माता-पिता के खिलाफ कोर्ट जाने की तैयारी में ये शख्स, बोला ‘बिना मेरी इजाजत मुझे पैदा कैसे किया’

कई बार छोटे बच्चे अपने माता-पिता से पूछते हैं कि आखिर हम कहां से आएं हैं? तो माता-पिता उनके सवालों का मजाक में  जवाब देते हुए कहते हैं कि तुम भगवान के घर से आए हो और भगवान ने तुम्हे भेजा है। मतलब साफ है कि बचपन में माता-पिता बच्चों को भगवान का गिफ्ट मानते हैं और उन्हें किसी भी हालत में यह नहीं पता चलने देते हैं कि आखिर उनके जन्म की सच्चाई क्या है। लेकिन अगर कोई व्यस्क व्यक्ति अपने माता-पिता से इस तरह के सवाल पूछे तो भारतीय समाज में आज भी इसे गलत माना जाता है। तो चलिए जानते हैं कि हमारे इस लेख में आपके लिए क्या खास है?

मॉर्डन जमाने में युवाओं की सोच लगातार बदल रही है और युवा आज उन मुद्दों पर भी बात करना ज़रूरी समझता है, जिसके बारे में पहले बोलना भी अपराध माना जाता था। ऐसा ही कुछ मुंबई के एक शख्स ने किया है। मुंबई के एक शख्स अपने माता-पिता के ऊपर केस करने की तैयारी में है। दरअसल, उसने अपने माता-पिता से पूछा कि आपने मुझे मेरी इच्छा के बिना पैदा ही क्यों किया? जी हां, व्यक्ति ने पूछा कि आपने पैदा करने से पहले मेरी इच्छा जानी थी? अब यह मामला पूरी तरह से फैल रहा है।

कौन है ये शख्स?

इस शख्स का नाम रफाइल सैम्यूल है। रफाइल सैम्यूल इन दिनों एक जबरदस्त आंदोलन कर रहे हैं, जोकि माता-पिता के खिलाफ है। इनका मकसद है कि खुद ही मानवता का अंत करना। जी हां, इनका मानना है कि माता-पिता समाज अपनी इज्जत और साख बनाने के लिए बेबी पैदा करते हैं और बाद में जब बेबी बड़ा होता है तो उसे सामाजिक झमेले में बिना कुछ सोचे समझे ढकेल देते हैं। रफाइल सैम्यूल एक बड़े आंदोलन के मूड में है और इन्होंने इस आंदोलन के लिए एक बड़ी फौज भी तैयार कर ली है।

बच्चों के कर्जदार हैं माता-पिता

अभी तक आपने यही सुना होगा कि बच्चे माता पिता के कर्जदार होते हैं, लेकिन रफाइल सैम्यूल का कहना है कि माता पिता को तो बच्चों का कर्जदार होना चाहिए, क्योंकि उसकी वजह से उनकी सोशल लाइफ आसान हुई है। रफाइल सैम्यूल का मानना है कि माता-पिता अपनी खुशी से बच्चे को जन्म देते हैं। बच्चे ने तो नहीं कहा कि आप उसे जन्म दो, ऐसे में फिर भी आप उसे पैदा करके सामाजिक झमेले में डाल देते हैं,  ऐसे में आपको उसका कर्जदार होना चाहिए। रफाइल सैम्यूल के कई सारे वीडियो यूट्यूब पर मौजूद है और उसे काफी लोग समर्थन भी कर रहे हैं। इस सोच का नाम एंटी नेटलिज्म रखा गया है।

‘Stop Babies Making’ मुहिम है इनका

बताते चले कि सैम्यूल के साथ जुड़े लोगों ने एक आंदोलन छेड़ दिया है, जिसका नाम ‘Stop Babies Making’ है। जी हां, ‘Stop Babies Making’ के तहत इनका कहना है कि लोग बच्चे पैदा करना बंद करें। ‘Stop Babies Making’ को लेकर ये लोग 10 फरवरी को बैंगलोर में एक आंदोलन करने जा रहे हैं। दरअसल, इनका कहना है कि कई मामलों में लोग बच्चे सिर्फ सामाजिक दबाव की वजह से पैदा करते हैं, ताकि वे खुद एक अच्छी लाइफ जी सके और लोगों को इसका जवाब न देना पड़े, लेकिन बच्चे को जन्म देने में जितना माता-पिता की सहमति ज़रूरी है, उतनी ही बच्चे की भी है।