शादी के 2 महीने बाद ही अलग हो गए थे रेखा और विनोद मेहरा, मौत के 3 साल बाद रिलीज़ हुई थी ये फिल्म

अपने ज़माने में विनोद मेहरा इंडस्ट्री के मशहूर एक्टर हुआ करते थे. विनोद मेहरा का जन्म 13 फरवरी 1945 को अमृतसर में हुआ था. विनोद मेहरा की लाइफ किसी ट्रेजेडी से कम नहीं थी. बता दें, 30 अक्टूबर साल 1990 को उन्हें दिल का दौरा पड़ा था जिस वजह से उनकी मृत्यु हो गयी. विनोद मेहरा ने 3 शादियां की थी. उनकी पहली शादी अरेंज मैरिज थी. अपनी मां की मर्जी से उन्होंने मीना ब्रोका से शादी की थी. लेकिन कुछ ही टाइम में उनका तलाक हो गया. पहली शादी के दौरान उनका अफेयर बिंदिया गोस्वामी से चला और उन्होंने बिंदिया से दूसरी शादी की. लेकिन महज 4 सालों में इनका भी तलाक हो गया. विनोद मेहरा का नाम अपने ज़माने के सबसे हैंडसम एक्टर्स में शुमार होता था. उस समय उन पर लाखों लड़कियां फ़िदा हुआ करती थीं और उन्हीं में से एक थीं बॉलीवुड अभिनेत्री रेखा. एक वक़्त ऐसा भी था जब विनोद मेहरा और रेखा एक-दूसरे के प्यार में बुरी तरह गिरफ्तार हो गए थे और उनकी शादी की अफवाहें भी उड़ी थी. लेकिन मीडिया रिपोर्ट्स की मानें तो अपनी मां की वजह से उन्हें ये रिश्ता तोड़ना पड़ा था.

विनोद मेहरा से बढ़ी नजदीकियां

ये उन दिनों की बात है जब विनोद मेहरा से रेखा की नजदीकियां बढ़ने लगी थी. बताया जाता है कि विनोद मेहरा की निज़ी ज़िंदगी डूबती नांव की तरह हो गयी थी क्योंकि उनकी पहली पत्नी मीना उन्हें छोड़ कर जा चुकी थी और दूसरी पत्नी बिंदिया गोस्वामी भी उन्हें छोड़कर मायके रह रही थी. इसी बीच रेखा से विनोद मेहरा की मुलाकात फिल्म ‘घर’ के सेट पर हुई. शूटिंग के दौरान ही दो तन्हा दिल एक-दूसरे के करीब आते गए और एक समय ऐसा आया जब दोनों ने एक होने का फैसला कर लिया. कहा जाता है कि रेखा और विनोद मेहरा ने गुपचुप तरीके से शादी भी कर ली थी. दोनों ने यह शादी कोलकाता के एक मंदिर में की थी. हालांकि दोनों की शादी का कोई पुख्ता सबूत मौजूद नहीं है.

ससुराल में चप्पलों से हुआ स्वागत

बताया जाता है कि शादी के बाद विनोद मेहरा और रेखा कुछ दिनों तक कोलकाता में ही रुके जिसके बाद विनोद रेखा को लेकर मुंबई अपने घर पहुंचे. लेकिन यहां नई नवेली दुल्हन रेखा का स्वागत आरती से नहीं बल्कि चप्पलों से किया गया. रेखा को विनोद मेहरा के साथ देखते ही उनकी मां कमला मेहरा गुस्से से आग बबूला हो गयीं. रेखा जैसे ही अपनी सास के पैर छूने के लिए आगे बढ़ीं तब आशीर्वाद देने की बजाय कमला मेहरा उन्हें चप्पलों से पीटने लगीं. रेखा को अपनी मां से पीटता देख विनोद ने बीच-बचाव किया और किसी तरह रेखा को अपनी मां के चुंगल से छुड़ाया. रेखा को ससुराल के भीतर कदम नहीं रखने दिया गया लिहाज़ा विनोद ने रेखा को उनके घर पहुंचा दिया. विनोद मेहरा ने रेखा से शादी तो कर ली लेकिन अपनी मां के खिलाफ़ जाकर रेखा को अपनाने की हिम्मत नहीं जुटा पाए. रेखा और विनोद का रिश्ता शादी में तब्दील तो हो गया लेकिन रेखा को न तो पत्नी का दर्जा मिल सका और न ही ससुराल में जगह. इसलिए शादी के महज 2 महीने बाद ही दोनों ने अलग होने का फैसला कर लिया.

किरण से की तीसरी शादी

रेखा से अलग होने के बाद उन्होंने तीसरी शादी किरण से की. किरण से उन्हें दो बच्चे हुए जिनका नाम सोनिया और रोहन है. बता दें, महज 45 साल की उम्र में विनोद ने इस दुनिया को हमेशा के लिए अलविदा कह दिया था. विनोद की मौत के बाद उनकी पत्नी किरण अपने दोनों बच्चों के साथ केन्या जाकर रहने लगी.

मौत के 3 साल बाद रिलीज़ हुई फिल्म

पर्दे पर विनोद मेहरा की जोड़ी अभिनेत्री मौसमी चटर्जी के साथ बहुत हिट थी. विनोद मेहरा ने अपने फ़िल्मी करियर में ‘अमर प्रेम’, ‘अनुरोध’, ‘अनुराग’, ‘स्वर्ग नरक’, ‘बाप’, ‘अमरदीप’, ‘नागिन’ जैसी कई फिल्मों में काम किया था. ‘गुरुदेव’ उनकी आखिरी फिल्म थी जो उनकी मौत के 3 साल बाद रिलीज़ हुई थी.

पढ़ें इन मशहूर अभिनेत्रियों के रह चुके हैं एक से ज्यादा पति, नंबर 4 के साथ हुआ था सबसे बुरा

दोस्तों, उम्मीद करते हैं कि आपको हमारा ये आर्टिकल पसंद आया होगा. पसंद आने पर लाइक और शेयर करना न भूलें.