ममता बनर्जी ने फिर खेला सियासत, पश्चिम बंगाल में VHP को नहीं मिली रामनवमी रैली की इजाजत रामनवमी से ठीक पहले विश्व हिंदू परिषद के कार्यकर्ताओं ने रैली करने की इजाजत ले ली थी, लेकिन बाद में पुलिस द्वारा मना कर दिया

रामनवमी के पावन मौके पर पश्चिम बंगाल में एक बार फिर से विश्व हिंदू परिषद के कार्यकर्ताओं को रैली निकालने की इजाजत नहीं मिली, जिसकी वजह से देश की राजनीति गरमा गई है। रामनवमी के मौके पर रैली निकालने की परंपरा रही है, लेकिन बंगाल में पुलिस द्वारा इसकी इजाजत नहीं दी गई। पुलिस द्वारा रैली की इजाजत नहीं मिलने के बाद राम की तस्वीर के साथ भगवे झंडे के साथ स्थानीय रैली निकालने की कोशिश की, जिसे भी रोका गया। तो चलिए जानते हैं कि हमारे इस लेख में आपके लिए क्या खास है?

रामनवमी से ठीक पहले विश्व हिंदू परिषद के कार्यकर्ताओं ने रैली करने की इजाजत ले ली थी, लेकिन बाद में पुलिस द्वारा मना कर दिया। बताया जा रहा है कि पहले बंगाल की पुलिस ने सुरक्षा व्यवस्था को ध्यान में रखते हुए विश्व हिंदू परिषद के कार्यकर्ताओं को कई तरह के आदेश दिये थे, जिसे मान लिया गया था, लेकिन ऐन वक्त पर रैली नहीं निकालने दी गई। हालांकि, पुलिस का कहना है कि सुरक्षा कारणों की वजह से रैली निकालने की अनुमति नहीं दी गई है।

क्या है पूरा मामला?

रामनवमी के मौके पर विश्व हिंदू परिषद के कार्यकर्ताओं द्वारा बंगाल में रैली निकालने की योजना बनाई गई थी, जिसे पुलिस द्वारा मना कर दिया गया, जिसको लेकर आक्रोश का माहौल है। बता दें कि कार्यकर्ताओं का कहना है कि पुलिस ने हमसे कहा था कि रैली में किसी भी तरह के हथियार का इस्तेमाल नहीं किया जाना चाहिए, जिसको हमने मान भी लिया था, लेकिन बाद में बंगाल सरकार के कहने पर रैली निकालने की इजाजत नहीं दी गई, जिसकी वजह से मामला गर्मा गया है। वहीं बंगाल सरकार का कहना है कि विश्व हिंदू परिषद की रैली के पीछे बीजेपी अपना चुनावी फायदा लेना चाहती है, ताकि प्रदेश का माहौल बिगड़ जाए।

पिछले साल रामनवमी पर हुई थी हिंसा

याद दिला दें कि पिछले साल 27 मार्च को रामनवमी के दिन बंगाल में हिंसा हुई थी, जिसकी आंच पूरे देश में देखने को मिली थी। बता दें कि पिछले साल पश्चिम बंगाल के आसनसोल में रामनवमी के दिन भड़की सांप्रदायिक हिंसा की चर्चा पूरे देश में हुई थी, जिसके पीछे की वजह यही बताई जा रही थी कि रामनवमी के जूलूस में जो गाने बज रहे थे, उससे हिंसा भड़क गई थी, जिसकी वजह से इस बार फिर से रामनवमी पर रैली निकालने को लेकर सियासत गरमा गई है।

अतिसंवेदनशील है पश्चिम बंगाल

पश्चिम बंगाल काफी संवेदनशील इलाका है, जहां किसी भी समय कुछ भी होने की संभावना रहती है। ऐसे में हाल ही में सिलिगुड़ी पुलिस ने राहुल गांधी के हेलिकॉप्टर की लैंडिंग कराने से मना कर दिया था, जिसके बाद राहुल की रैली को रोक दिया गया था। हालांकि, इसके पीछे पुलिस ने सुरक्षा कारणों का हवाला दिया था, लेकिन यह साफ है कि ऐसे मौके पर बंगाल में बार बार सियासत देखने को मिलती है।