राजस्थान का एग्जिट पोल : सचिन की गुगली के सामने फेल हुई महारानी की नीति, कांग्रेस को मिला मौका

राजस्थान विधानसभा चुनाव का एग्जिट पोल अब सामने आ चुका है। जी हां, एग्जिट पोल के मुताबिक, वसुंधरा से उनकी कुर्सी छिनती हुई नजर आ रही है। राजस्थान के एग्जिट पोल से जहां एक तरफ कांग्रेस में खुशी की लहर दिख रही है तो वहीं दूसरी तरफ बीजेपी खेमे में मायूसी दिख रही है। दरअसल, राजस्थान का चुनावी नतीज़ा आगामी चुनाव पर काफी ज्यादा फर्क डाल सकता है, यही वजह है कि यहां बीजेपी और कांग्रेस ने एड़ी चोटी का बल लगा दिया था। तो चलिए जानते हैं कि राजस्थान का एग्जिट पोल क्या कुछ कहता है?

मीडिया घरानो द्वारा कराए गए एग्जिट पोल के मुताबिक, राजस्थान में बीजेपी अब इतिहास रचती हुई नजर नहीं आ रही है, बल्कि कांग्रेस अपना वनवास खत्म करती हुई नजर आ रही है। हालांकि, राजस्थान का यह इतिहास रहा है कि यहां एक पार्टी लगातार दोबारा सत्ता में नहीं आती है और राजस्थान का यह इतिहास इस बार भी लागू होता हुआ नजर आ रहा है। एग्जिट पोल के मुताबिक, कांग्रेस सूबे में बहुमत के साथ सरकार बनाती हुई नजर आ रही है, जिसकी वजह से बीजेपी की मुश्किले बढ़ सकती है।

राजस्थान का एग्जिट पोल

एग्जिट पोल के मुताबिक, राजस्थान में बीजेपी को 55 से 72 सीटों पर सिमटते देखा गया है और कांग्रेस को 119 से 141 सीटों पर जीत दिखा गया है। इस हिसाब से सूबे में कांग्रेस बहुमत के साथ सरकार बनाती हुई नजर आ रही है। वहीं अगर वोट शेयरिंग की बात की जाए तो कांग्रेस के लिए 42% और बीजेपी के लिए 37% वोट का अनुमान है। बता दें कि राजस्थान में बीजेपी की तरफ से मुख्यमंत्री का चेहरा वसुंधरा राजे हैं तो वहीं कांग्रेस ने अभी घोषित नहीं किया है। इतना ही नहीं, फिलहाल बीजेपी चुनावी एग्जिट पोल को गलत ठहराने में लगी हुई है।

कैसा है सूबे का चुनावी मिजाज?

राजस्थान में विधानसभा की कुल 200 सीटें है, लेकिन चुनाव 199 सीटों पर हुए हैं। ऐसे में बहुमत के लिए 100 सीटे चाहिए होंगी। याद दिला दें कि 2013 के विधानसभा चुनावों में बीजेपी को राज्य में 163 सीटें मिलीं थीं और वसुंधरा राजे सिंधिया को मुख्यमंत्री बनाया गया था और तब कांग्रेस के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत को मुंह की खानी पड़ी थी, क्योंकि इस चुनाव में कांग्रेस को सिर्फ 21 सीटों पर ही संतोष करना पड़ा था। इस बार राजस्थान में कांग्रेस के चुनाव प्रचार की जिम्मेदारी राहुल और सचिन में अपने कंधो पर उठाया था।