ब्रेकिंग न्यूज़

आ गया सबसे चौकाने वाला सर्वे, यूपी में बीजेपी दोहरा पाएगी 2014 का इतिहास या चलेगा महागठबंधन

केंद्र की सत्ता पर काबिज होने के लिए तमाम पार्टियां ऐड़ी चोटी का बल लगा रही हैं। चुनावी मैदान में तमाम पार्टियों ने घोषणा पत्र जारी भी कर दिया है, जिसके ज़रिए वे सत्ता पर काबिज होने का सपना भी देख रहे हैं। जी हां, केंद्र की सत्ता पर कौन काबिज होगा, यह तो वक्त ही बताएगा, लेकिन इसको लेकर कयास लगा जा रहे हैं। इसी सिलसिले में तमाम मीडिया हाउस कई तरह के सर्वे करा कर देश का मूड जानने की कोशिश कर रहे हैं, जिसमें से आज हम आपके लिए उत्तर प्रदेश की 80 सीटों आकलन लेकर आएं हैं। तो चलिए जानते हैं कि हमारे इस लेख में आपके लिए क्या खास है?

यूपी में किसके बीच है मुकाबला?

यूं तो देश भर में तमाम पार्टियां चुनाव लड़ रही है, लेकिन उत्तर प्रदेश के बारे में कहा जाता है कि जो पार्टी यहां अपने जीत का डंका बजाती है, वही दिल्ली तक का सफर तय करती है। इसी सिलसिले में इस बार उत्तर प्रदेश में त्रिकोणीय मुकाबला देखने को मिल रहा है, जिसमें बीजेपी, कांग्रेस और महागठबंधन शामिल है। कांग्रेस फिलहाल महागठबंधन का हिस्सा नहीं है, इसलिए मुकाबला त्रिकोणीय माना जा रहा है। यूपी की 80 सीट पर इस बार जबरदस्त मुकाबला देखने को मिल सकता है।

यूपी की 80 सीटों का चुनावी सर्वे

Newstrend द्वारा कराए गए चुनावी सर्वे में इस बार यूपी की 80 सीटों पर टक्कर का मुकाबला देखने को मिल रहा है। तो पहले जानते हैं कि यूपी की 80 सीटों में किस पार्टी को चुनावी सर्वे में कितनी सीटे मिल रही है-

बीजेपी – 60

कांग्रेस- 02

महागठबंधन (सपा, बसपा और आरएलडी)- 17

अन्य- 01

महागठबंधन पर भारी पड़ेगी बीजेपी

चुनावी सर्वे के नतीजों की बात करे तो महागठबंधन पर भारतीय जनता पार्टी भारी पड़ रही है। जी हां, भारतीय जनता पार्टी यूपी की 60 सीटों पर जीत हासिल करती हुई नजर आ रही है, तो वहीं दूसरी तरफ महागठबंधन को सिर्फ 17 सीट ही मिल रही है। इसके साथ ही कांग्रेस पार्टी जोकि महागठबंधन का हिस्सा नहीं है, उसके हाथ में सिर्फ 2 सीटे आती हुई नजर आ रही है। मतलब साफ है कि कुल मिलाकर यूपी में भाजपा का पलड़ा भारी दिख रहा है।

2014 में थी मोदी लहर

बताते चलें कि 2014 के लोकसभा चुनाव में बीजेपी ने 80 में से 73 सीटे जीती थी और कांग्रेस के खाते में सिर्फ 2 सीटें ही आई थी। मतलब साफ है कि इस बार महागठबंधन की वजह से यूपी में बीजेपी को कुछ सीटों का नुकसान हो रहा है, लेकिन पलड़ा बीजेपी का ही भारी है। साथ ही अगर बात कांग्रेस की करे, तो उत्तर प्रदेश में कांग्रेस को कोई  बढ़त दिखाई नहीं दे रही है। वहीं, अपना खाता न खोल पाने वाली बीएसपी की सीट में जबरदस्त उछाल देखने को मिल रहा है। याद दिला दें कि लोकसभा चुनाव के लिए वोटिंग 11 अप्रैल से 19 मई तक होंगे और नतीजे 23 मई को आएंगे।

Back to top button