नहीं, वॉर्नर से कप्तानी भी छीन ली गयी थी। दरअसल, वॉर्नर की अगुवाई वाली ऑस्ट्रेलिया पर गेंद से छेड़छाड़ का आरोप सिद्ध हो गया था, जिसकी वजह से वॉर्नर और स्मिथ पर एक साल का प्रतिबंध लगाया गया था। प्रतिबंध के बाद दोनो की टीम में वापसी सीधे वर्ल्ड कप में हुई, जोकि टीम के लिए अच्छी खबर मानी जा रही है। बता दें कि टीम में वापसी के बाद डेविड वॉर्नर ने शानदार प्रदर्शन किया, जिससे ऑस्ट्रेलिया की टीम ने राहत की सांस ली है।