स्वास्थ्य

सेहत के लिए वरदान है मिट्टी के बर्तन में खाना पकाना, होते हैं ये 4 बड़े फायदे

बदलते  वक्त में कई सारी चीज़ें बदल गई है, जिसमें सबसे खास हमारा रहन सहन है। जी हां, वक्त के साथ हमारे रहन सहन में काफी बदलाव आ रहा है, जोकि आना भी चाहिए। परिवर्तन ही संसार का नियम है और इसी आधार पर हम हर परिवर्तन स्वीकार कर लेते हैं, लेकिन प्राचीन समय की कुछ चीज़ें आज भी हमारे लिए फायदेमंद होती हैं। हम मॉडर्न बनने की चाह में उसे भुलाते जा रहे हैं, लेकिन आज हम आपको एक खास चीज़ के बारे में बताने जा रहे हैं। तो चलिए जानते हैं कि हमारे इस लेख में आपके लिए क्या खास है?

दरअसल, आज हम आपको मिट्टी के बर्तन में खाना पकाने के फायदे के बारे में बताएंगे। प्राचीन समय में मिट्टी के बर्तन में खाना बनता था और लोग बड़े ही चांव से खाते भी थे, लेकिन आजकल इसका चलन बंद हो चुका है। ऐसे में यह आपको बहुत ही अटपटा लग रहा होगा, लेकिन अगर आप वाकई मिट्टी के बर्तन में बने खाने को खाएंगे, तो आपसे कई परेशानियां दूर रहेंगी, जिनके बारे में नीचे बताया गया है।

मिनरल्स और विटामिन की नहीं होती है कमी

मिट्टी के बर्तन में खाना पकाने से आपका भोजन और भी ज्यादा हैल्दी हो जाता है। जी हां, इसमें पौष्टिक तत्वों की मात्रा बढ़ जाती है, जबकि स्टील वगैरह पर पकाने से पौष्टिक तत्व गायब हो जाते हैं। ऐसे में अगर आप मिट्टी के बर्तन में पकाए गए खाने को खाएंगे, तो आपकी बॉडी में कभी भी मिनरल्स और विटामिन की कमी नहीं होगी और तो और आपका शरीर एकदम फिट रहेगा, जिसकी वजह से आपको डॉक्टर के पास भी बार बार भागने की ज़रूरत नहीं होगी।

समय की होती है बचत

जानकारों की माने तो मिट्टी के बर्तन में पकाए गए खाने से आपके समय की बचत होती है। दरअसल, मिट्टी के बर्तन में पकाया गया खाना जल्दी ठंडा नहीं होता है और ऐसे में आपको इसे बार बार गर्म भी नहीं करना पड़ता है। और आपके पौषक तत्व बरकरार रहते हैं। इसके विपरीत अगर आप किसी और बर्तन में खाना बनाते हैं, तो बार बार उसे गर्म करना पड़ता है, जिसकी वजह से उसके सारे पोषक तत्व नष्ट हो जाते हैं और फिर आप सिर्फ खाना खाते हैं, न कि पौषक तत्वों से भरपूर खाना खा पाते हैं।

कैंसर का खतरा होता है कम

 

मिट्टी के बर्तन में खाना पकाने से PH कंट्रोल रहता है। यह शरीर में एसिटिक कोशिकाओं को बढ़ने नहीं देता है और इससे व्यक्ति को कैंसर होने का खतरा कम हो जाता है। इसके अलावा कैंसर के मरीज़ों को अगर मिट्टी के बर्तन में खाना पका कर दिया जाए तो ठीक होने के चांस बढ़ जाते हैं।

भोजन होता है टेस्टी

अन्य बर्तनों की तुलना में मिट्टी के बर्तन में पकाया गया खाना बहुत ही ज्यादा टेस्टी होता है। ऐसा हम नहीं कह रहे हैं, बल्कि इस्तेमाल करने वाले लोग कहते हैं। खासकर वे जोकि कुल्हड़ की चाय पीते हैं।

Back to top button
?>