समाचार

मोदी है तो मुमकिन है! ‘इसी महीने पाकिस्तान से 4 किश्तों में रिहा होंगे भारत के 360 कैदी’

शुक्रवार को पाकिस्तान के विदेश विभाग के प्रवक्ता डॉ मोहम्मद फैसल ने बड़ा ऐलान किया। पाकिस्तान के विदेश विभाग के प्रवक्ता ने शुक्रवार को पाकिस्तान सरकार द्वारा मानवीय आधार पर लिए गए फैसले का ऐलान किया। पाकिस्तान के विदेश विभाग के प्रवक्ता का कहना है कि पाकिस्तान 360 भारतीय कैदियो को रिहा करने का फैसला किया है। जी हां, पाकिस्तान का कहना है कि वह भारतीय कैदियों को मानवीय आधार पर रिहा कर रहा है, ताकि दोनों देशों के बीच शांति का माहौल बन सके। तो चलिए जानते हैं कि हमारे इस लेख में आपके लिए क्या खास है?

पाकिस्तान के विदेश विभाग के प्रवक्ता के अनुसार, पाक की जेलों में 537 भारतीय कैदी सजा काट रहे हैं, जिसमें 483 मछुआरे हैं और इनमें से 360 भारतीय कैदियों को रिहा करने का फैसला किया गया है। पाकिस्तानी मीडिया से बातचीत करते हुए विदेश विभाग के प्रवक्ता ने यह खुलासा किया। पाकिस्तान की तरफ से जारी बयान में कहा गया है कि मानवीय आधार पर हम 360 भारतीय कैदियों को रिहा किया जाएगा, लेकिन एक साथ सभी को नहीं रिहा किया जाएगा।

किश्तों में रिहा होंगे भारतीय कैदी

पाकिस्तान ने साफ किया है कि आने वाले मंगलवार को सिर्फ 100 भारतीय मछुआरों को रिहा किया जाएगा, जिसके बाद 15 अप्रैल को दूसरे बैच के भारतीय मछुआरों को रिहा किया जाएगा। और फिर 22 अप्रैल को 100 और मछुआरों को रिहा किया जाएगा। इसके साथ ही 5 मछुआरों समेत 60 भारतीय नागरिकों के आखिरी बैच को 29 अप्रैल को छोड़ा जाएगा और इस तरह से पाकिस्तान 360 कैदियों को रिहा करेगा। बता दें कि ये सभी कैदी अपनी सजा पूरी कर चुके हैं।

सौहार्द के आधार पर भारतीय कैदियों को रिहा करने का फैसला

पाकिस्तान बार बार दावा कर रहा है कि उसने भारतीय कैदियों को रिहा करने के फैसला सौहार्द के लिए किया है, ताकि भारत और पाकिस्तान के बीच के रिश्ते में सुधार आ सके। पाकिस्तान का कहना है कि हम नहीं चाहते हैं कि भारत और पाकिस्तान के बीच आपसी तनाव बढ़े और यह कदम आपसी रिश्ते को सुधारने के लिए किया गया है। साथ ही पाकिस्तान ने कहा कि हमें दु:ख है कि भारत ने करतारपुर कॉरिडोर की मीटिंग खारिज की, लेकिन हम कोशिश करेंगे कि जल्दी यह मीटिंग हो जाए।

पुलवामा हमले के बाद बढ़ा भारत-पाकिस्तान में तनाव

14 फरवरी को जैश ए मोहम्मद द्वारा पुलवामा में सैनिकों के काफिले पर कायराना अटैक के बाद भारत और पाकिस्तान के रिश्ते में तनाव बढ़ गया था। यह तनाव तब और ज्यादा दिखने को मिला जब भारतीय वायुसेना द्वारा बालाकोट में एयर स्ट्राइक की गई। एयर स्ट्राइक के बाद भारत और पाकिस्तान के बीच युद्ध का माहौल बन गया था और इन सबके बीच विंग कमांडर अभिनंदन को पाकिस्तान ने बंधक बना लिया था, जिसे बाद में भारत के दबाव के बाद पाकिस्तान ने 60 घंटों के बाद ही छोड़ दिया था, जिसके बाद दोनों देशों में थोड़ी सी शांति देखने को मिल रही है, लेकिन कूटनीतिक तौर पर भारत लगातार पाकिस्तान पर दबाव बना रहा है।

Back to top button
?>