कहीं प्यार के नाम पर तो नहीं हो रहा आपके साथ इमोशनल अत्याचार, इन बातों से लगाएं पता प्यार में भी कई बार किसी ना किसी मोड़ पर समझौता करना पड़ता है, लेकिन इस बात को समझना जरुरी है कि कहीं आपके साथ इमोशनल ब्लैकमेलिंग तो नहीं हो रही

प्यार किया नहीं जाता हो जाता है…ये तो आपने सुना होगा औऱ प्यार के बारे में यही कहा भी जाता है। हालांकि आज के समय में अगर प्यार नो हो रहा हो तो भी लोग एक दूसरे को डेट कर परखने की कोशिश करते हैं कि क्या वो साथ में रह सकते हैं। ऐसे में कई बार शुरुआत तो काफी अच्छी होती है औऱ सभी चीजें बहुत सामान्य लगती हैं, लेकिन समय के साथ फिर ऐसा महसूस होता है जैसे एक दूसरे को झेलना मुश्किल हो गया। ऐसे में कई हार्ट ब्रेक और रोने धोने के डर से लोग एक दूसरे से सच नहीं बताते हैं और रिश्ता झेलते रहते हैं। वहीं कई बार लोग खुद समझ नहीं पाते हैं कि वो एक दूसरे के साथ खुश हैं या फिर सिर्फ परेशान हो रहे हैं। इन प्वाइटस से ये समझने की कोशिश करिए की कहीं प्यार के नाम पर आपके साथ भी इमोशनल अत्याचार तो नहीं हो रहा।

इज्जत ना करना

हर किसी को अपने इज्जत का ख्याल रहता है। ऐसे में पब्लिक प्लेस पर या कहीं भी आपका पार्टनर अपने दोस्तों या जन पहचान वाले लोगों के सामने अगर आपकी इज्जत नहीं करता है तो फिर ये आपके साथ भावनात्मक रुप से गलत हुआ। वहीं परिवार या कलीग्स के सामने भी आपका पार्टनर आपका मजाक उड़ा रहा है या उसे आपकी इज्जत की परवाह नहीं है तो इसके मतलब है कि इस रिश्ते में प्यार नहीं है।

नजरअंदाज करना

जब प्यार की शुरुआत होती है तो लोग 24 घंटे एक दूसरे के साथ रहना चाहते हैं, लेकिन बीतते समय के साथ ये चाहत कम होने लगती हैं। ऐसा महसूस होना सामान्य है, लेकिन आपका पार्टनर अगर आपको नजरअंदाज करने लगा है तो ये कहीं से भी सही नहीं है। इसे बिल्कुल भी बर्दाश्त करने की जरुरत नही होती है। अगर वो आपकी बात नहीं सुनतीं या आपकी बातों को महत्व नहीं देतीं तो उनसे दूरी  बना लें।

जबरदस्ती करना

प्यार के एहसास में कई बार दो लोग एक दूसरे के करीब आ जाते हैं। ये भी एक खूबसूरत एहसास होता है, लेकिन ये रिश्ता दोनों की इच्छा औऱ सहमति से बनना चाहिए। अगर आपकी इच्छा नहीं है और आपका पार्टनर आपसे जबरदस्ती संबंध बनाने की बात करता है या कोशिश करता है तो ये आपका शारीरिक औऱ मानसिक शोषण हैं। ऐसा किसी लड़की या लड़के दोनों के साथ हो सकता है।

इमोशनल ब्लैकमेंलिग करना

कई बार कपल्स एक दूसरे की कोई चीज पसंद नहीं करते हैं फिर भी सामने वाले के खुशी के लिए उसके साथ एडजस्ट कर लेते हैं। ये तो सही है, लेकिन अपनी हर जिद और हर बात मनवाने के लिए अगर सामने वाले आपको इमोशनल ब्लैकमेल कर रहा है तो वो गलत बात है। आप तो प्यार के नाम पर कुर्बानी दे रहे हैं, लेकिन सामने वाले को इस बात से कोई फर्क ही नहीं पड़ता है। ऐसे में इन सारी बातों का ध्यान रखें कि कही प्यार के नाम पर आपके साथ इमोशनल अत्याचार ना हो रहा हो।

यह भी पढ़ें