छत्तीसगढ़ से बोलीं मायावती ‘बीजेपी-कांग्रेस से गठबंधन का कोई सवाल ही नहीं’

छत्तीसगढ़ विधानसभा चुनाव को लेकर तमाम राजनीतिक पार्टियां मैदान में है। छत्तीसगढ़ के पहले चरण के चुनाव के लिए वोटिंग 12 नवंबर को हो चुकी है। ऐसे में अब सभी नेता दूसरे चरण के चुनाव के लिए प्रचार कर रहे हैं। इसी सिलसिले में यूपी की पूर्व मुख्यमंत्री मायावती ने बड़ा बयान दिया है। जी हां, यूपी की पूर्व मुख्यमंत्री मायावती छत्तीसगढ़ में जोगी की अगुवाई वाली पार्टी छत्तीसगढ़ कांग्रेस के साथ गठबंधन करके चुनाव लड़ रही है। छत्तीसगढ़ के चुनावी मैदान से मायावती ने बीजेपी और कांग्रेस पर बड़ा वार किया है। तो चलिए जानते हैं कि हमारे इस लेख में आपके लिए क्या खास है?

यूपी की पूर्व मुख्यमंत्री मायावती की पार्टी छत्तीसगढ़ में जनता कांग्रेस-छत्तीसगढ़ (जे) के साथ मिलकर चुनाव लड़ रही है। इसी सिलसिले में मायावती का कहना है कि उनके गठबंधन को प्रदेश में बहुमत मिलने वाला है। यूपी की पूर्व मुख्यमंत्री मायावती ने कहा कि अगर हमारी पार्टी को बहुमत नहीं मिला तो वे बीजेपी और कांग्रेस के साथ गठबंधन नहीं करेंगी, बल्कि उनका गठबंधन विपक्ष में बैठना पसंद करेगा। इस दौरान मायावती ने बीजेपी और कांग्रेस को एक ही थाली के चट्टे बट्टे करार दिया और इन दोनों पार्टी के साथ वे कोई समझौता नहीं करना चाहती हैं।

राजनीति में किसी संभावना से नहीं किया जा सकता है इंकार

जनता कांग्रेस-छत्तीसगढ़ (जे) के प्रमुख जोगी ने गठबंधन के सवाल पर कहा कि राजनीति में किसी भी संभावना को इंकार नहीं किया जा सकता है, इसलिए अभी इस पर कुछ कहना शायद सही नहीं होगा। इसके अलावा जोगी ने कहा कि हमारी पार्टी और मायावती की पार्टी प्रदेश में पूरे बहुमत के साथ सरकार बनाएंगे, इसमें कोई दोराय नहीं है। शुक्रवार को मायावती ने जोगी के इसी बयान का जबाव देते हुए कहा कि कांग्रेस और बीजेपी सांपनाथ और नागनाथ है, जोकि आपको धीरे से डस जाएंगे, ऐसे में इनसे गठबंधन का तो सवाल ही पैदा नहीं होता है।

बताते चलें कि मायावती ने कहा कि बीएसपी-जनता कांग्रेस-छत्तीसगढ़ (जे) गरीबों, किसानों, मजदूरों, दलितों और पिछड़ों को मजबूत करने के लिये काम कर रही हैं, जबकि कांग्रेस और बीजेपी को अपना फायदा देखना होता है और इन तबकों की उन्हें कोई कद्र नहीं होती है, इसीलिए बीजेपी कांग्रेस सिर्फ सत्ता में आने का ख्वाब देखती है, न कि जनता के लिए काम करती है। याद दिला दें कि छत्तीसगढ़ के दूसरे चरण के लिए वोटिंग 20 नवंबर को होगी।