अस्पताल के बाहर मिली थी रोती हुई लावारिस बच्ची, पुलिस जोड़े ने की ऐसे मदद जमकर हो रही है तारीफ

हैदराबाद : पुलिस का काम अपराधियो को पकड़ने का होता हैं लेकिन जब कोई पुलिस वाला कुछ गलत काम करते हुए कैमरे में पकड़ा जाता है तो वो विडियो सोशल मीडिया पर काफी वायरल हो जाती है और ऐसे ही कुछ भ्रष्ट पुलिस वालों के कारण सभी पुलिसवालों को बदनाम होना पड़ता है जो की बहुत गलत बात हैं ऐसा नही है की हमारे देश में ईमानदार और सच्चे पुलिसवाले नही हैं आज हम आपको एक पुलिसवाले के बारे में एक ऐसी खबर बताने जा रहे है जिसको पढ़कर आपके दिल में पुलिस के प्रति और भी इज्जत बढ़ जाएगी।

महिला कॉन्स्टेबल ने लावारिस बच्ची को पिलाया अपना दूध :

दरअसल हैदराबाद में एक लावारिस बच्ची की मदद करके एक पुलिस जोड़े ने सभी का दिल जीत लिया। मामला हैदराबाद के एक हॉस्पिटल का है जिसके बाहर एक शख्स को एक छोटी बच्ची दिखी जो भूख के मारे तड़प रही थी। उस छोटी बच्ची को इस हालत में देख कर उस व्यक्ति ने तुरंत उसे पुलिस स्टेशन में पहुंचाया। पुलिस स्टेशन में मौजूद पुलिस वाले ने अपनी कॉन्स्टेबल पत्नी को दूसरे थाने से अपने थाने में बुलाया और बच्ची को दूध पिलाकर मदद की। जब इस बात की खबर पुलिस कमिश्नर को लगी तो उन्होंने पुलिस जोड़े की काफी तारीफ की और उनको सम्मानित भी किया। वहीं जब यह बात सोशल मीडिया पर आई तो काफी वायरल हो गई और लोगों ने भी पुलिस जोड़े की काफी सराहना की।

खबरों के मुताबिक मोहम्मद इरफान नाम का एक युवक वहां के एक स्थानीय हस्पताल के बाहर खड़ा था तभी अचानक एक औरत एक बच्ची को गोद में लेकर आई और मोहम्मद को कहा कि थोड़ी देर बच्चे का ख्याल रखो वह अभी आती है। लेकिन काफी वक्त गुजर जाने के बाद भी वह महिला नहीं लौटी जिसके बाद वह बच्ची रोने लगी। ऐसे में मोहम्मद इरफान ने उस छोटी बच्ची को अफजलगंज पुलिस स्टेशन में पहुंचा दिया। पुलिस वालों ने बच्चे को दूध पिलाने की कोशिश की लेकिन उसने दूध नहीं पिया। जिसके बाद रविंद्र नाम के कॉन्स्टेबल ने अपनी कॉन्स्टेबल पत्नी प्रियंका को बच्ची को दूध पिलाने के लिए थाने में बुलाया। जब कॉन्स्टेबल प्रियंका ने अपनी गोद में लेकर बच्चे को दूध पिलाया तो वह रोने से चुप हो गई।

पुलिस ने तलाश कर बच्ची को मां को सौंपा :

बाद में बच्ची को पेटलबुर्ज के सरकारी अस्पताल में भर्ती कराया और पुलिस बच्ची के घर वालों की तलाश में जुट गई। पुलिस ने देर रात तक काफी तलाश की जब पुलिस को एक बच्ची खो जाने के गम में रोती हुई महिला के बारे में सूचना मिली तो पुलिस वहां पहुंची और जांच पड़ताल की। जांच में पाया कि यह बच्ची उसी महिला की है जिसके बाद पुलिस ने उस बच्ची को उसकी मां के पास सौंप दिया। इस वाक्ये के बाद पुलिस जोड़े रविंदर और प्रियंका की जमकर तारीफ हो रही है।

इस घटना से एक बात तो जरूर साबित होती है कि समाज में इंसानियत अभी भी जिंदा है। अगर आपको भी यह खबर अच्छी लगी हो तो इस पुलिस जोड़े के लिए एक शेयर तो बनता हैं।

यह भी पढ़ें : सर्दियों में बाजरे का सेवन को कहें हां, शरीर को मिलेगा जबरदस्त फायदा