5 फरवरी से लग चुका है पंचक, भूलकर भी न करें ये 5 काम वरना हो सकते हैं दुर्घटना के शिकार

हिंदू धर्म में कोई भी शुभ काम करने से पहले काफी सोच विचार किया जाता है। मुहूर्त का भी काफी ध्यान रखा जाता है। यदि मुहूर्त अच्छा नहीं होता है, तब लोग काम को टाल देते हैं और अच्छे मुहूर्त का इंतजार करते हैं। शास्त्रों में भी शुभ और अशुभ मुहूर्त को काफी महत्व दिया गया है और यही वजह है कि शुभ काम करने से पहले लोग पंडित से मुहूर्त ज़रूर निकलवाते हैं। मुहूर्त कई प्रकार के होते हैं, जिसमें से पंचक का भी खूब महत्व होता है। पंचक मुहूर्त के मामले अशुभ माना जाता है। तो चलिए जानते हैं कि हमारे इस लेख में आपके लिए क्या खास है?

शास्त्रों के मुताबिक, पंचक मुहूर्त में कोई भी शुभ काम नहीं किया जाता है, वरना उसका अशुभ परिणाम मिलता है। इसके अलावा इस दौरान कई कामों की मनाही भी होती है, जिसे नज़रअंदाज़ करने पर आपके साथ कोई बड़ी दुर्घटना भी हो सकती है। इसलिए आपको पंचक मुहूर्त के दौरान कुछ बातों का विशेष ध्यान रखना चाहिए। ऐसे में आज हम आपको बताएंगे कि पंचक मुहूर्त के दौरान आपको किन कामों से बचना चाहिए और क्या क्या सावधानी बरतनी चाहिए। इसके अलावा हम आपको बताएंगे कि पंचम मुहूर्त क्या होता है।

क्या होता है पंचक?

आप में से ज्यादातर लोग पंचक से भलीभांति परिचित होंगे, लेकिन कुछ लोग इसके बारे में नहीं जानते होंगे। बता दें कि पंचक 5 नक्षत्रों से मिलकर बनता है, जोकि काफी अशुभ माना जाता है। पंचक में चंद्रमा धनिष्ठा, शतभिषा, उत्तरा भाद्रपद, पूर्वा भाद्रपद और रेवती नक्षत्र से होकर गुजरता है, जिसकी वजह से इसे अशुभ माना जाता है। इस बार यह 5 फरवरी, मंगलवार की शाम 06.45 से पंचक शुरू हो चुका है, जोकि 10 फरवरी, रविवार की शाम 04.22 बजे तक रहेगा। ऐसे में आपको कुछ सावधानियां बरतनी चाहिए, जिसका ज़िक्र हम नीचे करेंगे।

पंचक के प्रकार क्या होते हैं?

ज्योतिष शास्त्र के मुताबिक, पंचक के निम्नलिखित प्रकार होते हैं और इनका अपना अलग अलग महत्व होता है, लेकिन यह हर रुप में कष्टकारी ही होता है –

1. रविवार के दिन लगने वाले पंचक को रोग पंचक कहा जाता है।

2. सोमवार के दिन लगने वाले पंचक को राज पंचक कहा जाता है।

3. मंगलवार के दिन लगने वाले पंचक को अग्नि पंचक कहा जाता है।

4. शुक्रवार के दिन लगने वाले पंचक को चोर पंचक कहा जाता है।

5. इसके अलावा शनिवार के दिन लगने वाले पंचक को मृत्यु पंचक कहा जाता है।

पंचक के दौरान भूलकर भी न करें ये काम

ज्योतिष शास्त्र के मुताबिक, किसी भी व्यक्ति को पंचक के दौरान कुछ काम भूलकर भी नहीं करने चाहिए, जिसका ज़िक्र नीचे किया गया है –

1. पंचक के दौरान किसी भी व्यक्ति को नया पलंग नहीं खरीदना चाहिए, वरना दुर्घटना हो सकती है।

2. पंचक के दौरान यदि भवन निर्माण हो रहा हो तो उसकी छत नहीं डलवानी चाहिए, वरना घर में हमेशा कलह बना रहता है।

3. पंचक के दौरान यदि किसी व्यक्ति की मौत हो जाए तो पंडित से पूछने के बाद ही उसका क्रियाक्रम करना चाहिए।

4. पंचक के दौरान दक्षिण की यात्रा करने से बचना चाहिए, क्योंकि यह दिशा यम की होती है, ऐसे में दुर्घटना हो सकती है।

5. पंचक के दौरान कोई भी शुभ काम नहीं शुरू करना चाहिए, वरना अपशकुन होता है।