पाना चाहते हैं माता सरस्वती की कृपा, तो बसंत पंचमी के दिन ये 5 काम करना न भूलें

माता सरस्वती की कृपा से ही व्यक्ति को विद्या, बुद्धि, वाणी और ज्ञान की प्राप्ति होती है। ऐसे में बसंत पंचमी के दिन अगर व्यक्ति माता सरस्वती को प्रसन्न कर लें, तो उसे विद्या, बुद्धि, वाणी और ज्ञान ज़रूर मिलता है। जी हां, बसंत पंचमी के दिन माता सरस्वती को प्रसन्न करना चाहते हैं और अपना ज्ञान, बुद्धि आदि बढ़ाना चाहते हैं तो इसके लिए हमारी इस खबर को आखिरी तक पढ़ना बिल्कुल न भूलना। बसंत पचंमी के दिन माता सरस्वती की पूजा अर्चना करके आप ये सारी चीज़े पा सकते हैं। तो चलिए जानते हैं कि हमारे इस लेख में आपके लिए क्या खास है?

बसंत पंचमी का दिन विद्यार्थियों के लिए बेहद खास होता है। इस दिन हर विद्यार्थी अपने ज्ञान, बुद्धि और वाणी को बढ़ाने के लिए माता सरस्वती की पूजा करता है। माता सरस्वती विद्यार्थियों की पूजा अर्चना से बहुत जल्दी खुश हो जाती हैं और उन्हें ये वरदान दे देती हैं। कहा जाता है कि जिसके साथ माता सरस्वती का आशीर्वाद होता है, उसके पास माता लक्ष्मी भी विराजमान होती हैं। बता दें कि बसंत पंचमी 10 फरवरी को है। ऐसे में बसंत पंचमी के दिन विद्या, बुद्धि, वाणी और ज्ञान बढ़ाने के लिए आपको हमारे द्वारा बताए जाने वाले उपायों को ज़रूर आज़माना चाहिए।

मोर का पंख रखें

 

यूं तो विद्यार्थी अपने पुस्तक में मोर का पंख रखते ही हैं, लेकिन अगर मोर का पंख बसंत पंचमी के दिन रखा जाए तो इसका बहुत ही लाभ मिलेगा। ऐसे में विद्यार्थियों को बंसत पंचमी के दिन एक मोर का पंख अपनी पुस्तक में रखना चाहिए, इससे उनके ज्ञान में बढ़ोत्तरी होगी और विद्या भी बढ़ेगी।

हथेलियों को देखें

 

यदि आप अपने ऊपर माता सरस्वती की कृपा पाना चाहते हैं, तो इसके लिए आपको बसंत पंचमी के दिन सुुबह सुबह उठकर अपनी हथेलियों को देखना चाहिए। और फिर नहा धोकर माता सरस्वती की पूजा अर्चना करनी चाहिए। ऐसा करने से माता सरस्वती बहुत खुश होती हैं और आपको आशीर्वाद भी देंगी, जिससे आपकी बौधिक क्षमता बढ़ेगी।

बच्चों को शंखपुष्पी दें

अगर आपका बच्चा पढ़ने लिखने में कमज़ोर है, तो उसे बसंत पचंमी के दिन से ही ब्राह्मी, मेघावटी, शंखपुष्पी देना शुरू करें। ऐसा करने से उसमें आपके एक अलग बदलाव देखने को मिलेगा और माता सरस्वती की कृपा से आपके बच्चे का मन पढ़ाई में लगने लगेगा और आपकी चिंता भी दूर हो जाएगी।

शहद और मोम

 

अगर किसी व्यक्ति को बोलने में दिक्कत होती है, तो उसे बसंत पंचमी के दिन एक बासुरी में थोड़ा सा शहद भरकर और मोम लगाकर जमीन के अंदर गाड़ देना चाहिए। ऐसा करने से उसी वाणी ठीक हो जाएगी और माता सरस्वती की कृपा से उसकी यह समस्या सदैव के लिए दूर हो जाएगी।

सरस्वती मंत्र का जाप करें

यदि आपको हकलाने की समस्या है, तो बसंत पंचमी के दिन आपको सरस्वती के बीज मंत्र ‘ऐं’ का जाप करना चाहिए। इसके लिए आपको अपनी जीभ तालु में लगाकर जाप करना है। ऐसा करने से आपकी यह समस्या दूर हो जाएगी।