इस शख्स ने शहीद के परिवारों के लिए महज 6 दिन में इक्ट्ठे कर लिए 6 करोड़ रुपए, बस किया इतना सा काम अमेरिका में रहने वाले इस भारतीय शख्स ने 6 दिन में 6करोड़ इक्ट्ठा कर लिए

विवेक पटेल ये नाम किसी फिल्म स्टार या राजनेता के बेटे का नही है बल्कि एक आम व्यक्ति का ही नाम है, लेकिन जो काम इस शख्स ने किया है वो बहुत खास है औऱ उसे जानकर हर भारतीय को गर्व होगा। पुलवामा में हुई घटना के बाद देश में लोग आगे बढ़कर मदद कर रहे हैं तो कुछ लोग ऐसे भी हैं जो पुलवामा में हुए हमले को कुछ दिनों को शोर समझकर नजरअंदाज कर रहे है। वहीं अमेरिका में रहने वाले विवेक पटेल ने महज 6 दिनों में ही पुलवामा में शहीदों के लिए 6 करोड़ रुपए इकट्ठा कर लिए हैं। 6 करोड़ की रकम सिर्फ 6 दिन में कैसे इक्ट्ठा हुई इसकी पूरी बात हम आपको समझाते हैं।

अमेरिका में रहने वाले विवेक ने की मदद

26 साल के विवेक पटेल अमेरिका में रहते है। उन्हें जैसे ही खबर मिली की भारत में वीर जवानों के साथ 14 फरवरी को ऐसी घटना घटी है उन्होंने मदद करने की सोची। हालांकि विवेक के साथ एक मजबूरी थी और वो ये की वो अमेरिका में रहते हैं औऱ अमेरिका के कार्ड होल्डर हैं औऱ सीधे तौर पर देश के जवानों की मदद नहीं कर पा रहे थे। विवेक को कैसे भी देश की मदद करनी थी और इसके लिए उन्होंने एक आईडिया निकाला।

14 फरवरी की शाम प्यार की जगह अपने साथ नफरत के धमाके लाई थी। पुलवामा अटैक में करीब 40 जवान शहीद हो गए। इसके बाद खबर लगते ही हर कोई अपने अपने सामर्थ्य के अनुसार शहीद परिवारों की मदद में लग गया। विवेक ने शहीद परिवारों की मदद के लिए फेसबुक पर एक पेज बनाया। इस पेज का नाम दिया Indian Army-Pulwama Attack। इस पेज के जरिए उन्होंने एक कैंपन चलाया।

3 करोड़ की जगह 6 करोड़ की जमा हुई रकम

इस कैंपेन के जरिए उन्होंने 5 लाख डॉलर का लक्ष्य रखा था जो भारत के साढ़े तीन करोड़ रुपए होते हैं। लक्ष्य तो साढ़ें तीन करोड़ रुपए का था, लेकिन जब मुहीम चली तो आंकड़ा 6 करोड़ तक पहुंच गया। इस मुहीम में 22 हजार लोग जुड़ गए औऱ सभी ने आगे बढ़कर जवानों के परिवार के लिए पैसे दिए।

हालांकि शुरु में विवेक को भी मुश्किलों का सामना करना पड़ा क्योंकि लोग इसे फेक पेज बता रहे थे, लेकिन विवेक लगातार फेसबुक पर बने रहे और लोगों को बताते रहे कि ये फेक नहीं है औऱ लोग यहां पर पैसे दे सकते हैं। विवेक की आवाज को साथ मिला वर्जिनिया के एक लोकल रेडियो स्टेशन का। जब बात रेडियो पर आ गई तो लोगों को यकीन हो गया कि कुछ भी फेक नही है। साथ ही लोगों ने ये भी सवाल किया कि जो पैसे वो दे रहे हैं वो सही हाथों में कैसे दिए जाएंगे।

अब इस मामले में विवेक का एक और वीडियो सामने आया है जिसमें उन्होंने बताया है कि पैसे इक्ट्ठे हो चुके हैं, लेकिन पैसे अभी भारत नहीं पहुंच पाए हैं। उन्होंने बताया कि वो पैसे ट्रांसफर करने का इंतजार कर रहे हैं औऱ चाहते हैं कि कोई जिम्मेदार व्यक्ति इस पैसे को ले औऱ शहीद परिवार की मदद हो जाए। विवेक के इस नेक के लिए उनकी जितनी भी तारीफ की जाए वो कम है।

यह भी पढ़ें