पश्चिम बंगाल में भड़की हिंसा को लेकर केंद्र सरकार ने ममता बनर्जी से मांगी रिपोर्ट

राम नवमी के मौके पर पश्चिम बंगाल में भड़की हिंसा का मामला अब बढ़ता ही जा रहा है। जी हां, राम नवमी के मौके पर दो गुटो में छिड़ी विवाद ने हिंसा का रूप ले लिया, जिसके बाद से इस मामले में विवाद बढ़ता ही जा रहा है। इस मुद्दे पर जमकर सिसायत भी हो रही है। बीजेपी बंगाल की ममता सरकार पर बड़ा आरोप लगाया है। तो चलिए जानते हैं कि पूरा मामला क्या है?

जी हां, राम नवमी के दिन जूलूस में हिंसा भड़कने से बंगाल की हालत नाजुक हो चुकी है, जिसको लेकर अब केंद्र सरकार ने बंगाल की सरकार से रिपोर्ट में मांगा है। इस मामले में केंद्र सरकार ने ममता सरकार को फटकार लगाते हुए कहा कि राज्य सरकार बंगाल की  रिपोर्ट को जल्दी ही केंद्र सरकार को दे, ताकि मामला बढ़ने से पहले ही रोक लिया जाए।

बता दें कि इन सबके अलावा केंद्र सरकार ने राज्य सरकार से कहा है कि अगर उन्हें पैरामिलिट्री फोर्स की जरूरत है, तो वह मुहैया करा सकती है, लेकिन प्रदेश की स्थिति को तुरंत ही शांत किया जाए। बता दें कि बंगाल में हिंसा फैलने की वजह से बीजेपी नेता ने ममता सरकार पर बड़ा हमला बोला है। जी हां, बीजेपी नेता ने ममता सरकार को घेरते हुए कहा कि बंगाल की ममता सरकार जिहादी है, ऐसे में अब इस मामले में सियासत भी गरमा चुकी है।

उधर बंगाल की हालत नाजुक है, तो इधर बंगाल की सीएम दिल्ली में सियासत चमकाने की कोशिश कर रही है। जी हां, ममता इन दिनों दिल्ली में थर्ड फ्रंट बनने की कोशिश कर रही है, जिसको लेकर वो विपक्षीय दलों के साथ बैठक कर रही है, लेकिन ऐसे में ममता की मुश्किले बढ़ गई, क्योंकि केंद्र सरकार ने उनसे मामले की रिपोर्ट मांग ली है।

क्या है पूरा मामला

बता दें कि रामनवमी के दिन जूलूस को लेकर बर्धमान जिले के रानीगंज में तनाव का माहौल हो गया था, जिसकी वजह से आगजनी औऱ फायरिंग भी  हुई थी, ऐसे में 2 लोगों की मौत भी हो गई थी, तो वहीं 50 से ज्यादा लोग घायल हुए थे, ऐसे में अब पुलिस ने 19 लोगों को गिरफ्तार कर लिया है। याद दिला दें कि सूबे में बीजेपी और उससे जुड़े हिंदुवादी संगठनों ने तलवार और दूसरे हथियारों के साथ रामनवमी का जुलूस निकाला गया था। इससे पहले ममता बनर्जी ने हथियार लेकर जूलूस निकालने की परमिशन पर बैन लगा दिया था, लेकिन बीजेपी ने ममता की एक बात नहीं मानी औऱ हथियार लेकर जूलूस निकालने लगे।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

error: Content is protected !!